लाइव टीवी

पाक पीएम इमरान का ये खास शख्स कभी था भारत में युद्ध बंदी, चकमा देकर भागा था

News18Hindi
Updated: January 27, 2020, 1:44 PM IST
पाक पीएम इमरान का ये खास शख्स कभी था भारत में युद्ध बंदी, चकमा देकर भागा था
ये हैं इकराम सहगल, जिसे भारतीय सेनाओं ने 1971 के युद्ध के दौरान ढ़ाका से गिरफ्तार कर युद्ध बंदी बनाया था

इमरान खान को जो दो पाकिस्तानी बिजनेसमैन इन दिनों विदेश यात्राओं में आर्थिक मदद दे रहे हैं, उनका पाकिस्तान के प्रधानमंत्री कार्यालय में खासा रूतबा है. इसमें एक भारत में युद्धबंदी रह चुका है और चकमा देकर यहां से भाग निकला. अब वो पाकिस्तान की सबसे बड़ी सेक्यूरिटी फर्म चलाता है

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 27, 2020, 1:44 PM IST
  • Share this:
पाकिस्तान प्रधानमंत्री इमरान खान ने दावोस के वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम में भाषण के दौरान अपनी यात्रा का खर्च उठाने के लिए देश के दो बड़े बिजनेसमैन का धन्यवाद किया. इन दोनों को पाकिस्तानी पीएम का खास आदमी माना जाता है. इमरान की ज्यादातर विदेश यात्राओं से लेकर उनकी मां के नाम पर बने शौकत खानम कैंसर हास्पिटल को ये दोनों भरपूर मदद देते हैं. इसमें से एक शख्स कभी भारत का युद्ध बंदी था.

पाकिस्तान के अखबार डॉन ने एक रिपोर्ट प्रकाशित की है, जिसमें कहा गया है कि किस तरह दो लोगों ने इमरान के दावोस जाने का खर्च उठाया है. उन्हें इमरान ने सार्वजनिक तौर पर धन्यवाद कहा है. कहा जाता है कि इन दोनों व्यक्तियों की पाकिस्तान के प्रधानमंत्री कार्यालय में काफी पूछ है. इनके नाम इकराम सहगल और इमरान चौधरी हैं.

इमरान और इकराम दोनों पाकिस्तान के बड़े बिजनेसमैन हैं. उनके बारे में कहा जाता है कि वो पाकिस्तानी प्रधानमंत्री के खासमखास हैं. वो पिछले कुछ सालों से हर पग पर इमरान का आर्थिक तौर पर साथ निभाते आ रहे हैं. उसमें इकराम सहगल की कहानी तो बहुत दिलचस्प है.

ढाका में भारतीय सेनाओं ने पकड़ा था

इकराम पंजाबी पिता और बंगाली मां के बेटे हैं. जब भारत का बंटवारा हुआ तो वो पूर्वी पाकिस्तान चले गए. वहीं पाकिस्तान वायुसेना में तैनात हो गए. वर्ष 1971 के युद्ध के दौरान वो पाकिस्तान के फाइटर प्लेन के पायलट थे. लेकिन युद्ध से पहले ही अप्रैल 1971 में भारतीय सेनाओं ने उन्हें ढाका में गिरफ्तार कर लिया और युद्ध बंदी के तौर पर उन्हें भारत आया गया.

इकराम सहगल पाकिस्तान की सबसे बड़ी सेक्यूरिटी फर्म के मालिक हैं. माना जाता है कि इमरान की विदेश यात्राओं का खर्च का एक हिस्सा उनकी कंपनी भी वहन करती है


भारत की जेल से चकमा देकर फरार हो गए थेभारत में वो युद्ध बंदी के तौर पर पश्चिम बंगाल के पानागढ़ कैंप में रखे गए. सहगल को यहां चार महीने रखा गया. इस बीच वो चालाकी से युद्ध बंदी जेल से चकमा देकर भाग निकले. वो पाकिस्तान के पहले युद्ध बंदी थे, जो इस तरह चकमा देकर भाग निकले थे.

उसके बाद वो पाकिस्तान पहुंचे. जहां उन्हें वापस सेना में शामिल किया गया. उन्हें जेल में रहने का फायदा भी मिला. बाद में उन्होंने कहा कि वो भारत से बगैर कपड़ों के केवल एक अंडर वियर में फरार हुए थे.

इकराम सहगल को भारत के आलोचक और पाकिस्तान के दिग्गज युद्ध विश्लेषक के रूप में जाना जाता है. वो पाकिस्तान के टीवी चैनलों पर आते रहते हैं. अखबारों में कॉलम भी लिखते हैं.

ये इमरान चौधरी हैं. दुबई में रहते हैं लेकिन इमरान के बहुत खास माने जाते हैं. इमरान को लगातार आर्थिक मदद देते हैं. वो इमरान खान के अस्पताल की फंड रेजिंग के लिए प्रिंस चार्ल्स और कैमिला पार्कर को पाकिस्तान लेकर आए थे.


अब पाकिस्तान में बड़ी सेक्यूरिटी फर्म चलाते हैं
जब वो पाकिस्तान सेना में एक बड़े पद से रिटायर हुए तो अपनी सेक्यूरिटी एजेंसी खोली. समय के साथ ये पाकिस्तान की सबसे बड़ी प्राइवेट सेक्यूरिटी फर्म बन चुकी है. इस कंपनी का नाम पाथफाइंडर है. इसने इमरान की दावोस यात्रा में मोटा पैसा खर्च किया है. इमरान का दावा है कि उनकी इस यात्रा में 1.6 लाख डॉलर खर्च हुआ है, जो पिछले पाकिस्तानी प्रधानमंत्रियों की तुलना में दस गुना कम है.

इमरान खान ने दावोस के वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम के दौरान अपने दोनों नजदीकी बिजनेसमैन इकराम सहगल और इमरान चौधरी का शुक्रिया अदा किया है


इकराम चौधरी भी देते हैं आर्थिक मदद
इकराम लंबे समय से इमरान खान की मां के नाम पर बने शौकत खानम कैंसर मेमोरियल हास्पिटल को भी पैसा दान में देते रहे हैं. पाकिस्तान के दूसरे व्यावसायी, जो इमरान के करीबी माने जाते हैं, उनका नाम इमरान चौधरी है. वो मार्टिन डो ग्रुप के चेयरमैन हैं. चौधरी के बारे में भी कहा जाता है कि इमरान जो भी विदेश यात्राएं करते हैं, उस खर्च का एक बड़ा हिस्सा उनकी कंपनी उठाती है.
इमरान चौधरी लंबे समय से इमरान की मां के नाम पर बने हास्पिटल को सहायता देते रहे हैं. वो दुबई में रहते हैं और बड़े पैमाने पर खाड़ी के कई देशों में धन निवेश कर रखा है.

ये भी पढ़ें
पहली बार आज पेश हुआ था टीवी, फिर दुनिया में हो गया सुपरहिट
जिसे आप दवा समझकर पी रहे हैं, वो कॉकरोच का जूस तो नहीं!
सोने से भी ज्यादा कीमती है ये धातु, दुनियाभर में तेजी से बढ़ रही है मांग
बाल ठाकरे: भारतीय राजनीति का इकलौता नेता जिसने कश्मीरी पंडितों की मदद की
वो महारानी, जिसने सैंडल में जड़वाए हीरे-मोती, सगाई तोड़ किया प्रेम विवाह
अमीर सिंगल चीनी महिलाएं विदेशी स्पर्म से पैदा कर रही हैं बच्चे, नहीं करना चाहती शादी
Health Explainer : जानें शराब पीने के बाद आपके शरीर और दिमाग में क्या होने लगता है
जब अटल सरकार ने दो राज्यों के कलेक्टर्स को दी थी हिंदू शरणार्थियों को नागरिकता देने की स्पेशल पॉवर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पाकिस्तान से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 27, 2020, 1:44 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर