INX Media के अलावा इन 4 मामलों में भी चिदंबरम पर ईडी की नज़र

News18Hindi
Updated: August 22, 2019, 11:27 AM IST
INX Media के अलावा इन 4 मामलों में भी चिदंबरम पर ईडी की नज़र
पी चिदंबरम के खिलाफ ईडी कुछ और मामलों की जांच कर रही है

पूर्व वित्तमंत्री पी चिदंबरम (P Chidambaram) के ऊपर सिर्फ आईएनएक्स मीडिया (INX Media) और एयरसेल मैक्सिस (Aircel Maxix) के मामले ही नहीं चल रहे हैं. ईडी (ED) के अधिकारी इसी तरह के 4 अन्य मामले भी देख रहे हैं. संदेह है कि वित्तमंत्री रहते हुए पी चिदंबरम ने इन 4 कंपनियों को गलत तरीके से फायदा पहुंचाया...

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 22, 2019, 11:27 AM IST
  • Share this:
सीबीआई (CBI) ने 24 घंटे से भी ज्यादा वक्त तक चले ड्रामे के बाद आखिरकार पूर्व वित्तमंत्री पी चिदंबरम (P Chidambaram) को गिरफ्तार कर लिया. बुधवार को दिनभर चिदंबरम लापता रहे. शाम को वो अचानक कांग्रेस के दूसरे सीनियर नेताओं के साथ कांग्रेस हेडक्वॉटर पहुंचे. वहां प्रेस कॉन्फ्रेंस के जरिए उन्होंने अपने ऊपर लगे आरोपों पर सफाई दी.

चिदंबरम ने कहा कि उन्होंने वित्तमंत्री रहते हुए कोई गलत काम नहीं किया है. उन्होंने कहा कि उनके लापता होने के बारे में कहा गया, जबकि वो अपने वकीलों के साथ मशविरा करने में लगे थे. वो न्याय की तलाश में थे. हालांकि उन्होंने ये नहीं बताया कि सीबीआई और ईडी (ED) के अधिकारी जब उनके घर पर लगातार दबिश दे रहे थे, तो वो दिल्ली में कहां थे.

चिदंबरम की गिरफ्तारी के बाद उनके बेटे कार्ति चिदंबरम (Karti Chidambaram) भी सामने आए. कार्ति चिदंबरम भी आईएनएक्स मीडिया मामले (INX Media Case) में आरोपी हैं. कार्ति ने कहा कि ये पूरा मामला राजनीति से प्रेरित है और उनके पिता को फंसाया जा रहा है. वो इंसाफ की जंग लड़ेंगे.

इन 4 मामलों में भी फंस सकते हैं पूर्व वित्तमंत्री

चिदंबरम पर आरोप है कि उन्होंने वित्तमंत्री रहते हुए आईएनएक्स मीडिया को गलत तरीके से फायदा पहुंचाया. उनके कार्यकाल में कंपनी को एफडीआई क्लीयरेंस दी गई थी. एफडीआई के लिए फॉरेन इनवेस्टमेंट प्रमोशन बोर्ड (FIPB) का अप्रूवल जरूरी है, जबकि आईएनएक्स मीडिया ने बिना अप्रूवल के एफडीआई हासिल किया. इस मामले में चिदंबरम, उनके बेटे कार्ति और वित्त मंत्रालय के अधीन आने वाले एफआईपीबी के कुछ अधिकारी आरोपी बनाए गए हैं.

p chidambaram arressted by cbi in inx media case ed investigate four others fipb approvals made by former finance minister
सीबीआई की गिरफ्त में पी चिदंबरम


चिदंबरम के ऊपर सिर्फ आईएनएक्स मीडिया और एयरसेल मैक्सिस के मामले ही नहीं चल रहे हैं. ईडी के अधिकारी इसी तरह के 4 दूसरे मामले भी देख रहे हैं. ईडी को संदेह है कि वित्तमंत्री रहते हुए पी चिदंबरम ने 4 कंपनियों को गलत तरीके से फायदा पहुंचाया. फ़र्स्टपोस्ट को मिली जानकारी के मुताबिक ईडी डियागो स्कॉटलैंड, कटारा होल्डिंग्स, एस्सार स्टील लिमिटेड और एलफोर्ज लिमिटेड को फायदा पहुंचाने में पी चिदंबरम के रोल को खंगाला जा रहा है.
Loading...

शेल कंपनियों में डाली गई घूस की रकम
ईडी को शक है कि इन कंपनियों को गलत तरीके से एफआईपीबी का अप्रूवल दिया गया. इसके एवज में कुछ शेल कंपनियों के जरिए चिदंबरम को बड़ी रकम मिली. बताया जा रहा है कि वो शेल कंपनियां कार्ति चिदंबरम अपने कुछ कर्मचारियों और बिजनेस एसोसिएट्स के नाम पर चला रहे थे.

ईडी इस बात की भी जांच कर रही है कि घूस की रकम कहां निवेश की गई. ईडी मनी लाउंड्रिंग की भी जांच कर रही है. ईडी एयरसेल मैक्सिस डील में मनी लाउंड्रिंग के मामले की भी जानकारी इकट्ठा कर रही है. चिदंबरम पर आरोप है कि वो इस मामले की जानकारी जानबूझकर छिपा रहे हैं.

एक शेल कंपनी में 300 करोड़ डाले जाने के सबूत
सूत्रों के मुताबिक, जांच में इस बात का पता चला है कि देश और विदेश में चल रही कार्ति चिदंबरम की शेल कंपनियों में घूस की रकम डाली गई थी. घूस की रकम चिदंबरम को गलत तरीके से कंपनियों को फायदा पहुंचाने के एवज में मिली थी. इसी तरह की एक शेल कंपनी में 300 करोड़ डाले जाने के सबूत मिले हैं. ईडी की जांच में पता चला है कि ये शेल कंपनियां कार्ति और पी चिदंबरम चला रहे थे.

p chidambaram arressted by cbi in inx media case ed investigate four others fipb approvals made by former finance minister
कार्ति चिदंबरम


चिदंबरम की पोती के नाम ट्रांसफर किए शेल कंपनी के शेयर्स
ईडी ने कहा है कि इनदोनों की मुख्य शेल कंपनी के शेयर होल्डर्स और डायरेक्टर्स ने सारे शेयर्स पी चिदंबरम की पोती के नाम कर दिए. शेयर होल्डिंग ट्रांसफर के वसीयत में मुख्त तौर पर कार्ति चिदंबरम का नाम था. एक शेल कंपनी को ब्रिटिश वर्जिन आईलैंड से पैसे ट्रांसफर किए गए थे. ब्रिटिश वर्जिन आईलैंड को टैक्स हेवेन माना जाता है.

चिदंबरम के विदेशों में दर्जनों बैंक अकाउंट्स- सूत्र
ईडी ने अपनी जांच में इस बात का भी खुलासा किया है कि इन शेल कंपनियों को जो पैसे मिले, उन पैसों को पी चिदंबरम और कार्ति चिदंबरम ने निजी जरूरतों के लिए इस्तेमाल किए. जांच एजेंसी के मुताबिक, पिता-पुत्र की जोड़ी ने विदेशों में एक दर्जन से ज्यादा बैंक अकाउंट खोल रखे हैं. दोनों ने मलेशिया, यूके और स्पेन में कई तरह की अचल संपत्ति में निवेश किया हुआ है.

पी चिदंबरम और कार्ति चिदंबरम के आवास और दफ्तर से इन मामलों से जुड़े कई दस्तावेज और ई-मेल सीज किए गए हैं. ईडी के अधिकारियों का कहना है कि दोनों ने जांच में सहयोग नहीं किया है. दोनों विदेशों में अपनी संपत्ति और बैंक अकाउंट्स की जानकारी छिपा रहे हैं.

ये भी पढ़ें: ऐसे हुआ था INX Media में FDI घोटाला, ये हैं पूर्व वित्तमंत्री चिदंबरम पर आरोप

संघ को आरक्षण पर बार-बार क्यों देनी पड़ती है सफाई?

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नॉलेज से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 22, 2019, 10:56 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...