देश का हर 8वां डॉक्टर इस राज्य से, यहां के हालात नॉर्वे-स्वीडेन से भी बेहतर

सदन में चर्चा के दौरान पता चला कि अक्सर डॉक्टरों की कमी पर चिंता जाहिर की जाती रही है. लेकिन असलियत ये है कि कई राज्यों में वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन के तय किए मानदंडों से भी ज्यादा संख्या में डॉक्टर हैं. तमिलनाडु ऐसा ही राज्य है.

News18Hindi
Updated: July 13, 2019, 4:42 PM IST
देश का हर 8वां डॉक्टर इस राज्य से, यहां के हालात नॉर्वे-स्वीडेन से भी बेहतर
प्रतीकात्मक तस्वीर
News18Hindi
Updated: July 13, 2019, 4:42 PM IST
क्या आप जानते हैं कि देश का हर आठवां डॉक्टर तमिलनाडु से है. ताजा आंकड़ों से ये जानकारी सामने आई है कि देश में हर 8 में से एक डॉक्टर तमिलनाडु का है. शुक्रवार को इस बात की जानकारी केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने संसद में दी. संसद में देशभर में डॉक्टरों की कमी को लेकर चर्चा हो रही थी.

देश के कुल 12 फीसदी डॉक्टर तमिलनाडु से हैं. हालांकि महाराष्ट्र का नंबर पहला है. महाराष्ट्र से देश के कुल 15 फीसदी डॉक्टर आते हैं. सदन में चर्चा के दौरान पता चला कि अक्सर डॉक्टरों की कमी पर चिंता जाहिर की जाती रही है. लेकिन असलियत ये है कि कई राज्यों में वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन के तय किए मानदंडों से भी ज्यादा संख्या में डॉक्टर हैं. तमिलनाडु ऐसा ही राज्य है.



मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया के दिए डाटा के मुताबिक 31 मार्च तक कुल 11.59 लाख रजिस्टर्ड एलोपैथिक डॉक्टर हैं. इनमें करीब 80 फीसदी डॉक्टर एक्टिव तौर पर मेडिकल प्रैक्टिस में हैं. करीब 9.27 लाख डॉक्टर देश को अपनी सेवाएं दे रहे हैं. इस हिसाब से देखें तो हर 1456 आदमी पर एक डॉक्टर है. हालांकि ये वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन के मानदंडों के मुताबिक कम है. डब्ल्यूएचओ के मुताबिक कम से कम 1 हजार आदमी पर एक डॉक्टर होना चाहिए.

महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा डॉक्टर्स

सबसे ज्यादा महाराष्ट्र में डॉक्टर हैं. यहां कुल 1.7 लाख डॉक्टर्स हैं. तमिलनाडु में डॉक्टरों की संख्या 1.3 लाख है. वहीं कर्नाटक का स्थान तीसरा है. यहां 1.2 लाख डॉक्टर्स हैं. आंध्रप्रदेश में करीब 1 लाख डॉक्टर हैं. पांचवा स्थान उत्तर प्रदेश का है, जहां 77,549 डॉक्टर हैं. ये पांचों राज्य डॉक्टरों की संख्या के मामले में अव्वल हैं.

one in 8 doctors in the country is from tamil nadu know 6 states who have more doctors than who guideline
प्रतीकात्मक तस्वीर


आबादी के लिहाज से डॉक्टरों की संख्या के मामले में तमिलनाडु की स्थिति बेहतर है. यहां ग्रामीण इलाकों में भी डॉक्टरी सेवा मिल जाती है. तमिलनाडु में 23 सरकारी मेडिकल कॉलेज हैं. इनमें एमबीबीएस की करीब 3250 सीटें हैं. इसके अलावा 2050 सीटें सरकार द्वारा संचालित और प्राइवेट फंडेड कॉलेजों और करीब इतनी ही संख्या में सीटें डीम्ड यूनिवर्सिटीज़ में है.
Loading...

तमिलनाडु की स्थिति नॉर्वे-स्वीडन से भी बेहतर

2018 के एक आंकड़े के मुताबिक भारत के छह राज्यों में डब्ल्यूएचओ के तय मानदंडों से ज्यादा की संख्या में डॉक्टर हैं. WHO कम से कम एक हजार लोगों पर एक डॉक्टर की जरूरत बताता है. वहीं दिल्ली, कर्नाटक, केरल, तमिलनाडु पंजाब और गोवा में एक हजार पर एक से ज्यादा डॉक्टर हैं.

 one in 8 doctors in the country is from tamil nadu know 6 states who have more doctors than who guideline
प्रतीकात्मक तस्वीर


इस मामले में तमिलनाडु की स्थिति सबसे बेहतर है. वहां एक हजार आदमी पर 4 डॉक्टर हैं. ये करीब-करीब नॉर्वे और स्वीडन जैसे देशों के बराबर है. नॉर्वे में एक हजार पर 4.3 और स्वीडन में एक हजार पर 4.2 डॉक्टर हैं. दिल्ली की हालत भी बेहतर है. यहां एक हजार आदमी पर 3 डॉक्टर हैं.

ये आंकड़ा यूके, यूएस, कनाडा और जापान से भी बेहतर है. इन देशों में एक हजार आदमी पर 2 से कुछ ज्यादा डॉक्टर ही उपलब्ध होते हैं. केरल और कर्नाटक में एक हजार आदमी पर 1.5 डॉक्टर हैं. वहीं पंजाब और गोवा में 1.3 डॉक्टर हैं.

ये भी पढें: अरबपति बिजनेसमैन अब स्पेस में लगाएंगे फैक्ट्रियां, एमेजॉन कर रहा है सपोर्ट

 
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...