होम /न्यूज /ज्ञान /

क्या बारिश का पानी पिया जा सकता है, कितना शुद्ध होता है ये?

क्या बारिश का पानी पिया जा सकता है, कितना शुद्ध होता है ये?

बारिश के पानी (Rainwater) की शुद्धता की सच्चाई कम लोग जानते हैं. (प्रतीकात्मक तस्वीर: shutterstock)

बारिश के पानी (Rainwater) की शुद्धता की सच्चाई कम लोग जानते हैं. (प्रतीकात्मक तस्वीर: shutterstock)

शुद्ध पानी (Pure Water) की उपलब्धता पूरे संसार में एक बड़ा मुद्दा है. लोग आज कर बारिश के पानी (Rainwater) को भी शुद्ध नहीं मानते हैं. लेकिन कम लोग जानते हैं और समझ पाए हैं कि पृथ्वी (Earth) पर पानी का शुद्धतम रूप बारिश का पानी है. लेकिन प्रदूषण आदि धारणाओं के चलते लोग मान लेते हैं कि बादलों से गिरने वाला पानी वायु प्रदूषण के कारण प्रदूषित हो जाता है. लेकिन यह पूरा सच नहीं है.

अधिक पढ़ें ...

    पानी (Water) तो पृथ्वी पर प्रचुर मात्रा में है, लेकिन स्वच्छ, पीने योग्य और सुरक्षित पानी (Safe and drinking Water) दुर्लभ है. दुनिया के बहुत से लोग साफ और सुरक्षित पानी से आज भी वंचित हैं. लेकिन साफ पानी हासिल करना इतना मुश्किल भी नहीं है. पानी के कई स्रोत होते हैं जिनमें महासागर, नदी, तालाब, जमीन के अंदर का पानी, बारिश का पानी (Rainwater) प्रमुख हैं. लेकिन यह अक्सर विवाद का  ही विषय होता है कि शुद्ध और साफ पानी कहां से मिल सकता है. यहां हम बात करेंगे कि बारिश का पानी कितना शुद्ध होता है और क्या वह पीने योग्य होता भी है या नहीं और उसका वायु प्रदूषण से क्या संबंध है.

    सबसे शुद्ध रूप
    बारिश के  पानी को लेकर लोगों में कई तरह की भ्रांतियां हैं, लेकिन सच यही है कि यही पानी का सबसे शुद्ध रूप होता है.  एक समय था पानी की कमी नहीं मानी जाती थी. तालाब, कुएं नदी सब जगह पर पानी उपलब्ध होता था. छोटी छोटी नदियां तक 12 महीने बहा करती थीं. बारिश के पानी में बच्चे नहाया करते थे और अपना मुंह खोल कर पानी पी लिया करते थे. उन्हें बारिश का पानी साफ है कि नहीं सोचने की जरूरत नहीं पड़ती थी.

    बोतलबंद पानी की शुरुआत
    आज हम धीरे धीरे शुद्ध पानी के नाम पर बोतलबंद पानी को ही प्राथमिकता देते हैं. बारिश आते ही हम बच्चों से कहते हैं कि बारिश में ना रहो बल्कि अंदर आ जाओ. लेकिन क्या आज किसी से कहा जा सकता है कि बोतलबंद पानी की जगह बारिश का पानी पीजिए. लेकिन इस बात के प्रमाण हैं जो दर्शाते हैं कि बोतलबंद पानी की शुरुआत बारिश के पानी से हुई थी.

    बारिश के पानी की शुद्धता
    नदियों और नहरों में अधिकांश पानी बारिश का पानी होता है. यहां तक का नलों में आने वाला पानी का मुख्य स्रोत बारिश होता है. प्राकृतिक संसार में भी चल चक्र में शीर्श पर बारिश का पानी होता है. बादलों में पानी पहुंचता है वह वाष्पीकरण की प्रक्रिया से पहुंचता है जिसके बाद बारिश के जरिए धरती पर पहुंचने तक वह शुद्ध ही रहता है.

    Earth, Water Crisis, Rainwater, Drinkable Water, Safe Water, Water Cycle, Rainfall, Precipitation, Evaporation,

    बारिश के पानी (Rainwater) को बहुत से शिक्षित लोग भी शुद्ध नहीं मानते हैं. (प्रतीकात्मक तस्वीर: shutterstock)

    प्रदूषित कैसे होता है पानी
    दुनिया में धरती पर कोई पानी हो, वह बारिश के पानी से ही आया है.  जब वजह जमीन के अंदर जाता है तो मिनिरल वाटर हो जाता है क्योंकि उसमें जमीन के नीचे के खनिज घुल जाते हैं. ये पानी फिर भी तुलनात्मक रूप से पाने के लिहाज से सुरक्षित और साफ होता है. बारिश का पानी जहां जाता है उसी के अनुकूल हो जाता है. कचरे पर गिरता है तो वह प्रदूषित हो जाता है.

    यह भी पढ़ें: क्या भविष्य की बाढ़ों को कमतर आंक रहे हैं जलवायु प्रतिमान?

    सबसे शुद्ध कब होता है बारिश का पानी
    यह भी एक सच है कि पानी जितना फैलता है यानि ज्यादा जगह जाता है उसमें प्रदूषण मिलने की संभावना ज्यादा होती जाती है. और उसके बाद हमें उसके शुद्धिकरण की कीमत अदा करते हैं. इस तरह सबसे शुद्ध पानी बारिश का वह पानी होता है जो जमीन पर नहीं पहुंच हो. प्राकृतिक रूप से यही सबसे शुद्ध पानी होता है. इसलिए हमें इसे प्रदूषित होने से पहले ही हासिल करने के प्रयास करना चाहिए.

    Earth, Water Crisis, Rainwater, Drinkable Water, Safe Water, Water Cycle, Rainfall, Precipitation, Evaporation,

    बारिश का पानी (Rainwater) कई समस्याओं के एक साथ सुलझा सकता है. (प्रतीकात्मक तस्वीर: shutterstock)

    लेकिन वायु प्रदूषण का क्या
    ये आशंका पूरी तरह से गलत नहीं है कि वायु प्रदूषण का असर बारिश पर होता है. लेकिन वास्तविकता है कि बारिश का असर प्रदूषण पर होता है. क्यों कि प्रदूषण वाले हिस्से पर ऊपर से बारिश गिरती है. हां कई प्रदूषक उसमें घुल जाते हैं  लेकिन ऐसा पूरी बारिश भर नहीं होता है मुश्किल  से आधा घंटा भी नहीं लगता है कि लागातार बारिश प्रदूषण से मुक्त हो जाती है यानि अगर हम बारिश के पानी की शुद्ध कह रहे हैं तो मौसम की पहली बारिश के अलावा बारिश के पानी की बात कर रहे हैं.

    यह भी पढ़ें: क्या है वो डेरेचो तूफान, जिसने अमेरिका के आसमान को हरा कर दिया

    ऐसे में साफ है कि हमारे ऊपर एक शुद्ध पानी का बहुत बड़ा स्रोत है वह भी मानसून में तो बहुत ही बढ़िया स्रोत बन जाता है लागातार बारिश के बाद यह ज्यादा शुद्ध समझा जा सकता है. वहीं हर बारिश में पानी पहले से ही अम्लीय होता है और ऐसिड रेन यानी अम्लीय बारिश कम से कम हमारे शरीर के लिए नुकसानदेह नहीं होती है. समय आ गया है कि लोग बारिश के पानी के प्रति जागरूक हों  जिससे पानी से संबंधित कई समस्याएं एक साथ सुलझ सकेंगीं.

    Tags: Clean water, Drinking Water, Earth, Research, Science, Water

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर