खगोलविदों ने देखा अजूबा, प्रकाश से भी तेज गति से पदार्थ फेंक रहा है ब्लैक होल

खगोलविदों ने देखा अजूबा, प्रकाश से भी तेज गति से पदार्थ फेंक रहा है ब्लैक होल
ब्लैक होल प्रकाश की गति से भी ज्यााद तेज गति से पदार्थ फेंकता दिखाई देता है.

नासा (NASA) के खगोलविदों ने कुछ समय पहले के आंकड़ों से पता किया कि एक ब्लैक होल (Black Hole) बहुत ही ज्यादा तेज गति से पदार्थ फेंक रहा है.

  • Share this:
नई दिल्ली: अंतरिक्ष में कई घटनाएं हमको चौंका देती हैं. कुछ भ्रम तक पैदा कर देती हैं और विज्ञान के नियमों को चुनौती देती लगती है. इसी तरह की एक घटना हुई है जिसमें नासा (NASA) के खगलोविदों ने पाया कि एक  ब्लैकहोल (Black Hole) बहुत ही गर्म पदार्थ को प्रकाश से भी तेज गति से उत्सर्जित (Emit) कर रहा है.

चंद्रा ऑबजर्वेटरी के आंकड़ों का किया था अध्ययन
नासा के वैज्ञानिकों ने चंद्रा ऑबजर्वेटरी के जरिए इस घटना का अवलोकन किया. शोधकर्ताओं ने पाया कि ब्लैकहोल इन पदार्थों को प्रकाश की गति से 80 प्रतिशत से भी ज्यादा गति से फेंक रहा है. इस तरह का बर्ताव इससे पहले किसी ब्लैक होल में नहीं देखा गया. अनुमान है कि इस ब्लैक होल का भार हमारे सूर्य के भार से लगभग 80 गुना ज्यादा है.

कैसे फेंका जा रहा है पदार्थ



आधिकारिक जानकारी के मुताबिक यह ब्लैक जो पृथ्वी से कम से कम 10 हजार प्रकाश वर्ष दूर हमारी आकाशगंगा (Galaxy) मिल्की वे में स्थिति है. खगोलविदों ने ब्लैक होल को एक MAXI 1820 +070 तारे के पास देखा है. यह ब्लैकहोल इस तारे के साथ जेट की तरह पदार्थ फेंक रहा है. ये जेट विपरीत दिशा में हैं और अंतरिक्ष में स्थित मैग्नेटिक फील्ड रेखाओं के साथ ही जा रही हैं.



पृथ्वी की ओर आता दिख रहा है पदार्थ
खगोलविदों में यह भी बताया है कि उनका यह नया अवलोकन ब्लैक होल के पूर्व अध्ययनों पर आधारित है. ये जेट ब्लैक होल से दूर पृथ्वी की ओर उत्तर और दक्षिण दिशा में जा रहे हैं और उनकी गति क्रमश: प्रकाश की गति की 60 और 160 प्रतिशत है.


कब के आंकड़े हैं ये
इस शोध में कहा गया है कि ये जेट विपरीत दिशा में जा रहे हैं और मैग्नेटिक फील्ड लाइन्स की दिशा में हैं. चंद्रा ऑबजरवेटरी के नवंबर 2018 और फरवरी, मई और जून 2019 के अवलोकन में जमा किए गए आंकड़ों के आधार पर यह जानकारी हासिल की गई है. इसे यूनिवर्सिटे डि पेरिस के मैथिल्डे ऐस्पिनासे के शोधपत्र में रिपोर्ट किया गया है.

एक खास किस्म की परिघटना है ये
शोधकर्ताओं ने कहा कि जो ब्लैक होल से सामग्री का बाहर निकलना, सुपरन्यूमिनल मोशन (Superluminal Motion) का उदाहरण है. यह परिघटना तब होती है जब कोई चीज पृथ्वी की ओर प्रकाश की गति से आती है और इसकी दिशा हमारी 'लाइन ऑफ साइट' के करीब हो. नासा के मुताबिक इससे यह भ्रम होता है कि यह प्रकाश से भी तेज गति से आ रहा है.

क्या होता है ऐसे हाल में
यह परिघटना तब होती है जब कोई चीज हमारी ओर प्रकाश की गति के समकक्ष हमारी लाइन ऑफ साइट की नजदीकी दिशा से आ रही हो. इसका मतलब यह होता है कि इसमें वस्तु प्रकाश की गति जितनी तेजी से ही हमारी ओर आती दिखती है, लेकिन इससे यह भ्रम हो जाता है कि कि जेट की गति प्रकाश की गति से भी तेज है.

Black hole
ब्लैकहोल वैज्ञानिकों के लिए हमेशा से ही चुनौती रहे हैं.


अभी तक यही माना जाता है कि स्पेस में कोई भी पदार्थ (Matter) प्रकाश की गति से अधिक गति से नहीं चल सकता है. प्रकाश की गति से भी ज्यादा होने का भ्रम इस तरह की घटनाएं देती हैं जैसा कि ब्लैक होल से पदार्थ निकलने से हो रहा है.

यह भी पढ़ें:

NASA के रोवर उपकरण को मिला है शेरलॉक होम्स का नाम, सीवी रमन से भी है इसका नाता

सूर्य के निकटतम तारे के पास पृथ्वी जैसे ग्रह की हुई पुष्टि, जानिए क्यों है खास

दो गैलेक्सी के टकराने से शुरू हुई थी हमारे सौरमंडल के बनने की प्रक्रिया

हम सभी में छिपा है एक जीनियस, क्या सक्रिय किया जा सकता है उसे?

क्या है मंगल का वह खास नक्शा जो बताता है कि वहां का वायुमडंल कैसे हुआ खाली
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading