लाइव टीवी

सबसे अमीर शहर के कोने में है गरीब नगर, इंदिरा गांधी से है रिश्ता

News18Hindi
Updated: October 18, 2019, 3:25 PM IST
सबसे अमीर शहर के कोने में है गरीब नगर, इंदिरा गांधी से है रिश्ता
गरीब नगर

देश के सबसे अमीर शहर के एक इलाके का नाम गरीब नगर (Garib Nagar) है. इस इलाके की दिलचस्प कहानी जानिए...

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 18, 2019, 3:25 PM IST
  • Share this:
अक्सर अटपटे नाम हमारा ध्यान अपनी ओर खींचते हैं. उस पर अगर नाम रखने का दिलचस्प किस्सा हो तो क्या कहने. क्या आप सोच सकते हैं कि किसी इलाके का नाम गरीब नगर (Garib Nagar) भी हो सकता है. वो भी उस शहर में जो देश का सबसे चमकता-दमकता, ग्लैमर से भरपूर, वैभव और विलासितापूर्ण हो. हैरत की बात है कि देश के सबसे अमीर शहर के एक कोने में गरीब नगर भी दुबका पड़ा है. इस गरीब नगर के बनने और संवरने की दिलचस्प कहानी है.

मुंबई (Mumbai) में विक्रोली (Vikhroli) झोपड़बस्ती के एक इलाके का नाम गरीब नगर है. हर बार चुनावों में इस बस्ती का नाम चर्चा में आता है. अपने नाम की वजह से मशहूर ये इलाका सच में गरीब है. हर बार चुनावों के दौरान इस इलाके के लोग अपनी तकदीर बदलने के लिए वोट करते हैं लेकिन साल दर साल बीत जाने के बाद भी इनके हालात नहीं बदले हैं.

पहले बस्ती का नाम था- गरीबी हटाओ नगर

इस इलाके के रहने वाले लोग बताते हैं कि पहले बस्ती का नाम गरीबी हटाओ नगर था. जिसे बाद में बदलकर गरीब नगर कर दिया गया. नब्बे के दशक में इस बस्ती का नाम बदलकर गरीब नगर किया गया. यहां के लोग कहते हैं कि उन्हें लगता था कि कम से कम नाम की वजह से उनकी बस्ती चर्चा में आएगी और उस इलाके के नेता उनका कल्याण करेंगे. लेकिन ढाई दशक बीत जाने के बाद भी हालात नहीं बदले हैं.

मुंबई के इस इलाके में अभी भी नालियां जाम रहती हैं, स्वच्छता अभियान के बावजूद शौचालय नहीं दिखते और हर तरफ गदंगी पसरी दिखती है. गरीबी ने गरीब नगर का रास्ता कभी नहीं छोड़ा. आज भी यहां-वहां पसरी दिख जाती है.

mumbai vikhroli garib nagar interesting story how indira gandhi established garibi hatav nagar
गरीब नगर का इलाका


इलाके के लोग बताते हैं कि हर चुनाव में उन्हें आस दी जाती है कि उनके हालात बदलने वाले हैं. वो चमकती आंखों से अपने वक्त बदलने का इंतजार करते हैं. लेकिन चुनाव के बाद उन्हें कोई याद भी नहीं रखता.
Loading...

हर चुनाव में गरीब नगर को अमीर बनाने का वादा

विक्रोली से शिवसेना ने सुनील राउत को उतारा है. कुछ दिनों पहले उनके समर्थन में बीजेपी कार्यकर्ता आए थे. लेकिन जैसे आए थे, वैसे ही चले गए क्योंकि चुनावी वादे कभी पूरे किए गए ही नहीं.

सरकारी दस्तावेजों में अभी तक इस इलाके का नाम गरीबी हटाओ नगर है. लेकिन लोग अपने एड्रेस में इसका नाम गरीब नगर लिखने लगे हैं. मुंबई के कई झोपड़पट्टी वाली बस्तियों का विकास हुआ है. लेकिन गरीब नगर की किस्मत अब तक नहीं बदली है.

कैसे पड़ा इस इलाके का नाम गरीब नगर?

इस इलाके का नाम गरीब नगर पड़ने के पीछे एक दिलचस्प कहानी है. आईआईटी बॉम्बे से सिर्फ 500 मीटर दूर इस इलाके को 1982 में बसाया गया. इंदिरा गांधी ने 1971 के लोकसभा चुनाव में गरीबी हटाओ का नारा दिया था. इंदिर गांधी के नारे का जबरदस्त असर हुआ था. पूरे देश के गरीब उनके नारे के समर्थन में एकजुट हुए थे. केंद्र सरकार में इंदिरा गांधी की मजबूत सरकार बनी थी.

mumbai vikhroli garib nagar interesting story how indira gandhi established garibi hatav nagar
गरीब नगर बस्ती


चुनावों के दौरान ही आईआईटी बॉम्बे के नजदीक इस इलाके में इंदिरा गांधी आई थीं. उन्होंने इस इलाके में बड़ी जनसभा की थी. यहां भी उन्होंने अपने उसी गरीबी हटाओ नारे को दोहराया था. कहा जाता है कि उसी वक्त उन्होंने वहां मौजूद कुछ नौजवानों को बस्ती का नाम गरीबी हटाओ नगर रखने का सुझाव दिया था.

उसके बाद इस बस्ती का नाम गरीबी हटाओ नगर कर दिया गया. 1982 में आधिकारिक तौर पर बस्ती का नाम गरीबी हटाओ नगर कर दिया गया. बाद में इलाके के लोगों ने गरीबी हटाओ नगर को बदलकर गरीब नगर कर दिया.

गरीब नगर के 1971 वाले हालात आज तक नहीं बदले

गरीब नगर के लोग बताते हैं कि अभी भी यहां जीने की बुनियादी सुविधाओं का अभाव है. पानी की पाइप लाइने हैं लेकिन वो ब्रिटिश काल की है. उनका कभी इस्तेमाल नहीं हुआ.

2009 में इस इलाके को स्लम रिहैबलिटिशेन अथॉरिटी के अंतर्गत लाया गया ताकि इसका विकास हो सके. लेकिन उसके बाद भी विकास की बूंद यहां नहीं पहुंची है. गरीब नगर बस्ती में करीब 450 मकान हैं, जिसमें दो हजार लोग रहते हैं. 1971 में गरीबी हटाओ नारे के साथ इस बस्ती का निर्माण हुआ था. बस्ती से आने वाले नेता अमीर होते गए, लेकिन यहां के हालात ऐसे कभी नहीं हुए कि कम से कम नाम ही बदल लें.

ये भी पढ़ें: इंदिरा सरकार में चीफ जस्टिस की नियुक्ति में हुआ था विवाद, जानें कैसे बनते हैं मुख्य न्यायाधीश
पाकिस्तान ब्लैक लिस्ट हुआ तो उसका कितना बुरा हाल होगा?
ग्लोबल हंगर इंडेक्स में पाकिस्तान और नेपाल से भी पीछे क्यों है भारत
क्या होता है वक्फ बोर्ड, राममंदिर से कैसे जुड़ा है इसका मसला

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नॉलेज से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 18, 2019, 3:25 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...