Explained: क्या डोनाल्ड ट्रंप किसी मानसिक समस्या से जूझ रहे हैं?

ट्रंप के मानसिक स्वास्थ्य को लेकर विपक्ष एकदम से हमलावर हुआ

ट्रंप के मानसिक स्वास्थ्य (mental health of Donald Trump) को लेकर विपक्ष एकदम से हमलावर हुआ. वैसे कई अमेरिकी राष्ट्रपति कार्यकाल के दौरान ही डिप्रेशन और बायपोलर डिसऑर्डर (depression and bipolar disorder) का शिकार हुए.

  • Share this:
    चुनाव हारने के बाद से अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अजीबोगरीब बर्ताव कर रहे हैं. हाल में वॉशिंगटन में उनके समर्थकों द्वारा हुई हिंसा के बाद से विपक्षी दल लगातार ट्रंप के मानसिक स्वास्थ्य पर हमलावर है. विपक्षी दल से लेकर सदन की स्पीकर नैंसी पेलोसी तक ट्रंप की दिमागी सेहत को अस्थिर कह रही हैं. वैसे ट्रंप के अलावा कई दूसरे अमेरिकी राष्ट्रपतियों के बारे में ये कहा जा चुका है.

    अमेरिकी राष्ट्रपति होना आसान नहीं 
    आर्थिक और सैन्य तौर पर दुनिया के इस सबसे मजबूत देश का सबसे ताकतवर पद अपने साथ काफी सारी परेशानियां लाता है. इसके अलावा पद पर पहुंचा शख्स पहले से भी कई मानसिक समस्याओं का शिकार हो सकता है. अब ट्रंप पर विपक्षी लगातार हमला कर रहे हैं कि उनकी मानसिक सेहत खराब है. वैसे ट्रंप से पहले भी कई अमेरिकी राष्ट्रपतियों की मानसिक सेहत पर वार हो चुका है.

    trump
    ट्रंप से पहले भी कई अमेरिकी राष्ट्रपतियों की मानसिक सेहत पर वार हो चुका है


    जॉर्ज वॉशिंगटन पहला शिकार
    अमेरिका के पहले राष्ट्रपति जॉर्ज वॉशिंगटन के बारे में भी यही कहा गया था. वे अमेरिकी राष्ट्रपति में भी सबसे ऊपर माने जाते हैं, जिनकी तस्वीर डॉलर पर होती है. हालांकि सेना प्रमुख भी रह चुके इस बेहद ताकतवर राष्ट्रपति के बारे में कई बार खबरें आईं कि उनमें खुदकुशी की प्रवृति है. गंभीर हालातों में उनके इमोशनल ब्रेकडाउन की बातें भी कहीं गईं. बाद में ये बातें दबा दी गईं ताकि जनता का अपने पहले ही राष्ट्रपति से यकीन न उठ जाए.

    ये भी पढ़ें: न्यूक्लियर लॉन्च कोड, जिससे केवल 30 मिनट में US का राष्ट्रपति परमाणु हमला कर सकता है

    रूजवेल्ट के बारे में यही कहा गया
    दूसरे राष्ट्रपति जॉन एडम्स को उनके विरोधी सीधे-सीधे पागल कहा करते थे. विपक्षी पार्टी का अखबार Philadelphia Aurora राष्ट्रपति एडम्स को ऐसा शख्स कह चुका था, जिसकी सोचने-समझने की ताकत जा चुकी है. देश के 26 वें राष्ट्रपति थियोडोर रूजवेल्ट के बारे में भी यही कहा जाता था. एक इतिहासकार हेनरी एडम्स ने रूजवेल्ट के बारे में ये तक एलान कर दिया था कि वे जल्दी ही एक्यूट मेनिया के शिकार हो सकते हैं.

    ये भी पढ़ें: Explained: उत्तर कोरिया क्यों अमेरिका को अपना जानी दुश्मन मानता है? 

    खिड़कियों के भीतर लोहे के रॉड लगे थे 
    28वें अमेरिकी राष्ट्रपति वूड्रो विल्सन को स्ट्रोक हुआ था. इसके तुरंत बाद वाइट हाउस के पहले फ्लोर के कमरों में खिड़कियों के आगे लोहे का मोटा जंगला लग गया था. तब आलोचकों ने कहना शुरू कर दिया कि ये जंगला पागल राष्ट्रपति को बाहर आने से रोकने के लिए लगा है. बाद में जॉन मिल्टन कूपर ने विल्सन की बायोग्राफी लिखते हुए बताया कि ये जंगला या लोहे की रॉड पहले से ही लगी हुई थी ताकि राष्ट्रपतियों के बच्चों के बॉल खेलने पर खिड़कियां न टूटें.

    अमेरिका के राष्ट्रपति वुड्रो विल्सन


    क्या कहते हैं विशेषज्ञ
    बीबीसी की एक रिपोर्ट में अमेरिकी राष्ट्रपतियों के मानसिक स्वास्थ्य पर एक रिपोर्ट आ चुकी है. इसमें नॉर्थ कैरोलिना के ड्यूक यूनिवर्सिटी मेडिकर सेंटर के हवाले से बताया गया कि हर चार में से एक अमेरिकी राष्ट्रपति डिप्रेशन की जांच के दायरे में आ जाता है. इनके मुताबिक रूजवेल्ट और एडम्स बाइपोलर डिसऑर्डर के शिकार थे. वहीं थॉमस जेफरसन और यूलीसस ग्रांट को एंग्जाइटी की समस्या थी, वे लोगों के सामने आते ही घबरा जाते थे.

    पद के साथ जिम्मेदारी लाती है मुश्किलें 
    इस बारे में शोधकर्ता जोनाथन डेविडसन कहते हैं कि अमेरिका का राष्ट्रपति होना काफी दबाव वाला काम है, और ये किसी में भी मानसिक समस्या को ट्रिगर कर सकता है, खासकर जिनमें पहले से कोई समस्या रही हो.

    राष्ट्रपति वुड्रो विल्सन को साल 1919 में स्ट्रोक हुआ, जिसके बाद से वे सोचने-समझने की क्षमता लगभग खो बैठे. इसके बाद से कार्यकाल खत्म होने तक उनकी पत्नी एडिथ विल्सन ही वाइट हाउस से सत्ता का संचालन करती थीं. विपक्षी इस पर लगातार हमलावर भी रहे. यहां तक कि उस दौर को पेटिकोट गवर्नमेंट तक कह दिया था.

    राष्ट्रपति फ्रैंकलिन पियर्स एक दुर्घटना में बेटे की मौत के बाद से असामान्य बर्ताव करने लगे


    बेटों की मौत के बाद मिला सदमा 
    राष्ट्रपति फ्रैंकलिन पियर्स के एक बेटे की एक दुर्घटना में मौत के बाद से वे असामान्य बर्ताव करने लगे. शराब पीने की आदत भी बढ़ती गई और लिवर फेल होने से उनकी मौत हुई. उनके बाद जो राष्ट्रपति कैल्विन कूलेज आए, उनके भी 16 साल के बेटे की मौत पैर में चोट के कारण हो गई. इसके तुरंत बाद कैल्विन राष्ट्रपति की जिम्मेदारी से भागने लगे और डिप्रेशन का शिकार हो गए. बेटे के साथ ही उन्होंने अपने लिए भी कब्र खोदने का आदेश दे दिया था.

    ये भी पढ़ें: Explained: क्या होगा अगर डोनाल्ड ट्रंप पर महाभियोग साबित हो जाए? 

    जैसा कि कहा जाता है कि हर 4 में से 1 अमेरिकी राष्ट्रपति डिप्रेशन के हल्के लक्षणों के दायरे में आने लगता है. अब ट्रंप की मानसिक सेहत को लेकर भी विपक्षी आशंकाएं जता रहे हैं. इसपर उनके कार्यकाल के शुरुआती दौर में ही एक किताब भी आ चुकी है- The Dangerous Case of Donald Trump. इस किताब में 27 मनोवैज्ञानिकों और मनोचिकित्सकों ने अपने तरीके से ट्रंप की मानसिक सेहत को समझा और बताया था. एक और किताब भी है- Rocket Man: Nuclear Madness and the Mind of Donald Trump. इसके अलावा भी ढेरों लेख हैं, जो इस बारे में बात कर रहे हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.