Positive News: कोरोना से दोबारा संक्रमित नहीं होने वाले बंदरों ने आसान की वैक्सीन की खोज

Positive News: कोरोना से दोबारा संक्रमित नहीं होने वाले बंदरों ने आसान की वैक्सीन की खोज
बंदरों पर हुए इस वैक्सैीन के प्रयोग में अच्छे नतीजे मिले हैं.

शोधों में सामने आया है कि एक बार कोरोना वायरस (Corona Virus) से संक्रमित होने के बाद बंदर दोबारा इस महामारी से संक्रमित नहीं होते. यानी उनके शरीर में कोरोना के प्रति एंटीबॉडी डेवलप हो जाती है. शोधकर्ताओं के मुताबिक ये शोध वैक्सीन की तलाश में बेहद महत्वपूर्ण साबित हो सकते हैं.

  • Share this:
कोरोना वायरस की वैक्सीन की तलाश में अमेरिका से सकारात्मक स्टडी सामने आई हैं. बंदरों पर किए दो शोधों में सामने आया है कि एक बार कोरोना वायरस से संक्रमित हो जाने के बाद बंदर दोबारा इस महामारी से संक्रमित नहीं होते. यानी उनके शरीर में कोरोना के प्रति एंटीबॉडी डेवलप हो जाती है. शोधकर्ताओं के मुताबिक ये दोनों शोध वैक्सीन की तलाश में बेहद महत्वपूर्ण साबित हो सकते हैं.

पहली स्टडी के नतीजे
पहली स्टडी में रिसर्चर्स ने 9 बंदरों को कोरोना वायरस से संक्रमित किया. कुछ दिन बाद जब बंदर इस बीमारी से ठीक हो गए तो रिसर्चर्स ने उन्हें एक बार फिर संक्रमित करने की कोशिश की. लेकिन बंदर संक्रमित नहीं हुए. अमेरिकी वायरोलॉजिस्ट डॉ. डैन बैरोच के मुताबिक एक बार संक्रमित होने पर बंदरों को प्रतिरोधक तंत्र कोरोना के खिलाफ सक्रिय हो जा रहा है. आप चाहकर भी उसे दोबारा संक्रमित नहीं कर सकते. ये बहुत बड़ी खुशखबरी है.

प्रतीकात्मक तस्वीर




क्या है दूसरी स्टडी


दूसरी स्टडी में साइंटिस्ट्स ने 25 बंदरों में वैक्सीन का प्रोटोटाइप टेस्ट किया है. बंदरों के अलावा दस अन्य जीवों में भी इसकी टेस्टिंग की गई. साइंटिस्ट्स ने इस अध्ययन के बाद पाया कि प्रोटोटाइप वैक्सीन का असर जानवरों में हो रहा है. डॉ. डैन बैरोच के मुताबिक हमने जानवरों में बड़ी मात्रा में प्रोटेक्टिव इम्यूनिटी पाई. इस स्टडी में रिसर्चर्स ने दावा किया गया है कि उनके द्वारा बनाई गई वैक्सीन जानवरों में कारगर है. हालांकि इन दावों की प्रमाणिकता अन्य वैज्ञानिकों ने नहीं जांची है. हालांकि डॉ. बैरोच ने कहा है कि अभी ये नहीं कहा जा सकता कि इन प्रोटोटाइप वैक्सीन का असर इंसानों पर कितना होगा. लेकिन अभी वैज्ञानिकों के लिए ये एक सकारात्मक खबर है.

पहले भी आ चुकी हैं ऐसी स्टडी
बंदरों में कोरोना वायरस के प्रति इम्यूनिटी डेवलप करने को लेकर पहले भी स्टडी आ चुकी हैं. मार्च महीने में अमेरिका की नॉर्थ कैरोलिना यूनिवर्सिटी से भी कुछ इसी तरह की रिसर्च सामने आई थी. लेकिन इसके बावजूद अभी इन अध्य्यनों के जरिए वैक्सीन बनाने का काम दूर की कौड़ी ही साबित हो रहा है. ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी की वैक्सीन को लेकर भी शुरू में कहा गया था कि इसका बंदरों पर सकारात्मक असर है लेकिन फिर बाद में वो प्रोजेक्ट फेल भी हो गया.

वैक्सीन से ज्यादा दवा होगी असरकारक
कोरोना वायरस के उद्गम देश चीन में भी कोरोना वायरस की वैक्सीन तलाशने के लिए ट्रायल चल रहे हैं. पेकिंग यूनिवर्सिटी के साइंटिस्ट्स का कहना है कि एक नई दवा का ट्रायल जानवरों पर सफलतापूर्वक कर लिया गया है. इसके नतीजे भी बेहद सकारात्मक आए हैं. गौरतलब है कि इस ट्रायल में शामिल साइंटिस्ट्स का मानना है कि कोरोना को रोकने के लिए वैक्सीन से ज्यादा कारगर दवा साबित हो सकती है. न्यूज एजेंसी एएफपी की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि ये दवा कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों को तेजी से ठीक करेगी. साथ ही संभवत: ये कुछ समय के लिए दोबारा संक्रमण से इम्यून भी करेगी.

ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी ने बंदरों पर कोरोना वैक्सीन का ट्रायल किया
ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी ने बंदरों पर कोरोना वैक्सीन का ट्रायल किया था. ये ट्रायल फेल हो गया है.


अभी सफलता नहीं
दुनिया में कोरोना संक्रमितों की संख्या 50 लाख का आंकड़ा पार कर चुकी है. इस बीच महामारी की रोकथाम के लिए वैक्सीन की तलाश और तेज हुई है. अमेरिका की बायोटेक कंपनी मॉडर्ना को उसके प्रोजेक्ट में शुरुआती सफलता मिली है, इससे आस बंधी है. लेकिन जिस प्रोजेक्ट पर पूरी दुनिया की निगाहें लगी हुई थीं वो फेल हो गया है. ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी में चल रहा वैक्सीन का ट्रायल शुरुआती चरण में ही फेल हो गया है. इस वैक्सीन का बंदरों पर कोई खास असर होता नहीं दिख रहा है. लेकिन एक खुशखबरी है कि अब थाईलैंड भी कोरोना की वैक्सीन बनाने की दौड़ में शामिल हो गया है.

ये भी पढे़ं :-

अंतरराष्ट्रीय चाय दिवस: नीली, पीली, हरी और गुलाबी-क्या आपने पी इन रंगों की सेहतमंद टी
क्या होता है सोनिक बूम, जिसकी वजह से घबरा गए बेंगलुरु के लोग
कुछ लोग अधिक, तो कुछ फैलाते ही नहीं हैं कोरोना संक्रमण, क्या कहता है इस पर शोध
Antiviral Mask हो रहा है तैयार, कोरोना लगते ही बदलेगा रंग और खत्म कर देगा उसे
कोरोना संक्रमण से कितने सुरक्षित हैं स्विमिंग पूल, क्या कहते हैं विशेषज्ञ
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading