लगभग 2 साल लंबी चलती है हथिनी की प्रेग्नेंसी, जानिए क्या है इसके पीछे का रहस्य!

लगभग 2 साल लंबी चलती है हथिनी की प्रेग्नेंसी, जानिए क्या है इसके पीछे का रहस्य!
हाथियाों में गर्भावस्था सबसे लंबी होती है लेकिन फिर इसके बारे में वैज्ञानिकों को पूरी तरह से हाल ही में पता चला. (प्रतीकात्मक फोटो)

हाथियों (Elephant) की गर्भावस्था (Pregnancy) बहुत लंबी होती है. इस बारे में वैज्ञानिकों को कम जानकारी थी, लेकिन अब वे इस मामले में काफी कुछ जान गए हैं.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
नई दिल्ली: हाल ही में केरल (Kerala) में एक हथिनी (Female Elephant) की मौत खूब चर्चा में रही. इस हथिनी ने ऐसा अनानास (Pineapple) खा लिया था जिसमें बड़ी मात्रा में पटाखे (Crackers) भरे थे.  इसके खाने के बाद इस गर्भवती हथिनी के मुंह में ही विस्फोट हो गया था और वह तीन दिन तक तड़पते रहने के बाद अंततः मर गई. इस घटना ने लोगों के हाथियों के प्रति संवेदनशीलता को बढ़ा दिया है. इसी बीच हथिनियों के बारे में वैज्ञानिकों ने एक और गुत्थी को सुलझाया है. उन्होंने हथिनियों में लंबी प्रेग्नेन्सी के रहस्य का पता लगा लिया है.

सबसे लंबी गर्भावस्था, फिर भी एक रहस्य
हथिनी के गर्भ में उसका बच्चा लगभग दो साल तक रहता है. यह किसी भी जानवर के बच्चे का अपनी मां की कोख में पलने का सबसे ज्यादा समय है. प्रीसिडिंग्स ऑफ द रॉयल सोसाइटी बी में प्रकाशित शोध में वैज्ञानिकों को हथिनियों के गर्भ के बारे में अहम जानकारियां मिली हैं. शोधकर्ताओं को उम्मीद है कि इससे चिड़ियाघरों में हथिनियों  के प्रजनन कार्यक्रम को बहुत मदद मिल सकेगी. इस सिलसिले में शोधकर्ताओं को यह भी उम्मीद है कि अब अफ्रीका में हाथियों की जनसंख्या पर काबू पाने के लिए गर्भनिरोधक उपाय अपनाए जा सकेंगे.

लंबी गर्भावस्था का महत्व



हाथी बहुत ही सामाजिक स्तनपायी जीव हैं जो बहुत ही बुद्धिमान होते हैं. इनमें 680 दिन का गर्भधारण का समय होता है जो दुनिया में किसी भी जानवर के मुकाबले सबसे ज्यादा होता है. पैदा होते ही हाथियों में उन्नत मस्तिष्क होता है. इसका उपयोग वे अपने समूह के सामाजिक स्वरूप को समझने में लगाते हैं. अभी तक हथिनियों में इतने लंबे गर्भावस्था के समय के पीछे का जैवविज्ञान अब तक समझा नहीं जा सका था. विकसित अल्ट्रॉसाउंड तकनीकों के आने से वेटनरी वैज्ञानीकों को एक ऐसे उपकरण मिल गए जिससे उन्हें हथिनियों  की गर्भावस्था को विस्तार से जानने का मौका मिला.



Elephant
27 मार्च को केरल में प्रेग्नेंट हथिनी की विस्फोटक अनानास खाने से मौत हो गई थी.


 

किन हाथियों पर किया गया अध्ययन
इस शोध में ब्रिटेन, कनाडा, अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया और जर्मनी के चिड़ियाघरों में रखे गए अफ्रीका और एशिया के 17 हाथियों का अध्ययन किया गया. इस अध्ययन से पता चला है कि हाथियों में अंडोत्सर्ग (Ovulation) का एक खास चक्र होता है. शोधकर्ता डॉ ल्यूडर्स का कहना है कि हथिनियों  में इतनी लंबी गर्भावस्था की वजह हार्मोन की प्रक्रिया है जो किसी भी जानवर की प्रजाति में नहीं होता है. इस अध्ययन से चिड़ियाघरों और जंगल दोनों में रहने वाले हाथियों को फायदा होगा.

केवल यही समस्या नहीं है हाथियों में
शोधकर्ताओं का कहना है कि बात केवल यही नहीं है कि हथिनियों में 22 महीने का गर्भावस्था का समय काफी लंबा होता है. इसके अलावा दो बच्चों की पैदाइश के बीच का समय भी बहुत ज्यादा होता है जो चार से पांच साल का होता है. इससे हाथियों की पीढ़ियों में काफी अंतर आ जाता है. इससे हाथियों की ही कई प्रजातियों में विलुप्त होने का खतरा भी बढ़ता है.

elephant
हाथियों की वजह से जंगल के पास गांवों में रहने वाले लोगों को बहुत परेशानी होती है.


जंगल के पास रहने वाले गांववालों की मुसीबत
हाथियों की कई प्रजातियां जंगल के पास रहने वाले हाथियों के लिए खतरा होती हैं क्योंकि वे झुण्ड में आकर गांवों को तबाह कर देते हैं. भारत में ऐसा छत्तीसगढ़ और बंगाल जैसे कई राज्यों में होता है. वहीं हाथियों की कई प्रजातियां विलुप्त होने की कगार पर हैं लेकिन कुछ इलाकों में हाथियों की बढ़ती आबादी से उनकी आबादी को नियंत्रित करने की भी मांग की जा रही है.  यह शोध ऐसे इलाकों के लिए भी उपयोगी हो सकता है.

यह भी पढ़ें:

2.3 करोड़ सालों में सबसे ज्यादा CO2 का स्तर है आज, जानिए क्या है इसका मतलब

मच्छरों पर भी हो रहा है ग्लोबल वार्मिंग का असर, जानिए क्या हो रहा है बदलाव

लंबे समय से सुलझ नहीं रहा था न्यूट्रान तारे का एक रहस्य, मिला एक नया पदार्थ

Space और Covid-19 के असर में क्या है समानता, बहुत सीखने को है हमारे लिए

2 Asteroid के नमूने लेकर लौटेंगे 2 अंतरिक्ष यान, रोचक है इनका इतिहास
First published: June 5, 2020, 2:03 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading