लाइव टीवी

Coronavirus: किसी सोसायटी या इलाके में पॉजिटिव केस मिलने पर ऐसे डील कर रहा है प्रशासन

News18Hindi
Updated: March 28, 2020, 1:07 PM IST
Coronavirus: किसी सोसायटी या इलाके में पॉजिटिव केस मिलने पर ऐसे डील कर रहा है प्रशासन
किसी सोसायटी, अस्‍पताल या इलाके में कोरोना वायरस संक्रमित व्‍यक्ति मिलते ही प्रशासन कई कदम उठा रहा है.

कोरोना वायरस (Coronavirus) को फैलने से रोकने के लिए देश के सभी जिलों का प्रशासन मुस्‍तैदी के साथ जुटा हुआ है. अगर किसी सोसायटी, अस्‍पताल या इलाके में पॉजिटिव केस मिल रहा है तो प्रशासन चार चरण (4 Stages) में कार्रवाई कर रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 28, 2020, 1:07 PM IST
  • Share this:
कोरोना वायरस (Coronavirus) ने पूरी दुनिया में खौफ का माहौल बना दिया है. अब तक पूरी दुनिया में 5,97,458 लोग इस वायरस की चपेट में आ चुके हैं. इनमें 27,370 लोगों की मौत हो चुकी है. भारत में भी लगातार संक्रमितों (Coronavirus in India) की संख्‍या बढती जा रही है. अब तक देश में 873 लोग संक्रमित हो चुके हैं, जिनमें 19 लोगों की मौत हो चुकी है. इस समय प्रशासन पूरी मुस्‍तैदी के साथ जुटा हुआ है. अगर किसी हाउसिंग सोसायटी या इलाके में कोरोना का पॉजिटिव केस मिल रहा है तो प्रशासन चार चरण (4 Stages) में कार्रवाई कर रहा है.

संक्रमित व्‍यक्ति को अस्‍पताल पहुंचाने के बाद सबसे पहले उस सोसायटी या इलाके को सील किया जा रहा है. इसके बाद उसे सैनेटाइज (Sanitize) किया जा रहा है. फिर सोसायटी में रहने वाले सभी लोगों को क्‍वारंटीन (Quarantine) कर जांच की जा रही है. इसके बाद लोगों की अलग-अलग तरीकों से निगरानी की जा रही है.

इस शहर की सीमाएं ही कर दी गईं सील, 7 लाख लोगों की स्‍क्रीनिंग जारी
राजस्‍थान में अब तक 50 संक्रमितों की पहचान हो चुकी है. अकेले भीलवाड़ा में ही 21 कोरोना पॉजिटिव केस मिले हैं. भीलवाड़ा में कर्फ्यू लगा दिया गया है और जिले की सीमाएं सील की जा चुकी हैं. लोगों को घरों में रहने का आदेश दे दिया गया है. भीलवाड़ा के एक निजी अस्पताल में 21 मार्च को तीन डॉक्टरों और तीन नर्सिंग स्टाफ में संक्रमण पाया गया था. इसके बाद अस्पताल को सील कर दिया गया था. इन मामलों के बाद अगले 24 घंटे में फिर पांच नए कोरोना संक्रमित शख्स मिले.



इसके बाद डॉक्टर्स ने जिन 5,000 मरीजों को चेक किया था, उनकी सूची बनाई गई. फिर उन लोगों को तलाश कर उनकी जांच की जा रही है. भीलवाड़ा के एमजी अस्पताल में 28 संदिग्धों को आइसोलेशन (Isolation) में रखा गया. राजस्थान स्वास्थ्य विभाग की 300 मेडिकल टीमें घर-घर जाकर लोगों की जांच कर रही हैं. ये टीमें शहर के 4.5 लाख लोगों के साथ ही आसपास के कस्‍बों औरर बड़े गांवों को मिलाकर 7 लाख लोगों की स्क्रीनिंग करेंगी.



राजस्‍थान के भीलवाड़ा में कर्फ्यू लगाकर लोगों की घर-घर जाकर जांच की जा रही है. जगह-जगह पुु‍लिस नियम तोड़नेे वालों को सबक सिखा रही है.


दिलली से सटे नोएडा में सोसायटीज को सील कर सैनेटाइज किया जा रहा है
दिल्ली से सटे नोएडा में संक्रमितों की संख्या लगातार बढ़ रही है. नोएडा के सेक्टर-137 की हाउसिंग सोसायटी में 24 मार्च को संक्रमित व्यक्ति मिलने के बाद जिला प्रशासन ने सोसायटी को सैनेटाइज करने के लिए सील कर दिया. सोसायटी को 27 मार्च तक बंद रखा गया. इस दौरान सोसायटी से लोगों का बाहर निकलना और बाहर के लोगों का अंदर आना पूरी तरह प्रतिबंधित रखा गया. ग्रेटर नोएडा वेस्ट की ग्रीन शायर सोयायटी में 22 मार्च को 2 कोरोना मरीजों की पहचान हुई. दोनों को ग्रेटर नोएडा के GIMS में आइसोलेसन के लिए भेज दिया गया. इस सोसायटी को अस्थायी तौर पर सील कर दिया गया. इससे पहले नोएडा के सेक्टर-74 में सुपरटेक कैपटाउन सोसायटी में एक कोरोना मरीज मिलने के बाद उसे सील कर सैनेटाइज किया गया. जिला प्रशासन, स्वास्थ्य विभाग और पुलिस मौके पर पहुंची. सोसायटी में रहने वाले 3,800 लोगों को आइसोलेट किया गया.

पुणे से लगे 28 गांव किए क्‍वारंटीन, जीपीएस की मदद से की गई स्‍कैनिंग
महाराष्ट्र में कोरोना वायरस संक्रमितों के मामले तेजी से बढ़े हैं. महाराष्‍ट्र में 27 मार्च को एक दिन में 17 नए मरीज सामने आए. इनमें सांगली के इस्लामपुर में एक ही परिवार के 12 सदस्य शामिल हैं. पुणे में 11 मार्च को कोरोना का पहला मरीज मिला था. सबसे पहले पति-पत्नी को भर्ती किया गया. इसके बाद उनके संपर्क में आए सभी लोगों की क्‍वारंटीन कर जांच की गई. उन्‍हें मुंबई से पुणे लेकर गए ओला ड्राइवर की भी निगरानी की गई. इनमें भी पॉजिटिव निकले लोगों के संपर्क में आए लोग ढूंढे गए. जीपीएस की मदद से पूरे इलाके को स्कैन किया गया. घर-घर सर्वे किया गया. मरीजों की पहचान कर क्‍वारंटीन किया गया.

पुणे की जुन्नर तहसील में 20 हजार लोग क्‍वारंटीन किए गए. यहां के लोगों का मुंबई-पुणे काफी आना-जाना है. पुणे की एक आंगनवाड़ी वर्कर के पॉजिटिव मिलने पर 28 गांव क्‍वारंटीन कर दिए गए. उसकी बस इन गांवों से होकर गुजरी थी यानी इन गांवों के किसी न किसी व्‍यक्ति ने उसके साथ बस में यात्रा की थी. ये कुछ उदाहरण हैं कि प्रशासन किसी सोसायटी, गांव, कस्‍बे, शहर या इलाके में कोरोना पॉजिटिव मरीज पाए जाने पर क्‍या कर रहा है.

ये भी देखें:

Coronavirus: घबराएं नहीं! भारत में संक्रमितों के बचने की उम्‍मीद है 97.8%

अच्‍छी खबर: कोरोना वायरस में नहीं हो रहा म्‍यूटेशन, दवा या वैक्‍सीन बनने पर लंबे समय तक होगी कारगर

Coronavirus: अफवाहों से रहें दूर, अखबार को छूने से नहीं फैलता संक्रमण

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नॉलेज से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 28, 2020, 12:25 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading