होम /न्यूज /नॉलेज /Modi@8: पीएम मोदी की 5 फ्लैगशिप योजनाएं, जिन्होंने किया कायापलट

Modi@8: पीएम मोदी की 5 फ्लैगशिप योजनाएं, जिन्होंने किया कायापलट

पीएम नरेंद्री मोदी सरकार की वो योजनाएं, जिन्होंने बदलीं देश की तस्वीर. (फाइल फोटो)

पीएम नरेंद्री मोदी सरकार की वो योजनाएं, जिन्होंने बदलीं देश की तस्वीर. (फाइल फोटो)

26 मई को पीएम नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली एनडीए सरकार को 08 साल पूरे हो जाएंगे. जानते हैं कि इस दौरान मोदी सरकार की वो ...अधिक पढ़ें

पीएम मोदी नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली नेशनल डेमोक्रेटिक एलायंस सत्ता में 26 मई को 08 साल पूरा करने वाला है. प्रधानमंत्री मोदी इस समय को देश में संतुलित विकास, सामाजिक न्याय और सामाजिक सुरक्षा का दौर मानते हैं. उन्होंने इन 08 सालों को भरपूर उपलब्धियों वाला और गुड गर्वनेंस वाला माना है, जिसमें गरीबों के कल्याण के लिए खूब काम हुए.

इन 08 सालों में नरेंद्र मोदी सरकार ने कई योजनाओं के जरिए समाज को वित्तीय, स्वास्थ्य और सामाजिक क्षेत्र में सुरक्षा देने की कोशिश की. जानते हैं कि ये 05 प्रमुख योजनाएं क्या थीं जिन्होंने कायापलट करने का काम किया.

1. आयुष्मान भारत

प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (PM-JAY) यानि आयुष्मान भारत योजना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सितंबर 2018 में लांच की थी, जो हेल्थ केयर में सरकार की ऐसी योजना है, जिसे दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य योजना भी माना जाता है. इस योजना के तहत 10.74 करोड़ गरीबों और वंचित परिवारों को प्रति परिवार 05 लाख रुपए का हेल्थ कवर दिया जाता है. इससे देश की 40 फीसदी आबादी लाभान्वित हो रही है.

2. उज्जवला योजना

ये योजना वर्ष 2016 में लांच की गई. इस योजना को प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के नाम से भी जानते हैं. इससे लाखों परिवारों को मुफ्त में एलपीजी कुकिंग सिलिंडर दिए गए. ये कोशिश बहुत सफल रही. इससे 08 करोड़ भारतीय परिवारों को फायदा हुआ. इन परिवारों के घर जब एलपीजी सिलिंडर पहुंचा तो वो हानिकारक लकड़ी चूल्हे की जगह हेल्दी ईंधन का इस्तेमाल करने लायक हुईं.

वर्ष 2016 में ही इस योजना के तहत सरकार ने गरीबी रेखा के नीचे जीवन बिताने वाली 05 करोड़ महिलाओं को लाभ देने का लक्ष्य रखा. फिर इस योजना को अप्रैल 2018 में और विस्तार दिया गया. इसके लाभर्थियों में 07 और कैटेगरी की अनुसूचित जाति और जनजाती और वन घूमंतु महिलाओं को भी शामिल किया गया.

अगस्त 2019 में इस लक्ष्य को 08 करोड़ लोगों तक पहुंचाने का काम किया गया, जो अगस्त 2019 में पूरा हो गया. बीजेपी की वर्ष 2019 में लोकसभा चुनावों में हुई अभूतपूर्व जीत में इस योजना का बड़ा लाभ मिला. बाद में इस योजना ने उत्तर प्रदेश के हालिया विधानसभा चुनावों में जीत की पताका बीजेपी के पक्ष में फहराने का काम किया.

पिछले साल अगस्त में प्रधानमंत्री ने उज्जवला 2.0 योजना उत्तर प्रदेश में शुरू की. इसके तहत भी एक करोड़ अतिरिक्त कनेक्शन अल्प आय वाले लोगों तक पहुंचाए गए.

03. जन धन योजना

प्रधानमंत्री जन धन योजना (PMJDY) एक राष्ट्रीय मिशन है, जिसके जरिए वित्तीय फायदा लाभार्थियों के बैंक खाते तक सीधे पहुंचाया जाता है. इस योजना की घोषणा नरेंद्र मोदी ने 15 अगस्त 2014 को लाल किले से स्वतंत्रता दिवस पर की थी. ये सरकार की ऐसी योजना है जिसमें लोगों को कई सेवाओं के तहत वित्तीय लाभ खाते तक पहुंचाते हैं.

इस योजना में लोगों के खातों में छात्रवृत्तियां, सब्सिडी, पेंशन और कोविड रिलीफ फंड को जन धन खातों में सीधे भेजा गया. इस साल 09 जनवरी तक जनधन योजना के तहत खोले गए खातों ने 1.5 लाख करोड़ के मार्क को छू लिया. वित्त मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार इन खातों में 44.23 करोड़ रुपए संतुलित है.

04. कृषि सम्मान निधि

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (PM-KISAN) योजना के तहत हर साल किसान परिवारों को 6,000 रुपए का वित्तीय लाभ दिया जाता है. ये रकम 2,000 रुपए तीन किश्तों में सीधे उनके बैंक खातों में पहुंचाई जाती है.

इस साल 01 जनवरी तक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 20,900 करोड़ रुपए की राशि रिलीज कर चुके हैं, जिसका फायदा 10.09 करोड़ किसानों को पूरे देश में हुआ. इस योजना के तहत किसानों को 10 किश्तें मिल चुकी हैं.

मौजूदा किश्त जारी होने के बाद अब तक किसानों को इस योजना के तहत कुल 1.8 लाख करोड़ रुपए दिए जा चुके हैं. पीएम किसान योजना की घोषणा फरवरी 2019 में बजट में की गई थी. दिसंबर 2018 से मार्च 2019 की अवधि के लिए पहली किश्त किसानों को दी गई.

5. बीमा और पेंशन योजना

प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना (PMJJBY) और प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना (PMSBY) को 2015 में लांच किया गया था ताकि सामान्य आबादी खासकर गरीबों और वंचितों को इंश्योरेंस कवर के तहत लाया जाय.

जीवन ज्योति बीमा योजना के तहत 02 लाख रुपए का इंश्योरेंस कवर दिया गया जबकि सुरक्षा बीमा योजना में निधन या पूर्ण अपंगता पर 02 लाख रुपए और आशिंक अपंगता पर 01 लाख रुपए कवर दिया गया.

इंश्योरेंस कंपनियों द्वारा जो डाटा उपलब्ध कराया गया, उसके बारे में सरकार ने दिसंबर 2021 में संसद में जानकारी भी दी गई. इसके तहत अक्टूबर 2021 त पहली योजना में 10,258 करोड़ रुपए के 5,12,915 दावे किए गए जबकि दूसरी सुरक्षा बीमा योजना में 1797 करोड़ के 92,266 दावे किए गए.

Tags: Ayushman Bharat, Jan Dhan Yojana, Kisan samman nidhi, Modi government, Narendra modi

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें