लाइव टीवी

पुलवामा हमला: 12 दिन बाद भारत ने लिया था बदला, ऐसे बनी थी एयरस्ट्राइक की योजना

News18Hindi
Updated: February 14, 2020, 9:17 PM IST
पुलवामा हमला: 12 दिन बाद भारत ने लिया था बदला, ऐसे बनी थी एयरस्ट्राइक की योजना
14 फरवरी 2019 को पुलवामा में CRPF पर आतंकी हमला हुआ था, हमले के बाद की तस्वीर

पाकिस्तान (Pakistan) समर्थित जैश ए मोहम्मद (Jash E mohammad) आतंकी संगठन की इस कायरतापूर्ण कार्रवाई से पूरा देश गुस्से में उबल उठा था. इस हमले के ठीक 12 दिन बाद भारतीय सेना ने बालाकोट (Balakot) में एयर स्ट्राइक कर बदला लिया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 14, 2020, 9:17 PM IST
  • Share this:
आज पुलवामा हमले (Pulwama Attack) की पहली बरसी है. आज ही के दिन एक साल पहले जैश ए मोहम्मद (Jash E Mohammad) के आतंकी ने जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) के पुलवामा में सीआरपीएफ (CRPF) के काफिले पर हमला किया था. जैश के आतंकी ने विस्फोटकों से लदी कार को सीआरपीएफ के काफिले से टकरा दिया था. भीषण आत्मघाती हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे.

पाकिस्तान समर्थित आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद की इस कायरतापूर्ण कार्रवाई से पूरा देश गुस्से में उबल उठा था. इस हमले के ठीक 12 दिन बाद भारतीय सेना ने पाकिस्तान के बालाकोट में एयरस्ट्राइक कर बदला लिया था. पुलवामा हमले के दूसरे ही दिन से भारतीय सेना ने बदले की बड़ी कार्रवाई की योजना पर काम करना शुरू कर दिया था.

क्या हुआ था 14 फरवरी 2019 को
14 फरवरी 2019 को सीआरपीएफ का एक काफिला श्रीनगर-जम्मू हाइवे से गुजर रहा था. 78 बसों के इस काफिले में सीरआरपीएफ के 2500 जवान अपनी ड्यूटी पर लौट रहे थे. दोपहर के करीब 3 बजे का वक्त था. सीरआरपीएफ के जवानों का काफिला जब पुलवामा जिले के श्रीनगर-जम्मू हाइवे से गुजर रहा था, उसी वक्त जैश ए मोहम्मद के एक आतंकी ने विस्फोटकों से लदी कार सीरआरपीएफ के काफिले की गाड़ी से भिड़ा दी. बताया गया कि कार में करीब 350 किलो आरडीएक्स भरा था. इस आत्मघाती हमले में भयानक विस्फोट हुआ. सीरआरपीएफ की गाड़ी की परखच्चे उड़ गए. सीरआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए.

जम्मू-कश्मीर में पिछले कुछ वर्षों के दौरान हुआ ये सबसे बड़ा हमला था. हमले के बाद देश की जनता गुस्से से भर उठी. कई जगहों पर इस आत्मघाती हमले के विरोध में प्रदर्शन हुए. सभी राजनीतिक दलों के नेताओं और सिविल सोसायटी के सदस्यों ने इस हमले की निंदा की.

pulwama attack after 12 days indian airforce taken revenge airstrike was planned in this way
जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में पिछले साल 14 फरवरी को हुए आतंकी हमलों में 40 जवान शहीद हो गए थे. (File Photo)


जब पीएम मोदी ने कहा था- हर आंसू का बदला लेंगेदेश की जनता में गुस्से की लहर थी. देश के लोगों की भावनाओं को समझते हुए उस वक्त प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था कि मैं अपने सीने में वैसी ही आग महसूस कर रहा हूं, जैसी आग आपके भीतर है. इस हमले के एक ही दिन बाद प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था कि हर आंसू का बदला लिया जाएगा. भारतीय सेना को खुली छूट दे दी गई है. हम अपने हिसाब से और सही वक्त पर दुश्मन से बदला लेंगे.

संयुक्त राष्ट्र संघ ने भी इस हमले की कड़ी निंदा की थी. यूएन के साथ कई दूसरे देशों ने आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में भारत का समर्थन किया था. पुलवामा अटैक के 12 दिन बाद भारतीय सेना ने एलओसी पार करके पाकिस्तान के बालाकोट में एयरस्ट्राइक कर हमले का बदला लिया था.

कैसे बनी थी एयरस्ट्राइक की योजना
पुलवामा हमले की बदले की योजना अटैक के दूसरे ही दिन से बननी शुरू हो गई थी. 15 फरवरी 2019 को इंडियन एयरफोर्स के चीफ बीएस धनोआ ने हमले की प्रतिक्रिया में एयरस्ट्राइक करने की योजना सरकार के सामने रख दी. उसी वक्त केंद्र सरकार ने इस योजना को हरी झंडी दे दी थी.

इसके बाद 16 फरवरी से लेकर 20 फरवरी तक इंडियन एयरफोर्स ने एलओसी के पास सर्विलांस रखना शुरू कर दिया. एयरफोर्स के ड्रोन विमानों के जरिए इलाके में चल रहे आतंकी शिविरों के बारे में जानकारी इकट्ठा करनी शुरू कर दी गई. एयरफोर्स के साथ देश की खुफिया एजेंसियां भी इस काम में लगी थीं.

pulwama attack after 12 days indian airforce taken revenge airstrike was planned in this way
पिछले साल पुलवामा में हुए आतंकी हमले में 40 जवान शहीद हो गए थे. फाइल फोटो.पीटीआई


22 फरवरी को नेशनल सिक्योरिटी एडवाइजर अजीत डोभाल ने सरकार को एयरस्ट्राइक के टारगेट की जानकारी दी. उन्होंने बताया कि सेना के पास किन-किन जगहों पर हमले करने का ऑप्शन है. 22 फरवरी को एयरफोर्स ने इस मिशन को सक्रिय कर दिया. इस मिशन को अंजाम देने के लिए इंडियन एयरफोर्स ने अपने वन स्कॉड्रन टाइगर्स और सेवन स्कॉड्रन बैटल ऐक्सेज़ को लगाया था. इस मिशन के लिए मिराज स्कॉड्रन के 12 जेट को तैयार रहने का निर्देश दे दिया गया.

24 फरवरी को मिशन का ट्रायल किया गया. ट्रायल के बाद 26 फरवरी को मिशन को अंजाम देने का प्लान बना. 26 फरवरी 2019 की सुबह 3 बजे के करीब बालाकोट के आतंकी शिविर पर भारतीय फाइटर जेट ने हमला किया. पाकिस्तान को इसकी कानोंकान खबर नहीं थी. रात के अंधेरे में एयरफोर्स के फाइटर जेट ने बालाकोट के आतंकी शिविरों पर हमला कर उन्हें तबाह कर दिया.

ये भी पढ़ें:

‘क्रिमिनल’ नेताओं को क्यों टिकट देती हैं पॉलिटिकल पार्टियां
कैसी है ‘केम छो ट्रंप’ की तैयारी, क्यों खास है अमेरिकी राष्ट्रपति का भारत दौरा
जब 22 साल की एक लड़की ने खुफिया रेडियो सेवा शुरू कर अंग्रेजों को दिया था चकमा
Delhi Results 2020: इंटरनेशनल मीडिया में केजरीवाल की जीत से ज्यादा पीएम मोदी की हार की चर्चा
कोरोनो वायरस के शक में दी जान, अफवाहों से बचें और ऐसे रखें खुद को संक्रमण से सुरक्षित

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नॉलेज से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 14, 2020, 10:06 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर