Home /News /knowledge /

पृथ्वी के इतिहास की सबसे खतरनाक जगह: जानिए कैसे जानवर रहते थे यहां

पृथ्वी के इतिहास की सबसे खतरनाक जगह: जानिए कैसे जानवर रहते थे यहां

डायनासोर की एक प्रजाति के बारे पहले कहा गया था कि उनमें मादा नर से भारी होती हैं.

डायनासोर की एक प्रजाति के बारे पहले कहा गया था कि उनमें मादा नर से भारी होती हैं.

आज से 10 करोड़ साल पहले पृथ्वी (Earth) पर डायनासोर (Dinosaurs) जैसे कई खतरनाक जानवरों से भरपूर जगह की खोज की गई है इसे पृथ्वी की अब तक की सबसे खतरनाक जगह माना जा रहा है.

नई दिल्ली: वैज्ञानिक ही नहीं आम लोगों के लिए भी डायनासोर (Diansours) हमेशा से ही खास रुचि का विषय रहे हैं. आज से लाखों करोड़ों साल पहले जीवन कैसा होता था. तब धरती पर किस तरह के जीव रहते थे. यह जीवाश्म विज्ञानियों (Paleontologists) का पसंदीदा शोध विषय रहा है. शोधकर्ताओं ने अब वह क्षेत्र पता लगाने में सफलता पाई है जो आज से 10 करोड़ साल पहले सबसे खतरनाक इलाका था.

कभी नहीं हुआ है इंसान और डायनसोर का सामना
बेशक डायनासोर के जमाने में इंसान नहीं थे और अब वे पूरी तरह से खत्म हो चुके हैं. इंसान और डायनासोर के बीच केवल फिल्मों या कहानियों में ही कुछ होता दिखता है. लेकिन यह भी सच है शिकारी डायनासोर उस जमाने में भी बहुत खतरनाक थे. अब शोधकर्ताओं अफ्रीका में वह इलाका ढूंढा है जहां इस तरह के जानवरों की भरमार थी.

खतरनाक जानवर घूमते थे तब धरती पर
10 करोड़ साल पहले धरती इंसानों के रहने लायक जगह नहीं थी.  उस जमाने में धरती पर विशालकाय सरीसर्प (Reptiles) रेंगा करते थे लेकिन कुछ इलाके  खास तौर पर बहुत ही खतरनाक थे जहां उनमें उड़ने वाले शिकारी सरीसर्प और मगरमच्छ जैसे शिकारी घूमा करते थे.

Dinosaurs
आज से साढ़े छह करोड़ साल पहले डायनासोर विलुप्त हो गए थे. प्रतीकात्मक तस्वीर


कहा पाया गया यह इलाका
स्पूतनिकन्यूज की खबर के अनुसार पार्ट्समाउथ यूविवर्सिटी में हुए शोध में जीवाश्म विज्ञानियों की एक टीम ने  अफ्रीका के सहारा मरुस्थल में जीवाश्मों का अध्ययन किया. इस इलाके को केमकेम ग्रुप कहा जाता है. यह दक्षिण पूर्वी मोरक्को में क्रिटेशियस चट्टानों वाला इलाका है.

वैज्ञानिकों ने मान पृथ्वी इतिहास की सबसे खतरनाक जगह
वैज्ञानिकों के अनुसार यह पृथ्वी की सबसे खतरनाक जगहों थी. इसकी वजह थी यहां पाए जाने वाले जंगली शिकारी जानवरों की बहुतायत. शोध के प्रमुख लेखक डेट्रॉइट मर्सी यूनिवर्सिटी के बायोलॉजी के एसिस्टेंट प्रोफेसर डॉ नाजिर इब्राहिम के मुताबिक, “यह हमारे ग्रह के इतिहास की सबसे खतरनाक जगह थी. इस जगह पर अगर इंसान समय की यात्रा कर पहुंच भी गया तो ज्यादा देर जिंदा नहीं बच पाएगा.”

कैसे जानवर पाए जाते थे यहां
शोध में बताया गया कि यह इलाका तब एक बहुत बड़ा नदी क्षेत्र हुआ करता था. इसमें जलीय और स्थलीय जीवों की भरमार थी. इनमें कुछ विशालकाय शिकारी डायनासोर जिसमें 8 इंच लंबे नुकीले दातों वाले कारकारोडोन्टोसोरस,और 8 मीटर लंबे रेप्टर परिवार के डेल्टाड्रोमेस भी शामिल थे. इसके अलावा वहां पर उड़ने वाले सरीसृप यानि पिटरोसॉरस मगरमच्छ जैसे शिकारी भी थे.

Earth
पृथ्वी पर डायनोसोर ने 17 करोड़ साल तक राज किया था.




बहुत बड़ी नदी क्षेत्र था यहां
यह जगह तब बहुत सी मछलियों से भरी थी जिसमें बहुत बड़ी सियोलेकैंथ और लंगफिश शामिल थीं. सियोलेकैंथ तब आज की सियोलेकेंथ से चार या पांच गुना तक बड़ी हुआ करती थीं. इनके अलावा खतरना ओन्कोप्रिसटिस जैसे नुकीले दातों वाली शार्क भी पाई जाती थीं.

शोध बताता है अफ्रीका का समृध जैव इतिहास
शोधकर्ताओं का मानना है कि यह अध्ययन इस क्षेत्र का पिछले सौ सालों में इस तरह के जीवाश्मों का अब तक का सबसे वृहद शोध है. यह शोध अफ्रीका के पिछले जीवन पर खासी रोशनी डालेगा. अफ्रीका हमेशा से ही जैवविविधता बहुत इलाका रहा है. इस समय वहां  रेगिस्तान, घने जंगल, ऊंची घास के मैदान सभी तरह की जलवायु देखने को मिल जाती है. लेकिन इस क्षेत्र का इतिहास भी कम समृद्ध नहीं रहा है.

साढ़े छह करोड़ साल पहले विलुप्त हो गए थे डायनासोर
 डायनासोर और उनसे सबंधित सभी प्रजातियां आज से करीब छह करोड़ 50 लाख साल पहले दुनिया से खत्म हो गए थे. उस समय एक बड़ा उल्का पिंड अमेरिका के पास मैक्सिको पर यह उल्कापिंड गिरा था. इसके प्रभाव से डायनासोर की सभी प्रजातियां पृथ्वी से विलुप्त हो गई थीं. वैज्ञानिक इस कारण पर एकमत नहीं हैं.लेकिन उनके विलुप्त होने के समय पर वे एकमत हैं.  डायनासोर आज से 24 करोड़ साल पहले पृथ्वी पर सबसे पहले दिखना शुरू हुए थे.

यह भी पढ़ें:

वैज्ञानिकों को मिला एक Hot Jupiter, दूसरी पृथ्वी खोजने में होगा सहायक

कब से खिसक रही हैं टेक्टोनिक प्लेट, शोधकर्ताओं को मिला इस अहम सवाल का जवाब

वैज्ञानिकों ने पहली बार देखा दो अलग ब्लैकहोल का विलय, जानिए क्यों है यह खास

अंतरिक्ष में गायब हो गया एक ग्रह, जानिए वैज्ञानिकों ने कैसे सुलझाई ये पहेली

Satellite को फिर से जीवन देता है यह मिशन, जानिए कैसे होता है यह मुमकिन

Tags: Earth, Research, Science

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर