Home /News /knowledge /

अमिताभ के साथ की ये फिल्म साबित हुई ऋषि के फिल्मी करियर का बड़ा टर्निंग प्वाइंट

अमिताभ के साथ की ये फिल्म साबित हुई ऋषि के फिल्मी करियर का बड़ा टर्निंग प्वाइंट

फिल्म अमर अकबर एंथोनी में कव्वाल बने ऋषि कपूर

फिल्म अमर अकबर एंथोनी में कव्वाल बने ऋषि कपूर

ऋषि कपूर (Rishi Kapoor) बड़े कलाकार थे. जब बॉबी फिल्म के बाद उन्हें रोमांटिक फिल्मों के लिए टाइप्ड माना जाने लगा था और फिल्में बहुत सफल नहीं हो पा रही थीं तब अमर अकबर एंथोनी ने ना केवल उन्हें बड़ा टर्निंग प्वाइंट दिया बल्कि ये भी साबित किया कि वो डिफरेंट शेड्स वाले अभिनेता हैं

अधिक पढ़ें ...
हिट फिल्म "बॉबी" देने के बाद ऋषि कपूर (Rishi Kapoor) रोमांटिक फिल्मों के लिए टाइप्ड माने जाने लगे थे. एक समय ऐसा भी आया कि जब उनके पास ना तो बहुत ज्यादा वैसी फिल्में थीं और ना उनकी मूवीज हिट हो रही थीं. उसी समय उन्होंने "अमर अकबर एंथोनी" में जिस तरह एक नए अवतार में एंट्री मारी तो अपने बारे में सारी राय ही बदल दी. ये फिल्म उनकी फिल्मी करियर का सबसे बड़ा टर्निंग प्वाइंट साबित हुई.

मनमोहन देसाई ने 1975 के आसपास "अमर अकबर एंथोनी" फिल्म की प्लानिंग शुरू की. उसमें उन्होंने विनोद खन्ना, अमिताभ बच्चन और ऋषि कपूर को कास्ट किया. विनोद और अमिताभ तब तक बड़े स्टार बन चुके थे. उसकी तुलना में ऋषि उन दिनों "बॉबी" जैसी हिट फिल्म देने के बाद भी जूझ रहे थे. जब मनमोहन देसाई ने उन्हें कव्वाल अकबर इलाहाबादी का रोल दिया तो फिल्म जगत में ही लोगों को हैरानी हुई.

ऋषि के रोल को लेकर देसाई खुद कुछ असमंजस में थे
मनमोहन देसाई खुद भी ऋषि कपूर को इस रोल में लेने को लेकर बहुत आश्वस्त नहीं थे लेकिन उन्हें उम्मीद थी कि वो ऋषि को एक अलग तरह के किरदार में फिट करके दिखा ही देंगे. उन्होंने ऐसा किया भी. जब फिल्म रिलीज हुई तो जिसने भी कव्वाल अकबर इलाहाबादी को महफिलों में एक अलग अंदाज में देखा, वो उनका दीवाना हो गया.

अकबर बने ऋषि हमेशा याद रहेंगे
"अमर अकबर एंथोनी" अपने जमाने की सुपर हिट फिल्म थी. मनमोहन देसाई ने इसे 15.5 करोड़ की लागत से बनाया था. फिर इसे 1977 में रिलीज किया था. इस फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर कमाल कर दिया था. जिसने भी ये मूवी देखी होगी, उसने कव्वाल के तौर पर शायद ही कभी अकबर बने ऋषि कपूर के रोल को भुलाया हो. जो एक हाथ में रूमाल बांधे और दूसरा हाथ कान पर लगाकर कव्वालों के खास अंदाज में रंग जमाता है. इस कव्वाल ऋषि कपूर को लोगों ने बहुत पसंद किया.

उस जमाने में आजकल की तरह मल्टीप्लेक्स नहीं होते थे. शहर में कुछ चुनिंदा सिनेमा हाल होते थे. उनकी खिड़कियों पर अमर अकबर एंथोनी के लिए लंबी लाइनें टिकट लेने के लिए लगती थीं. टिकट खूब ब्लैक भी हुए थे. ये वो जमाना भी था जब जमाने में एक अलग तरह के भाईचारे की खुशबू बहा करती थी.

तब कव्वाली देश में बहुत लोकप्रिय भी थी
जिस दौर में मनमोहन देसाई की ये फिल्म आई, उस दौर में कव्वाली देश में बहुत हिट और पसंदीदा हुआ करती थी. लिहाजा जब ऋषि ने अपने खास अंदाज में इसे निभाया तो लोगों को लग गया कि वो एक बहुत बड़े कलाकार हैं. बाद में ऋषि कपूर ने लगातार इसको दिखाया भी.

नीतू सिंह के साथ अफेयर की भी चर्चाएं थीं
"अमर अकबर एंथोनी" में वो नीतू सिंह के साथ थे. नीतू के साथ उनका अफेयर उन दिनों हवा में उड़ रहा था. हालांकि चर्चाएं भी थीं कि उनके पिता राजकपूर को नीतू बहुत ज्यादा पसंद नहीं हैं. लेकिन ये सही है कि पर्दे पर नीतू और ऋषि की केमिस्ट्री को लोगों ने हमेशा बहुत पसंद किया.

मनमोहन देसाई की इस फिल्म में भाइयों के मिलने बिछुड़ने के मसाले तो थे ही साथ ही उनकी हीरोइन भी इस अंदाज में उनके अपोजिट ली गईं थीं कि लोग उन जोड़ियों को पसंद करें. अगर ये फिल्म सुपर हिट हुई तो इसका कारण भी यही था कि लोगों ने इसे खूब पसंद किया.

ऋषि कपूर और अमिताभ का साथ भी पसंद आया
फिल्म में खासतौर पर लोगों को एक बात और बहुत पसंद आई, वो थी ऋषि कपूर और अमिताभ बच्चन का साथ, जिसे फिर 70 के दशक के आखिर की फिल्मों और 80 के दशक में खूब आजमाया गया और ये कांबिनेशन लगातार बेहतर रिजल्ट देता रहा.

फिर तो कई डिफरेंट रोल करते चले गए
ऋषि ने अपने जीवन में इतने डिफरेंट तरीके के रोल किए कि बेहिचक कहा जा सकता है कि वो बहुत बड़े कलाकार थे. अपनी दूसरी पारी में तो उन्होंने अपने अंदर के बड़े कलाकार का रंग ही जमा दिया. लेकिन इसकी शुरुआत अमर अकबर एंथोनी से ही हुई थी, जो उनके जीवन का बड़ा टर्निंग प्वाइंट बनी थी.

ये भी पढ़ें :-

वैज्ञानिकों ने पहली बार देखा दो अलग ब्लैकहोल का विलय, जानिए क्यों है यह खास
कोरोना से बचाने के लिए पुरुषों को क्यों दिया जा रहा है महिलाओं का सेक्स हार्मोन
इस अमेरिकी महिला सैनिक को माना जा रहा कोरोना का पहला मरीज, मिल रही हत्या की धमकियां
उत्तर कोरिया में किम जोंग के वो चाचा कौन हैं, जो सत्ता का नया केंद्र बनकर उभरे हैं

Tags: Bollywood, Bollywood movies 2020, Rishi kapoor

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर