COVID-19 से निपटने में मदद करने के लिए आगे आया NASA, यह करेगा काम

COVID-19 से निपटने में मदद करने के लिए आगे आया NASA, यह करेगा काम
नासा मंगल पर इंसान भेजने की तैयारी कर रहा है.

कोविड-19 (Covid-19) के तेजी से फैलने के कारण चिकित्सकीय उपकरणों की कमी हो गई है. इसके लिए नासा ने आगे आकर मदद कर रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 19, 2020, 1:14 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली:  दुनिया भर में कोविड-19 (Covid-19) महामारी तेजी से फैल कर बेकाबू हो रही है. इस संकट को हल करने के लिए अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा (NASA) आगे आई है. नासा ने इस महामारी से निपटने के लिए मेडिकल उपकरणों की कमी से निपटने के लिए कदम बढ़ाया है.

कैसे मदद करेगा नासा
एजेंसी ने कैलीफोर्निया में एक टास्क फोर्स से जुड़कर चिकित्सकीय उपकरणों के निर्माण में मदद करने का फैसला किया जिससे संक्रमित मरीजों को सहायता मिल सके. इस बीमारी से दुनिया में जहां 23 लाख से ज्यादा तो वहीं अमेरिका में सात लाख से ज्यादा लोक संक्रमित हो चुके हैं.

वैंटीलेटर्स की खासी कमी हो गई है



गौरतलब है कि कोविड-19 के तेजी से फैलने के कारण अमेरिका जैसे देश में भी वेंटीलेटर्स जैसे चिकित्सकीय उपकरणों की कमी हो रही है. नासा ने शुक्रवार को कहा कि वह आर्मस्ट्रॉन्ग फ्लाइट रिसर्च सेंटर ने एटेलोप वैली हॉस्पिटल, वर्जिन गैलेक्टिक, स्पेसशिप कंपनी और एंटोलोप वैली कॉलेज के साथ मिलकर भविष्य में होने वाली चिकित्सकीय उरकरणों की कमी से निपटने की तैयारी करेगी.



Physicians speculate- putting coronavirus infected patients on ventilator may cause harm
वेंटिलेंटर पर बड़ी संख्या में कोरोना वायरस के मरीजों के मरने की घटनाएं सामने आई


खास ऑक्सीजन मास्क बनाएगा नासा
इन प्रयासों में सहसे पहले एक एक प्रोटोटाइप ऑक्सीजन मास्क बनाया जाना शामिल है जो अस्पतालों में डॉकटरों के लिए उपयोगी होगा. नासा के मुताबिक वह अगले सप्ताह तक कैलीफोर्निया के मोजेव में  टीएससी की फेथ फैसिलिटी में 500 ऐसे उपकरण बनाएगा.

नासा ने खुद किया है विकसित
यह ऑक्सीजन टोपा या चोंगा नासा इंजीनियर माइक बटिगैग ने विकसित किया है. यह उन कोविड-19 मरीजों के काम आएगा जिनमें बीमारी के मामूली लक्षण पाए जाएंगे. इससे मरीजों में वेंटीलेटर्स की जरूररत कम हो सकेगी.

कैसे काम करेगा यह उपकरण
ऑक्सीजन हूड एक कंटीन्यूअस पॉजीटिव एरवे प्रैशर (CPAP) मशीन की तरह काम करेगी जो मरीज के कमजोर हो चुके फेफडों में जोर से ऑक्सीजन डालने का काम करेगी. यह तब ज्यादा काम आएगी जब मरीज के फेफड़ों को सांस लेने में परेशानी हो रही है यानि मरीज के फेफड़ों तक ऑक्सीजन पहुंचने में परेशानी हो रही हो.

what is the condition of ventilator in delhi. aiims, rml, lnjp, gb pant hospitals in Delhi, What is a ventilator, coronavirus, why is ventilator necessary for coronavirus patients, how ventilator works, production of ventilators, covid 19, वेंटिलेटर क्या है, कोरोना वायरस, कोरोना वायरस मरीजों के लिए वेंटिलेटर क्यों जरूरी, वेंटिलेटर कैसे काम करता है, क्या देश में वेंटिलेटर कम हैं, वेंटिलटेर का उत्पादन, एम्स, अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान दिल्ली, एम्स ट्रामा सेंट्रर, एलएनजेपी, जीबी पंत, जीबीटीबी अस्पताल, दिल्ली सरकार के अस्पताल, भारत सरकार के अस्पताल दिल्ली में,
मरीज खुद से सांस नहीं ले सकते तो इस स्थिति में उन्हें वेंटिलेटर की जरूरत होती है.


वेंटीलेटर्स की कमी से ही हो गई हैं बहुत सी मौतें
बताया जा रहा है कि इस बीमारी के तेजी से फैलने से बहुत सारी मौतें वेंटीलेटर्स की कमी के कारण भी हुई हैं. जहां दुनिया में अब तक एक लाख 60 हजार से ज्यादा लोग मारे जा चुके हैं तो वहीं अकेले अमेरिका में ही 39 हजार से ज्यादा मौतें हो चुकी हैं.

स्वास्थ्य कर्मचारियों के लिए कैनोपी
इसके अलावा नासा के इंजीनियर एलन पार्कर आर्मस्ट्रान्ग स्थित उनकी टीम ने एक कैनोपी डिजाइन किया है. यह कैनोपी स्वास्थ्य कर्मचारियों को सुरक्षा में काम आगा जो कोविड-19 मरीजों के लिए काम करेंगे. इससे वे मरीजों की देखभाल बेहतर और बेखौफ कर सकेंगे.

कैसे करेगा यह कैनोपी काम
पार्कर ने बताया कि कैनोपी के अंदर मौजूद मरीजों को रखा जाएगा जहां उनसे हवा में आए संक्रमण के कणों को कैनोपी में ही स्थित एक वायरल फिल्टर की मदद से हटा दिया जाएगा. ऐसाकरने से कैनोपी में काम करने वाले लोग मरीजों के साथ और कैनोपी के बाहर बेखौफ काम कर सकेंगे.

यह भी पढ़ें:

जानिए क्या है BCG, क्यों हो रही है इसकी कोरोना वारयस के लिए चर्चा

Covid-19 काबू होने तक UK में प्रकाशित नहीं होगी वैज्ञानिक सलाह, कई लोग नाराज

धरती पर महाविनाश लाने वाले Climate change की वजह ने वैज्ञानिकों को किया चिंतित

नासा ने जारी की विशेष तस्वीरें, दे रहीं हैं सूर्य के कोरोना के दुर्लभ जानकारी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading