क्या है Nonhost प्रतिरोध, जिससे एक बीमारी दूसरी प्रजातियों पर होती है बेअसर

नॉन होस्ट प्रतिरोध (Nonhost Resistance) पर शोध भविष्य में इंसानी (Human) बीमारियों और महामारियों से निपटने में मददगार हो सकता है.(प्रतीकात्मक तस्वीर: Pixabay)

नॉन होस्ट प्रतिरोध (Nonhost Resistance) पर शोध भविष्य में इंसानी (Human) बीमारियों और महामारियों से निपटने में मददगार हो सकता है.(प्रतीकात्मक तस्वीर: Pixabay)

कोविड-19 (Covid-19) बीमारी का इलाज पिछले एक साल से खोजा जा रहा है जो सभी जीवों (Organisms) को नहीं होती है. ऐसे में Non Host प्रतिरोध को लेकर कृषि (Agriculture) संबंधी पौधों (Plants) पर शोध हो रहे हैं. आगे ऐसे शोध इंसानों पर भी हो सकते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 2, 2021, 2:56 PM IST
  • Share this:

पिछले एक साल से पूरी दुनिया के लोग कोविड-19 (Covid-19) से जूझ रही है. लेकिन ऐसा नहीं है कि महामारी (Pandemic) केवल इंसानों में ही आती हैं. पेड़ पौधों की प्रजातियां भी इसका शिकार होती हैं और इसका गहरा असर हमारी फसलों पर होता है. कई बार देखा जाता है कि एक जीव की महामारी दूसरे जीवों पर बेअसर होती है. वैज्ञानिक इस नॉन होस्ट प्रतिरोध (Nonhost Resistance) पर शोध कर रहे हैं . फिलहाल ऐसा शोध कृषि पौधों के स्तर पर चल रहा है और इंसानों के स्तर पर पहुंचना अभी दूर की कौड़ी है. लेकिन फिर भी कृषि के क्षेत्र में वैज्ञानिक नतीजों की भी उम्मीद कर रहे हैं.

पौधों में दिखता है सबसे ज्यादा Non Host प्रतिरोध

कृषि के क्षेत्र में पिछले कई सालों से लोग इस बात से हैरान हैं एक रोगाजनक (Pathogen) आलू की फसल में तो महामारी जैसा असर दिखाता है, लेकिन वहीं उसका सेब या खीरे के पौधों पर कोई असर नहीं होता है. कृषि वैज्ञानिकों की हैरानी इस बात पर भी है कि यदि यह प्रतिरोध इतना संपूर्ण है और कई पीढ़ियों से बना रहता है, तो क्या कोई तरीका भी है कि इसे गेहूं जैसे अतिसंवेदनशील पौधों में स्थानांतरित किया जा सके और इस तरह बीमारी को रोका जा सके.

क्या होता है नॉनहोस्ट प्रतिरोध
नॉनहोस्ट प्रतिरोध पोधों की प्रजातियों में वह क्षमता होती है जिससे वह रोगाणु प्रजातियों के उन तमाम प्रयासों को नाकाम कर देती है जिससे वे इन पौधों में अपनी संख्या बढ़ाकर पनप सकें. इस क्षमता को कृषि के क्षेत्र में बहुत अधिक उपयोगी माना जाता है. तमाम प्रयासों के बाद भी आणविक स्तर पर पौधों का इस तरह के प्रतिरोध पर ज्यादा नतीजे नहीं निकल सके हैं.

, Agriculture, Plant, Non host Resistance, Covid-19, Immunity, Crop Immunity, Crop, Pathogens, Pathogen Resistance
शोधकर्ता फसलों (Crop) को बीमारियों से बचाने के लिए नॉनहोस्ट प्रतिरोध (Nonhost Resistance) पर गहन शोध कर रहे हैं. (प्रतीकात्मक तस्वीर: Pixabay)

पौधों से काफी उम्मीदें



ऐसे बहुत सी मिसाल हैं जिसमें पौधे एक रोगजनक के प्रति संवेदनशील तो रहे, लेकिन उसके नजदीकी रोगजनक के लिए ज्यादा प्रतिरोध दिखाते पाए गए. इस प्रतिरोध की प्रक्रिया को समझ कर हमें पौधों के प्रतिरोध सिस्टम कके बारे में बहुत सारी जानकारी मिल सकती है. इससे वैज्ञानिकों को रोगजनकों को बारे में और ज्यादा जानकारी मिल सकती है.

कोरोना से जंग ने लोगों की विज्ञान में जगाई दिलचस्पी

नॉनहोस्ट प्रतिरोध पर ध्यान

वैसे तो कृषि विशेषज्ञ फसलों पर लगने वाली बीमारियों से निपटने के लिए कई उपाय विकसित करते रहे हैं, लेकिन हाल ही में नॉनहोस्ट प्रतिरोध पर ध्यान ज्यादा जाने लगा है. यूके के नॉर्विच में सैन्सबरी लैबोरेटरी में वैज्ञानिक मैथ्यू मॉस्कोऊ कहते हैं कि नॉनहोस्ट प्रतिरोध पौधों में रोगजनकों से निपटने के नए तरीके सुझा सकता है. इसमें प्रकृति द्वारा पहले से मौजूद तरीके भी मदद करते हैं.

Agriculture, Plant, Non host Resistance, Covid-19, Immunity, Crop Immunity, Crop, Pathogens, Pathogen Resistance,
नॉनहोस्ट प्रतिरोध (Nonhost Resistance) पौधों में बहुत कारगर तकनीक साबित हो सकती है. (प्रतीकात्मक तस्वीर: Pixabay)

अभी काफी काम बाकी

फिलहाल नॉनहोस्ट प्रतिरोध के बारे में काफी कुछ जानना बाकी है. हालिया तकनीकी विकास इस दिशा में काफी उम्मीदें जगा रहा है. इसमें डीएनए सीक्वेंसिंग पद्धतियां शामिल हैं. इन तकनीकों से हमें इस मामले में बेहतर समझ विकसित करने में सहायता मिलेगी. वैज्ञानिक रोगाणु रहित पौधे विकसित करने की दिशा में काफी प्रयास कर रहे हैं.

जानिए क्या है स्मेलीकॉप्टर, जिसमें एक कीड़े के शरीर का हिस्सा होता है इस्तेमाल

Nonhost प्रतिरोध इंसानों से कितनी दूर

इंसान दुनिया के सबसे जटिल जानवरों में से एक है. वैसे तो किसी बीमारी की ट्रायल इंसानों की प्रतिरोधक क्षमता के नजदीकी प्रजातियों जैसे बंदरों, चूहों आदि में होता है.  किसी भी भी बीमारी का जानवरों पर किया गया ट्रायल का संबंध इस प्रतिरोध से भी होता है. वहीं कोविड-19 के मामले में कोरोना वायरस चमगादड़ों में महामारी नहीं होता है, इस पर भी शोध चल ही रहा है. शायद आने वाले समय में नॉन होस्ट प्रतिरोध इंसानी रोगों से निपटने के कारगर तरीके खोजने में मददगार साबित हो सके.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज