Home /News /knowledge /

मोदी की तरह अमेरिकी राष्ट्रपति के लिए भी चल रहा है नारा... 'आएगा तो ट्रंप ही'

मोदी की तरह अमेरिकी राष्ट्रपति के लिए भी चल रहा है नारा... 'आएगा तो ट्रंप ही'

अमेरिका में हालिया सर्वे बताता है कि चुनाव से एक साल पहले वहां ट्रंप की लहर चल रही है. ज्यादातर अमेरिकी मान रहे हैं कि ट्रंप दोबारा जीतने जा रहे हैं.

अमेरिका में हालिया सर्वे बताता है कि चुनाव से एक साल पहले वहां ट्रंप की लहर चल रही है. ज्यादातर अमेरिकी मान रहे हैं कि ट्रंप दोबारा जीतने जा रहे हैं.

अमेरिका में हालिया सर्वे बताता है कि चुनाव से एक साल पहले वहां ट्रंप की लहर चल रही है. ज्यादातर अमेरिकी मान रहे हैं कि ट्रंप दोबारा जीतने जा रहे हैं.

    जिस तरह भारत में लोकसभा चुनावों से पहले एक नारा बहुत लोकप्रिय था, उसी से मिलता-जुलता नारा अमेरिका में भी मौजूदा राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के लिए बोला जाने लगा है. ज्यादातर अमेरिकी मान रहे हैं कि ट्रंप दोबारा जीतने जा रहे हैं. सीएनएन के एक पोल में बड़े पैमाने पर अमेरिकियों ने माना कि ट्रंप 2020 में होने वाले चुनाव को जीतेंगे और फिर प्रेसीडेंट बनेंगे. सीएनएन ने ये सर्वे अमेरिका की मशहूर संस्था एसएसआरएस के साथ मिलकर किया है. हालांकि, अगर इकोनॉमी को छोड़ दें तो ज्यादातर मामलों में ट्रंप प्रशासन से जुड़े मामलों को नकारात्मक माना गया है.

    54 फीसदी ने कहा ट्रंप जीतेंगे
    नए पोल में 54 फीसदी लोगों ने कहा कि ये तय है कि 2020 का चुनाव ट्रंप ही जीतने जा रहे हैं. 41 फीसदी ने माना कि वो नहीं जीत पाएंगे. हालांकि ऐसा ही सर्वे जब पिछले राष्ट्रपति बराक ओबामा के पहले कार्यकाल के आखिर में उनके दूसरे चुनाव के लिए किया गया था तो लोगों ने उनके पक्ष में इस तरह पसंद जाहिर नहीं की थी, जिस तरह अबकी बार ट्रंप के फेवर की गई है.

    दुनिया में नहीं है ट्रंप जैसी ये कार, खासियतें सुनेंगे तो हैरान रह जाएंगे

    ओबामा से ज्यादा लोकप्रिय 
    तब बराक ओबामा के दूसरे कार्यकाल को लेकर 50 फीसदी लोगों ने माना था कि वो अपना दूसरा चुनाव जीतेंगे. ओबामा ने अपना दूसरा चुनाव 2011 में जीता था.
    दिसंबर के बाद ऐसा लगता है कि ट्रंप की लोकप्रियता अपने देश में बढ़ गई है. तब ट्रंप को 51 फीसदी मत मिले थे.

    डोनाल्ड ट्रंप व्हाइट हाउस की प्रेस कांफ्रेंस में


    ये भी माना कि ट्रंप झूठ बहुत बोलते हैं
    वैसे इस बार जिन लोगों ने ट्रंप को खारिज किया, उनसे जब इसका कारण बताने को कहा गया तो उनका कहना था इसकी वजह ट्रंप का व्यवहार है. लोग मानते हैं कि वो झूठ बोलते है, नस्लवादी है, पद लायक नहीं हैं और लोगों ने ये भी माना कि वो राष्ट्रपति की तरह काम नहीं कर रहे.

    इकोनॉमी और रोजगार पर लोग ट्रंप से खुश 
    जिन्होंने ट्रंप को पसंद किया, वो ये मानते हैं कि ट्रंप रोजगार के मामले में ज्यादा बेहतर हैं, उन्होंने इस मामले में खुद को फोकस किया हुआ है. 26 फीसदी लोगों ने माना कि उन्होंने इकोनॉमी को पटरी पर ला दिया है. 12 फीसदी लोगों ने माना कि उन्होंने चुनाव से पहले जो वादे किये थे, उसे उन्होंने करके दिखाया.

    जब अफगान क्रिकेट टीम खेलती है तो क्यों जमकर हवाई फायरिंग करता है तालिबान

    Tags: Donald Trump, Donald Trump administration, United States (US), US, US Election

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर