Home /News /knowledge /

Sarson Tel Ka Bhav: सरसों तेल के भाव में लगी है आग, लेकिन अमेरिका में क्यों है प्रतिबंधित?

Sarson Tel Ka Bhav: सरसों तेल के भाव में लगी है आग, लेकिन अमेरिका में क्यों है प्रतिबंधित?

प्रतीकात्मक तस्वीर.

प्रतीकात्मक तस्वीर.

Sarson Tel Ka Bhav: देश में सरसों तेल की कीमतों में आग लगी हुई है. बाजार में इस वक्त एक लीटर सरसों का तेल (Mustard Oil Retail Price) करीब 225 रुपये लीटर है. यही तेल (Mustard Oil Benefits) इस साल की शुरुआत में 130-140 रुपये लीटर बिक रहा था. हालांकि बीते कुछ दिनों में सरसों तेल को छोड़कर अन्य खाद्य तेलों (Edible Oils Price) के भाव में नरमी देखी गई है.

अधिक पढ़ें ...

    Sarson Tel Ka Bhav: देश में सरसों तेल की कीमतों में आग लगी हुई है. बाजार में इस वक्त एक लीटर सरसों का तेल (Mustard Oil Retail Price) करीब 225 रुपये लीटर है. यही तेल (Mustard Oil Benefits) इस साल की शुरुआत में 130-140 रुपये लीटर बिक रहा था. हालांकि बीते कुछ दिनों में सरसों तेल को छोड़कर अन्य खाद्य तेलों (Edible Oils Price) के भाव में नरमी देखी गई है.

    भाव पर काबू पाने के लिए सरकार ने आयात शुल्क में कटौती की है, जिसका असर घरेलू बाजार पर पड़ा है. ये तो रही खाद्य तेल की बात लेकिन आज हम सरसों तेल से जुड़ी एक दूसरी बात करने जा रहे हैं. आपको आश्चर्य होगा कि जिस सरसों तेल को भारत में सबसे बेहतर खाद्य तेल माना जाता है उस पर अमेरिका में प्रतिबंध लगा हुआ है.

    अमेरिका में क्यों प्रतिबंधित है सरसों तेल
    अमेरिका में अगर आप सरसों तेल खरीदेंगे तो उस पर आपको यह लिखा मिलेगा कि ‘यह केवल एक्सटर्नल यूज के लिए है’. यानी आप वहां केवल इस तेल का इस्तेमाल मसाज के लिए कर सकते हैं.

    अमेरिका के फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (एफडीए) ने सरसों के तेल को एक खाद्य तेल के रूप में इस्तेमाल करने पर रोक लगा रखा है. एडमिनिस्ट्रेशन के मुताबिक सरसों के तेल के इस्तेमाल से आपके स्वास्थ्य को खतरा हो सकता है.

    दरअसल, सरसों के तेल में काफी मात्रा में मोनोअनसैचुरेटेड फैटी एसिड (Monounsaturated Fatty Acids) पाया जाता है. यह ओलेइस एसिड (oleic acid), लिनोलेइक एसिड (oleic acid) और इरूकिक एसिड (erucic acid) होता है.

    शरीर को मोनोअनसैचुरेटेड फैटी एसिड की जरूरत
    वैसे तो हमारे शरीर को मोनोअनसैचुरेटेड फैटी एसिड की जरूरत होती है. यह एक ऐसा वसा यानी फैट होता है तो शरीर के अंदर मौजूद बुरे वसा (Bad Fat) को कम करता है, लेकिन एफडीए के अनुसार Erucic Acid का ज्यादा इस्तेमाल इंसान के लिए ठीक नहीं है. इसका ज्यादा इस्तेमाल खतरनाक हो सकता है.

    सरसों के तेल में 20 से 40 फीसदी तक Erucic Acid पाया जाता है. जानवरों पर इसको लेकर किए गए परीक्षण में पाया गया है कि इससे उनमें पोषक तत्वों की कमी हो जाती है और दिल को नुकसान पहुंचता है.

    अमेरिका की एक पत्रिका मेडिकल न्यूज टुडे ने भी इस बारे में लिखा है कि खास उम्र के लोगों के लिए Erucic Acid का उच्च स्तर खतरनाक हो सकता है. जैसे कि बच्चे.

    भारत में सरसों तेल की खपत
    भारत सहित पड़ोसी राज्यों पाकिस्तान और बांग्लादेश में भी बडे़ पैमाने पर सरसों तेल का इस्तेमाल किया जाता है. भारत सरकार ने इस साल 8 जून से सरसों तेल में किसी भी प्रकार के अन्य तेल की मिलावट पर पूरी तरह रोक लगा दी. पहले सरसों तेल में पाम और राइस ब्रांड तेल को मिलाया जाता था. वैसे 1990 में सरकार ने ही सरसों तेल में अन्य खाद्य तेलों को मिलाने की अनुमति दी थी.

    Tags: Edible oil, Mustard Oil

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर