Home /News /knowledge /

कोरोना के चलते कई देशों में शराब यूं परोसने लगे हैं रोबोट

कोरोना के चलते कई देशों में शराब यूं परोसने लगे हैं रोबोट

दुनिया में काफी पहले से रोबोटिक बार टेंडर (Robotic Bar Tender) केप्रयोग चल रहे थे, लेकिन कोविड-19 के बाद यह चलन में दिखने लगा है. (प्रतीकात्मक तस्वीर: shutterstock / Antonello Marangi)

दुनिया में काफी पहले से रोबोटिक बार टेंडर (Robotic Bar Tender) केप्रयोग चल रहे थे, लेकिन कोविड-19 के बाद यह चलन में दिखने लगा है. (प्रतीकात्मक तस्वीर: shutterstock / Antonello Marangi)

कोविड-19 (Covid-19) महामारी के बाद दुनिया भर में सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) के नियम का असर व्यवासायों पर पड़ा है जिसकी वजह से अब कई देशों के बार में रोबो बारटेंडर (Robo Bartender) दिखने लगे हैं.

    कोविड-19 (Covid-19) महामारी ने दुनिया को बहुत बदल कर रख दिया है. जहां इस महामारी ने दुनिया की अर्थ व्यवस्था को धीमा किया है तो उसके साथ ही  व्यवसायी तौर तरीकों में भी बदलाव देखने को मिल रहे हैं. दक्षिण कोरिया में सोशल डिस्टेंसिंग खत्म होता नहीं दिख रहा था. वहां अब बार (Bars) में बारटेंडर इंसान नहीं बल्कि रोबोट होने लगे हैं. अमेरिका में भी रोबोटिक बार टेंडर (Robotic Bar Tenders) दिखने लगे हैं. अभी तक यहां के बार मालिक इनके महंगे होने कारण इन्हें खरीदने से कतराते थे, लेकिन अब कंपनियां खुद ही इनकी कीमतों को कम करने पर काम रही हैं. और ये अब मिलने भी लगे हैं.

    सोशल डिस्टेंसिंग की वजह से
    इन रोबो बार टेंडर इंसानों से बहुत बेहतर और ज्यादा कारगर तरीके से काम करते हैं. मिसाल के तौर पर कोरिया के बार में काम करने वाला रोबोट बहुत ही कम समय में इंसानों की ही तरह से बोतलें उछाल कर बर्फ काटकर कॉकटेल बना लेता है. कोरिया में अब कोविड-19 की वजह से आई सख्त सोशल डिस्टेंसिंग की जगह सरकार द्वारा प्रोत्साहित “डिस्टेंसिंग इन डील लाइफ” ले रही है.

    इंसानी बार टेंडर वाली फीलिंग
    कोरिया में जो रोबो बारटेंडर काम कर रहे हैं वे काफी कुछ इंसानों का सा अहसास देने का प्रयास करते हैं. उनके कॉकटेल बनाने के तरीके भी काफी कुछ वैसे ही हैं जैसे इंसानी बार टेंडर के होते हैं इतना ही नहीं, वे ग्राहकों से कुछ चुनिंदा कोरियन भाषा में खूबसूरत अंदाज में बात भी करते दिखाई देते हैं.

    शुरुआत तो पहली ही हो गई थी
    इन कोरियान बारटेंडर को यहां कैबो कहा जाता है, साल 2017 में इनकी शुरुआत हुई थी. लेकिन अब कोरोना वायरस के कारण इनकी संख्या तेजी से बढ़ती दिख रही है जिससे मनोरंजन के लिए बार में लोगों को बिना सोशल डिस्टेंसिंग की चिंता किए, आने का मौका मिल सके.

    World, Covid-19, Robots, Bars, Robotic Bar tender, Robot Serving drinks, Robo bartenders, bar Tendering, South Korea, USA,

    हाल ही में रोबोटिक भुजाओं वाली बार टेंडरिंग मशीन (Bar Tendering Machine( का चलन बढ़ा है. (प्रतीकात्मक तस्वीर: shutterstock / Adrian Mars)

    कम हो रही है इनकी कीमतें
    ऐसा ही कुछ लास वेगास के बार में टिप्सी रॉबोट भी कर रहे हैं, बस फर्क इतना है कि वे इंसानों की तरह नहीं दिखते हैं. अभी तक इनकी कीमतें 10 लाख डॉलर से भी ज्यादा थी, लेकिन हाल ही में मैकर शैकर ने केवल एक लाख 15 हजार डॉलर की ड्रिंग सर्विंग मशीन बनाई है. एक न्यूयॉर्क के स्टार्टअप ने तो जदल्दी ही केवल ढाई हजार में माइक्रोवेव के आकार का रोबोट बारटेंडर उपलब्ध कराने का वादा किया है. इतना ही नहीं इनका घरेलू संस्करण तो केवल  एक हजार पचास डॉलर है.

    जानिए तर्क करते समय क्यों चिल्लाने लगते हैं हम इंसान

    सुरक्षा का अहसास
    कोरिया के मानव बारटेंडर चोई वुन वू का कहना है कि चूंकि जगह इंसानों से भरी रहती है, ग्राहक बहुत ही असहज महसूस करता है. वू को लगता है कि रोबोट के होने से ग्राहक ज्यादा सुरक्षित महसूस करेंगे. जो इंसानी बार टेंडर के सर्व करने से महसूस नहीं किया जा सकता है.

    World, Covid-19, Robots, Bars, Robotic Bar tender, Robot Serving drinks, Robo bartenders, bar Tendering, South Korea, USA,

    इस तरह की बार टेंडरिंग मशीन (Bar Tendering Machine) की कीमतों में भी गिरावट आ रही है. (प्रतीकात्मक तस्वीर: shutterstock)

    यह खामी भी
    फिर भी ऐसा नहीं है कि ग्राहक इन रोबो बारटेंडर से हर तरह से खुश हैं. कई लोगों को मानना है कि रोबोट बारटेंडर से आप बात नहीं कर सकते.  यह काफी निराशाजनक हो सकता है. बार में जाकर कई बार ग्राहक उम्मीद करते हैं वे ड्रिंक्स के बार में बात करें उनके बारे में संदेह दूर करें. ऐसा रोबो बार टेंडर कर सकेंगे अभी मुश्किल ही दिखता है.

    जानिए क्या हैं ऑस्ट्रेलिया-नासा के नए अंतरिक्ष करार के मायने

    एक सवाल यह भी है कि क्या इससे लोगों की नौकरी खत्म होने लगेगी. जहां इस तरह की दुनिया में रोबो वेटर्स बनने से भी है, वहीं कुछ बार मालिकों का कहना है कि बात स्टाफ बदलने की नहीं बल्कि बेहतर सेवाएं देने की है. इंसानी बारटेंडर का फिर भी बार में बहुत काम निकल सकता है. लेकिन उम्मीद की जा रही है कि रोबो बारटेंडर का बाजार बढ़ना तय है. और समय के साथ वे और बेहतर हो सकेंगे.

    Tags: COVID 19, Research, Robot, Science, World

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर