एयरस्पेस बंद करने के पाकिस्तानी पैंतरे से उसे क्या हासिल होगा?

पाकिस्तान ने लाहौर के एयरस्पेस को भारतीय विमानों के लिए आंशिक तौर पर बंद किया है. भारतीय विमानों के लिए ये रूट 5 सितंबर तक के लिए दिन के 8 घंटे तक बंद रहेगा. सिर्फ रविवार को इस रूट पर छूट मिलेगी. सवाल है कि पाकिस्तान को अपने इस पैंतरे से क्या हासिल होगा...

News18Hindi
Updated: August 8, 2019, 1:18 PM IST
एयरस्पेस बंद करने के पाकिस्तानी पैंतरे से उसे क्या हासिल होगा?
पाकिस्तान ने लाहौर रूट आंशिक तौर पर बंद किया है
News18Hindi
Updated: August 8, 2019, 1:18 PM IST
जम्मू और कश्मीर में अनुच्छेद 370 के खात्मे का पाकिस्तान ने विरोध किया है. अपना विरोध दर्ज करवाने के लिए पाकिस्तान ने कई कदम उठाए हैं. बुधवार को इसी कड़ी में उसने अपने एयरस्पेस भारतीय विमानों के लिए बंद करने का ऐलान किया है. पाकिस्तान ने ऑपरेशनल इश्यू का हवाला देते हुए अपने एयरस्पेस को भारतीय विमानों के लिए आंशिक तौर पर बंद रखने की घोषणा की है.

पाकिस्तान ने इसके लिए नोटिस टू एयरमैन (NOTAM) जारी किया है. नोटिस टू एयरमैन में पायलट और फ्लाइट का रूट प्लान करने वाले अधिकारियों को एयरपोर्ट और एयरस्पेस के बंद होने की सूचना दी जाती है. खराब मौसम, सुरक्षा के नजरिए और ऑपरेशनल इश्यू का हवाला देकर कोई देश अपने एयरपोर्ट या एयरस्पेस को पूरी तरह से या आंशिक तौर पर दूसरे देशों के विमानों की आवाजाही के लिए बंद रख सकता है.

पाकिस्तान ने बंद किया लाहौर रूट

पाकिस्तान ने लाहौर के एयरस्पेस को भारतीय विमानों के लिए आंशिक तौर पर बंद किया है. भारतीय विमानों के लिए ये रूट 5 सितंबर तक के लिए दिन के 8 घंटे तक बंद रहेगा. सिर्फ रविवार को इस रूट पर छूट मिलेगी. सवाल है कि पाकिस्तान के अपने एयरस्पेस बंद रखने के पैंतरे से क्या हासिल होगा?

एयर इंडिया के अधिकारी इसे रूटीन क्लोजर बता रहे हैं. उनका कहना है कि पाकिस्तान के इस पैंतरे से उसे कुछ हासिल नहीं होने वाला है. लाहौर के एयरस्पेस के ऑलटरनेट रूट हैं. कराची का एयर रूट अभी भी खुला है. लाहौर से होकर गुजरने वाले भारतीय विमानों को अपना रूट डायवर्ट करना होगा. लेकिन रूट डायवर्जन में सिर्फ 12 मिनट ज्यादा लगेंगे. इससे भारतीय विमान कंपनियों को ज्यादा नुकसान नहीं उठाना पड़ेगा.

pakistan airspace closure for india what will pak get and how its affect to indian airlines pakistan airspace closure for india what will pak get and how its affect to indian airlines
बालाकोट एयरस्ट्राइक के बाद भी पाकिस्तान ने बंद किए थे एयरस्पेस


बालाकोट एयरस्ट्राइक के बाद भी पाकिस्तान ने बंद किए थे एयरस्पेस
Loading...

पिछली बार पाकिस्तान ने बालाकोट एयरस्ट्राइक के बाद अपने एयरस्पेस भारतीय विमानों के लिए बंद किए थे. पाकिस्तान ने अपने एयरस्पेस फरवरी महीने से भारतीय फ्लाइट्स के लिए बंद कर दिए थे. इसकी वजह से भारतीय विमान कंपनियों को फ्लाइट ऑपरेशन में ज्यादा खर्च करना पड़ा था. लेकिन इसका नुकसान खुद पाकिस्तान को भी उठाना पड़ा था.

पाकिस्तानी ने अपनी एयरस्पेस करीब चार महीनों तक के लिए बंद रखी थी. इसकी वजह से दिल्ली से यूरोप आने-जाने वाली कई फ्लाइट्स को दूसरे रास्ते का इस्तेमाल करना पड़ा था. यूरोप की लंबी उड़ानों में लगने वाला समय बढ़ गया था. पाकिस्तान का रूट बंद होने की वजह से भारतीय विमानों को 70 से 80 मिनट ज्यादा लग रहे थे. इसकी वजह से ईंधन की खपत भी बढ़ गई थी. भारतीय विमान कंपनियों को इससे नुकसान उठाना पड़ा था.

कुल मिलाकर साढ़े पांच सौ करोड़ का हुआ था नुकसान

फरवरी में 4 महीने के लिए पाकिस्तान के एयरस्पेस के प्रतिबंधित होने की वजह से भारतीय विमान कंपनियों को करीब साढ़े पांच सौ करोड़ रुपये का नुकसान उठाना पड़ा था. सिर्फ एयर इंडिया की उड़ानों के सिलसिले में ही 2 जुलाई तक 491 करोड़ रुपये का अतिरिक्त खर्च आया था. इसके अलावा, 31 मई तक इंडिगो एयरलाइन को 25 करोड़ से ज़्यादा का नुकसान हुआ था. 20 जून तक स्पाइसजेट को 30.73 करोड़ और गोएयर को 2 करोड़ रुपये से ज़्यादा का नुकसान हुआ था.

pakistan airspace closure for india what will pak get and how its affect to indian airlines
बालाकोट एयरस्ट्राइक के बाद अपने एयरस्पेस बंद रखने की वजह से पाकिस्तान को उठाना पड़ा था नुकसान


इस दौरान पूर्व-पश्चिम के बीच की उड़ानें सबसे ज़्यादा प्रभावित रहीं थी. क्योंकि इन्हें पाकिस्तान के रास्ते होकर गुज़रना पड़ता था. इनमें यूरोप से उत्तर भारत के दिल्ली, लखनऊ या अमृतसर पहुंचने वाली उड़ानों को गुजरात और महाराष्ट्र के रास्ते से आना-जाना पड़ा. इससे ईंधन के साथ ही 70 से 80 मिनट तक समय भी ज़्यादा लगा.

इसके अलावा कुछ और असर भी पड़े जैसे एयर इंडिया की दिल्ली से शिकागो फ्लाइट को यूरोप में दोबारा ईंधन भरने के लिए रुकना पड़ा. दिल्ली से इस्तांबुल की इंडिगो की नॉनस्टॉप फ्लाइट्स को भी दोहा में दोबारा ईंधन के लिए रुकना पड़ा. साथ ही, स्पाइसजेट की दिल्ली से काबुल फ्लाइट तो रद्द ही करना पड़ी, जो इस रूट पर भारत की इकलौती उड़ान भी थी.

पाकिस्तान को भी उठाना पड़ा था नुकसान

अपना एयरस्पेस बंद रखने की वजह से पाकिस्तान को भी नुकसान उठाना पड़ा था. पाकिस्तान से गुजरने वाली करीब 400 उड़ानें इससे प्रभावित हुईं थी. एक अनुमान के मुताबिक इससे पाकिस्तान को करीब 100 मिलियन डॉलर यानी 688 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ था. पाकिस्तान अपने रूट का इस्तेमाल करने वाले दूसरे देश के विमानों से कुछ शुल्क वसूल करता है. रूट बंद रखने की वजह से वो शुल्क वसूल नहीं कर पाया था.

किसी देश का एयरस्पेस इस्तेमाल करने पर एयरलाइंस कंपनियों को उस देश के सिविल एवियेशन एडमिनिस्ट्रेशन को पैसे चुकाने पड़ते हैं. ये रकम एयरक्राफ्ट किस टाइप का है, कितनी दूरी कवर की जा रही है और एयरक्राफ्ट का वजन कितना है, इन बातों पर निर्भर करती है. पाकिस्तान के एयरस्पेस से अगर बोइंग 737 गुजरता है तो करीब 580 डॉलर यानी तकरीबन 40,600 रुपए चुकाने पड़ते हैं. यही रकम एयरबस 380 और या बोइंग 747 के लिए बढ़ जाएगी.

अपना एयरस्पेस बंद रखने की वजह से पाकिस्तान की निरंतर घाटे में चल रही सरकारी विमान सेवा पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस को इससे भारी नुकसान उठाना पड़ा था.

ये भी पढ़ें: इन मामलों में देश के दूसरे हिस्सों से बेहतर है जम्मू कश्मीर

यहां बनता है भारत रत्न, जानें इस सम्मान से जुड़ी खास बातें

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पाकिस्तान से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 8, 2019, 1:18 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...