भगवान राम के साथ बुद्ध,महावीर और अन्य धर्म के चित्र भी हैं हमारे संविधान में

भगवान राम के साथ बुद्ध,महावीर और अन्य धर्म के चित्र भी हैं हमारे संविधान में
भारतीय संविधान की मूल प्रति में भारतीय संस्कृति की बहुत सी तस्वीरें हैं, जिसमें भगवान राम के अलावा बुद्ध महावीर जैसे अनेक महानायक शामिल हैं.

भारत के मूल संविधान (Indian Constitution) में भारतीय समाज के महानायकों (Ideals) की तस्वीर है जिसमें राम, बुद्ध, महावीर, शिवाजी, गांधी जैसी कई हस्तियां शामिल है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 5, 2020, 2:01 PM IST
  • Share this:
अयोध्या में रामजन्मभूमि (Ram Janmabhoomi) पर राम मंदिर (Ram Mandir) के निर्माण के लिए भूमिपूजन शुरू हो चुका है. इस समय राम और अयोध्या से संबंधित कई बातें चर्चा में हैं इनमें से एक भगवान राम की तस्वीर भी है जो भारतीय संविधान में लगाई गई है. बेशक मौका राममंदिर के भूमिपूजन का है, लेकिन संविधान (Constitution) की मूल प्रति की जिस तस्वीर (Sketch) का जिक्र हो रहा है, वह इस तरह की अकेली तस्वीर नहीं है. इस प्रति में कई ऐसी तस्वीर हैं जो भारतीय संस्कृति और उसके गौरवशाली इतिहास को परिलक्षित करती है.

हर भाग के पहले तस्वीर
संविधान में कुल 22 भाग हैं. हर भाग के पहले एक तस्वीर बनाई गई है. इन तस्वीरों को उस समय के मशहूर चित्रकार नंदलाल बोस और उनके शिष्यों ने बनाया है. इन तस्वीरों में भारतीय इतिहास के मोहनजोदड़ो, वैदिक काल, रामायण, महाभारत, बुद्ध के उपदेश, महावीर के जीवन, मौर्य, गुप्त व मुगल काल, शिवाजी, रानी लक्ष्मीबाई, महात्मा गांधी, सुभाष, जैसे सभी विषयों और महान हस्तियों पर तस्वीरें शामिल की गई है.

इस समय इस तस्वीर की चर्चा
इस समय जो तस्वीर चर्चा में है वह संविधान के तृतीय अध्याय के पहले भगवान राम, सीता और लक्ष्मण की तस्वीर हैं. यह तस्वीर उस समय की है जब श्री राम रावण वध के बाद अयोध्या लौट रहे थे. संविधान का तृतीय अध्याय का संबंध मूल अधिकारों से है.



Preamble
भारत के मूल संविधान को कई तस्वीरों से सजाया गया है. (


वैदिक काल से महाभारत तक
संविधान में नागरिकता संबंधी हिस्से में वैदिक काल के गुरुकुल का दृश्य चित्रित है, तो वहीं राज्य के नीति निर्देशक सिद्धांत वाले हिस्से में महाभारत का दृश्य है जिसमें श्रीकृष्ण अर्जुन को गीता का उपदेश दे रहे हैं. वहीं संविधान के तेहरवें भाग में महाबलिपुरम की मूर्तियों के साथ भगीरथ के गंगा को धरती पर लाने की तस्वीर भी है.

उस अयोध्या की 10 खास बातें, जिसे 7 सबसे प्राचीन और पवित्र नगरों में गिना गया

बुद्ध, महावीर से शिवाजी तक
इसके अलावा संविधान के सातवें हिस्से में सम्राट अशोक को बौद्ध धर्म का प्रचार करते देखा जा सकता है. तो नौवें हिस्से में राजा विक्रमादित्य के दरबार की तस्वीर है. इसके अलावा संविधान में भगवान महावीर को भी जगह दी गई है. सोलहवें हिस्से में झांसी की रानी लक्ष्मीबाई और मैसूर के राजा टीपू सुल्तान को जगह मिली है. 14वें भाग में अकबर का दरबार मुगल काल को दर्शाता दिखा है. इस भाग में शिवाजी महाराज और सिख गुरू गोविंद सिंह भी हैं.

भारतीय स्वतंत्रता संग्राम
इसके साथ ही भारत के स्वतंत्रता संग्राम की झलक भी संविधान की मूल प्रति की तस्वीरों में है. महात्मा गांधी का दांडी मार्च, भारत की आधिकारिक भाषाओं के हिस्से में है. गांधी आपातकाल के प्रावधानों में भी दिखाई दे रहे हैं. इस तस्वीर में नौखाली, बांग्लादेश में उनका स्वागत एक महिला आरती से करती दिख रही है. संविधान के 19वें भाग में नेताजी सुभाष चंद्र बोस और उनकी आजाद हिंद फौज  को भी दिखाया गया है जिसमें नेताजी अपनी तिरंगो को सलामी दे रहे हैं.

परिवार जो 3 पीढ़ियों से बना रहा है राममंदिर, सोमनाथ से अक्षरधाम तक किए डिजाइन

भारत की भौगोलिक विविधता भी
इन तस्वीरों में भारत के हिमालय की वादियों से लेकर रेगिस्तान के ऊंटों को भी तस्वीर में शामिल किया गया है. संविधान के 22वें और अंतिम भाग में समुद्र की सुंदर तस्वीर को दिखाया गया है. इस तरह भारत के संविधान की पहली लिखित मूल प्रति में भारतीय संस्कृति, इतिहास, भूगोल, स्वतंत्रता संघर्ष और भारतीय समाज के महानायकों की झलकी इन तस्वीरों में दिखाई गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज