लाइव टीवी
Elec-widget

अवैध जमीन पर है पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान का घर, यूं तोड़े नियम

Sanjay Srivastava | News18Hindi
Updated: November 15, 2019, 10:42 PM IST
अवैध जमीन पर है पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान का घर, यूं तोड़े नियम
इस्लामाबाद के करीब बनिगाला में इमरान का लंबा चौड़ा घर, जो अवैध मानी जाने वाली कॉलोनी में है

जब इमरान खान पाकिस्तान के प्रधानमंत्री बने तो माना जा रहा था कि वो इस्लामाबाद स्थित सरकारी आवास में रहेंगे लेकिन इमरान ने इसमें रहने से इनकार कर दिया तो राजधानी से सटे जिस बनिगाला इलाके में रहते हैं, उसे सरकारी कागजों में अवैध कॉलोनी का दर्जा मिला हुआ है. सुप्रीम कोर्ट भी इस पर तीखी टिप्पणी कर चुका है

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 15, 2019, 10:42 PM IST
  • Share this:
पाकिस्तान (Pakistan) के प्रधानमंत्री इमरान खान (PM Imran Khan) इस्लामाबाद (Islamabad)  के करीब जिस शानदार बनिगाला इलाके में रहते हैं, वो दरअसल अवैध इलाका है. सरकारी एजेंसियों ने उनकी कॉलोनी और घर दोनों को अवैध श्रेणी में रखा है. खुद सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) कुछ समय पहले इमरान खान के शानदार बंगले पर तीखी टिप्पणी कर चुका है.

सुप्रीम कोर्ट ने पिछले साल एक फैसले में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के बंगले पर तीखी टिप्पणी की थी. उसका कहना था कि ना तो बनिगाला कॉलोनी नियमित और ना ही आपका घर. इसे वैध करने के लिए नियमानुसार पेनाल्टी और फीस दें. साथ ही नियमित करने की प्रक्रिया भी शुरू करें. सुप्रीम कोर्ट का कहना था कि इमरान का घर बगैर नक्शा पास कराए और अथारिटी से अनुमति के बगैर बना है.

हालांकि इमरान जिस जगह रहे हैं. उसे घर से ज्यादा किला कहना चाहिए. क्योंकि वो जितनी बड़ी जमीन पर रहते हैं, उतनी बड़ी जगह में पाकिस्तान का कोई सियासतदां नहीं रहता. इसके अलावा इमरान के पास पाकिस्तान में ही कई और बड़ी प्रापर्टीज हैं, जिसमें लाहौर का लंबा चौड़ा पुश्तैनी घर शामिल है.

इमरान खान का खूबसूरत बंगला बनिगाला में जहां है, वो इस्लामाबाद से सटा खूबसूरत पहाड़ी इलाका है. ये लंबी-चौड़ी रावल झील के इर्द-गिर्द बसा है. यहां प्राइवेट जमीनों पर अनुमति नहीं होने के बाद भी लोगों ने रिहायशी घर बनाने शुरू किये.

वर्ष 2000 की शुरुआत में जब बनिगाला में अतिक्रमण की शुरुआत हुई तो ये पाकिस्तान में बड़ा मुद्दा था. यहां धड़ाधड़ घर बन रहे थे. इससे रावल झील प्रदूषित हो रही थी. पाकिस्तान में ये बात कही जाने लगी थी कि बनिगाला को अवैध कॉलोनियों में तब्दील किया जा रहा है और सरकार मुंह बंद किए हुए है. उसकी वजह ये थी कि बड़े अफसर और नेता यहां अपने घर बना रहे थे.



इस इलाके में ज्यादा कॉलोनियां अवैध
Loading...

जब पाकिस्तान के जाने-माने परमाणु वैज्ञानिक डॉ. अब्दुल कादिर खान ने नियम कायदों को ताक पर रखते हुए यहां बंगला बनवाया तो बनिगाला को लेकर उठने वाली आवाजें धीमी पड़ गईं. अलबत्ता अगर पाकिस्तान की सरकारी एजेंसियों सर्व ऑफ पाकिस्तान और कैपिटल डेवलपमेंट अथारिटी (सीएडी) की बात करें, तो उनके कागजों पर ये इलाका अब भी अवैध है. बनिगाला इलाके की ज्यादातर कॉलोनियां वैध नहीं हैं और ना ही यहां बने एक से बड़े एक आलीशान घर. ज्यादातर नियमों को तोड़ते हुए बनाए गए हैं.

जब पीएम का ही घर अवैध कॉलोनी में हो तो...
सबको मालूम है कि जिस इलाके में खुद प्रधानमंत्री का घर हो, वहां कानून का कौन सा जोर चलता है. सुप्रीम कोर्ट खुद इस मामले में कोई कार्रवाई करने में लाचारी जाहिर कर चुका है. उसने ये निर्देश जरूर दिया कि जल्दी से जल्दी इस इलाके को रेगुलराइज करने की प्रक्रिया शुरू की जाए. इसके लिए यहां के बाशिंदों से पेनाल्टी और फीस ली जाए.

इमरान सरकारी आवास की बजाए यहीं रहते हैं 
दिलचस्प बात ये भी है कि प्रधानमंत्री बनने के बाद इमरान खान ने इस्लामाबाद स्थित प्रधानमंत्री हाउस में रहने की बजाए अपने इस प्राइवेट बंगले को रहने के लिए चुना. क्योंकि ये वाकई बहुत सुविधापूर्ण है. अब पाकिस्तान की सुरक्षा एजेंसियां यहां उनकी सुरक्षा में मुस्तैद रहती हैं.

इमरान बनिगाला में अपने इसी लंबे चौड़े एस्टेट में रहते हैं. यहीं से पाकिस्तान की सरकार चलाते हैं


ये दुनिया का शायद पहला वाकया होगा जब कोई प्रधानमंत्री किसी अवैध इलाके में रह रहा हो और सरकार वहां उसकी सुरक्षा में लगी हो.
जानकारी के अनुसार सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के बाद इमरान ने अपने घर को नियमित कराने का आवेदन जरूर भेजा है लेकिन ना तो कोई पेनाल्टी दी है और ना ही तय फीस जमा कराई है. सीएडी का कहना है कि इमरान खान ने आवेदन तो भेजा है कि लेकिन उनका बंगला अभी कई शर्तें पूरा नहीं करता. पहले कैपिटल डेवलपमेंट अथारिटी ने उनके इस घर को लेकर दो दर्जन से कहीं ज्यादा आपत्तियां लगा रखी थीं.

इमरान का घर नहीं बल्कि बड़ा एस्टेट कहिए जनाब 
इमरान खान कई साल पहले इस इलाके में रहने आए थे. उन्होंने यहां 300 कैनाल (एक कैनाल 505 वर्ग मीटर के बराबर होता है) में आलीशान घर बनाया. जिसे घर से कहीं ज्यादा एक एस्टेट कहना चाहिए. इसमें चारों ओर बड़े-बड़े लॉन हैं. बड़े पैमाने में पेड. एस्टेट में अंदर आने के लिए कई गेट और करीब आधी किलोमीटर की सड़क से गुजरना पड़ता है.

बनिगाला में जहां इमरान का ये शानदार बंगला है, वो इलाका पिछले दो दशकों से रिहाइशी तौर पर अवैध माना जाता रहा है. इसे लेकर सुप्रीम कोर्ट भी इमरान के घर पर तीखी टिप्पणी कर चुका है


पहली बीवी ने गिफ्ट दी थी ये जमीन  
चुनाव से पहले जब इमरान खान ने संपत्ति की घोषणा की, तो बताया कि बनिगाला में ये एस्टेट उन्हें पहली पत्नी जेमिमा गोल्डस्मिथ ने बतौर गिफ्ट दिया था. इसी इलाके में केवल इमरान का ही बंगला नहीं है बल्कि उनकी तीसरी बीवी बुशरा का भी बंगला है.

इस्लामाबाद की कैपिटल डेवलपमेंट अथारिटी ने अब भी इस घर को रेगुलराइज नहीं किया है. उसने इस घर पर पहले करीब दो दर्जन आपत्तियां लगा रखी थीं


इमरान के बंगले को लेकर जब कुछ दिनों पहले जब सवाल किये गए तो कैपिटल डेवलपमेंट अथारिटी का कहना था कि बनिगाला में इमरान खान के घर को रेगुलराइज करने में कुछ अड़चनें हैं. लिहाजा शहर का नया मास्टर प्लान बनने के बाद ही इसकी स्थिति बदली जा सकती है. सीएडी का कहना है कि इमरान खान समेत इस इलाके के 200 घरों ने नियमित करने का आवेदन उनके पास भेजा हुआ है.

ये भी पढ़ें - मुफ्त इलाज के लिए कैसे बनेगा आप का आयुष्मान कार्ड
जापान की इस टेक्नोलॉजी से प्रदूषण से मिलेगा हमेशा के लिए छुटकारा
क्यों खास होती हैं किन्नरों की तालियां, आम लोग नहीं कर पाते ऐसा
आदिवासी लोकनायक बिरसा मुंडा ने जब खुद को घोषित किया था भगवान 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पाकिस्तान से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 15, 2019, 9:00 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...