Home /News /knowledge /

VIDEO: एयर स्ट्राइक पर शहीद के बुजुर्ग पिता बोले- 'लड़ाई छिड़े तो हम सेना में जाने को तैयार हैं'

VIDEO: एयर स्ट्राइक पर शहीद के बुजुर्ग पिता बोले- 'लड़ाई छिड़े तो हम सेना में जाने को तैयार हैं'

पुलवामा हमले के ठीक बारहवें दिन भारत ने पाकिस्तान में जैश के ठिकानों को ध्वस्त कर दिया. शहीदों के परिजनों के जख्मों पर मानो मरहम लगा हो.

    14 फरवरी को जब लगभग पूरा देश वेलेंटाइन डे की खुमारी में डूबा हुआ था तभी कश्मीर के पुलवामा में दोपहर के 3.15 पर एक धमाका हुआ. ये बीते तीन दशकों में भारतीय सेना पर सबसे बड़ा आतंकवादी हमला था जिसमें सीआएपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए. इसके बाद से देश के कोने-कोने से एक ही आवाज आने लगी- शहादत का बदला. फास्ट फॉरवर्ड...! ठीक 12 दिनों बाद भारत ने पाकिस्तान में घुसकर जैश के ठिकानों को ध्वस्त कर दिया. शहीदों के परिजनों के जख्मों पर मानो मरहम लगा हो.

    कश्मीर में राजौरी इलाके में 25 और 26 की दरमयानी रात लोग सो नहीं सके. वहां के एक रहवासी ने बताया, यहां सारी रात हवाई जहाजों की आवाज होती रही. आधी रात में गोलाबारी की आवाज से पूरा आसपास दहल गया था. तब तो हम घरों से बाहर नहीं निकले लेकिन अगली रोज सुबह खबरों से पता चला कि हमारे हिंदुस्तान के 12 जहाजों ने पाकिस्तान में जाकर आतंकवादियों के ठिकानों को तबाह कर दिया. पुलवामा में हमारे जो जवान शहीद हुए थे, उनको ये सच्ची श्रद्धांजलि है.

    भारत-पाकिस्‍तान के बीच सबसे खतरनाक है बॉर्डर, ये है सुरक्षा इंतजाम!

    राजौरी सेक्टर में आईईडी ब्लास्ट में मेजर चित्रेश बिष्ट मूलरूप से उत्तराखंड के थे. एयर स्ट्राइक की खबर के बाद शहीद के पिता ने तसल्ली जताते हुए कहा कि काश ये एक्शन पहले ले लिया जाता. अपने बेटे की बहादुरी याद करते हुए वे भावुक हो कहते हैं, अगर भविष्य में सेना LoC पर आक्रमण की सोचती है तो हम प्रशिक्षित लोग हैं, हम दोबारा सेना में जाने को तैयार हैं.

    बिहार के पटना में शहीद संजय कुमार सिन्हा के परिजनों ने सेना की कार्रवाई पर संतोष जताते हुए पाकिस्तान को सचेत किया. शहीद के भतीजे ने आक्रोश से भरकर पाकिस्तान को ललकारते हुए कहा कि आप खुद अपने ठिकानों को खत्म कर दें वरना हम तैयार बैठे हैं. पूरे पाक में एक भी ठिकाना नहीं बचेगा. आपने 42 जानें ली हैं, हम उसमें एक शून्य और जोड़ देंगे.

    शहीद रतन ठाकुर मूलतः बिहार के भागलपुर से थे. शहादत के बाद से घर पर मातम छाया हुआ था. हालांकि भारतीय सेना की कार्रवाई के बाद बुजुर्ग माता-पिता को थोड़ा ढांढस मिला है. शहीद के पिता कहते हैं, ईंट का जवाब पत्थर से मिलना चाहिए जबतक कि पाकिस्तान से आतंकवाद खत्म न हो जाए. इसके लिए हम बड़ी से बड़ी कुर्बानी देने को तैयार हैं.

    F-16 की इस खासियत पर इतराता है पाकिस्तान, जिसे आज भारत ने मार गिराया

    Tags: Indian army, Jaish e mohammad, Jammu, Jammu and kashmir, Pakistan army, Pulwama, Pulwama attack, Surgical Strike

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर