ब्रिटेन के नए शाही सदस्य को नहीं मिलेगा प्रिंस का खिताब

ब्रिटेन के नए शाही सदस्य को नहीं मिलेगा प्रिंस का खिताब
प्रिंस हैरी और मेगन मर्केल के बेटे को एक नियम के कारण प्रिंस का खिताब नहीं दिया जाएगा.

किंग जॉर्ज पंचम के बनाए एक नियम के कारण प्रिंस हैरी के बेटे को नहीं मिलेगा खिताब. साथ ही उसके ब्रिटेन का महाराज बनने की संभावना भी नहीं है.

  • Share this:
ब्रिटेन के शाही परिवार के प्रिंस हैरी की पत्नी मेगन मर्केल ने सोमवार सुबह स्वस्थ बेटे को जन्म दिया. शाही परिवार में जन्म लेने के बाद भी एक नियम के कारण इस नए सदस्य को प्रिंस का खिताब नहीं मिल सकेगा. हालांकि, उसे लॉर्ड का खिताब दिया जा सकता है. वहीं, शाही परिवार के इस नन्हे सदस्य के ब्रिटेन का महाराज बन पाने की संभावना भी नहीं दिख रही है.

ये भी पढ़ें: ब्रिटेन के शाही परिवार में गूंजीं किलकारियां, मेगन ने बेटे को दिया जन्म

दरअसल, प्रिंस विलियम और प्रिंस हैरी के परदादा किंग जॉर्ज पंचम ने 1971 में एक नियम बनाया था. इसके तहत शाही परिवार के सदस्‍यों को मिलने वाले खिताबों की संख्‍या सीमित कर दी गई थी। नियम के मुताबिक, महाराजा के बड़े बेटे के पोते के बच्‍चों को हर खिताब हासिल करने का मौका मिलेगा. दूसरे शब्दों में कहा जाए तो प्रिंस ऑफ वेल्‍स के सबसे बड़े बेटे का जीवित सबसे बड़ा बेटा ही इस खिताब का हकदार होगा. साफ है कि जब तक प्रिंस चार्ल्‍स जीवित हैं, तब तक प्रिंस हैरी के बेटे को प्रिंस का खिताब हासिल नहीं होगा.



ये भी पढ़ें: मेलिंडा गेट्स ने कहा - एक्स ब्वॉयफ्रेंड ने जो किया उसे कभी नहीं भुला सकी
माना जा रहा है कि प्रिंस हैरी और मेगन के बेटे को लॉर्ड का खिताब दिया जा सकता है. हालांकि, अगर महारानी एलिजाबेथ चाहें तो इस नियम को बदलकर शाही परिवार के नए सदस्य को प्रिंस के खिताब से नवाज सकती हैं. इसके लिए उन्हें एक पेटेंट लेटर जारी करना होगा. वर्ष 2015 में एलिजाबेथ ने प्रिंस विलियम के बेटे जॉर्ज को प्रिंस का टाइटल दिया था. इसके बाद उनकी बहन प्रिंसेज शर्ले और भाई प्रिंस लुई को भी यह उपाधि दी गई. माना जा रहा है कि प्रिंस हैरी के बेटे के मामले में भी महारानी एलिजाबेथ हस्‍तक्षेप कर सकती हैं.

शाही चमक-दमक से बेटे को दूर रखना चाहती हैं मेगन 

वहीं, यह भी माना जा रहा है कि प्रिंस हैरी और मेगन अपने बेटे के लिए हिज हाइनेस का खिताब भी स्वीकार नहीं करेंगे. दरअसल, दोनों चाहते हैं कि उनका बच्‍चा शाही चमक-दमक से दूर रहकर सामान्‍य जीवन जिए.

ये भी पढ़ें: 50 करोड़ में पीएम मोदी को जान से मारने की साजिश रच रहे थे तेज बहादुर : BJP

प्रिंस हैरी का बेटा नहीं बन पाएगा महाराज 

यह भी तय माना जा रहा है कि प्रिंस हैरी का बेटा कभी ब्रिटेन का महाराज नहीं बन पाएगा. दरअसल, वर्ष 2013 में एक नियम बदला गया था. इसके बाद से महाराज या महारानी का खिताब उम्र के आधार पर देने का फैसला किया गया. महारानी एलिजाबेथ के बाद प्रिंस चार्ल्‍स का नंबर आएगा. इसके बाद प्रिंस विलियम की बारी आएगी. विलियम के बाद उनके बच्चों का नंबर आएगा. इसके बाद हैरी का नंबर आएगा, जो इस श्रृंखला में छठे नंबर पर हैं. प्रिंस हैरी का सोमवार को जन्मा बेटा खिताब की दौड़ में सातवें नंबर पर है.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज