• Home
  • »
  • News
  • »
  • knowledge
  • »
  • Science News Today: धरती से परे कहीं और भी है जीवन! वैज्ञानिकों ने पकड़ा ये खास रेडियो सिग्नल

Science News Today: धरती से परे कहीं और भी है जीवन! वैज्ञानिकों ने पकड़ा ये खास रेडियो सिग्नल

रेडियो सिग्नल से पता चलता है कि हमारे सौर मंडल से बाहर कई तारे और उनके ग्रह हैं जहां जीवन संभव हो सकता है.

रेडियो सिग्नल से पता चलता है कि हमारे सौर मंडल से बाहर कई तारे और उनके ग्रह हैं जहां जीवन संभव हो सकता है.

Science News Today 12th October 2021: धरती से परे किसी अन्य ग्रह पर जीवन है या नहीं? यह सवाल सदियों से एक रहस्य बना हुआ है. लेकिन, वैज्ञानिकों ने एक ऐसा रेडियो संदेश पकड़ा है, जिसके आधार पर दावा किया जा रहा है कि इस ब्रह्माण्ड में कहीं न कहीं जीवन मौजूद है.

  • Share this:

    Science News Today 12th October 2021: धरती से परे किसी अन्य ग्रह पर जीवन है या नहीं? यह सवाल सदियों से एक रहस्य बना हुआ है. लेकिन, वैज्ञानिकों ने एक ऐसा रेडियो संदेश पकड़ा है, जिसके आधार पर दावा किया जा रहा है कि इस ब्रह्माण्ड में कहीं न कहीं जीवन मौजूद है.

    दरअसल, अंतरिक्ष वैज्ञानिकों ने पहली बार उन तारों का पता लगाया है जो रेडियो सिग्नल भेज रहे हैं. उनके इस रेडियो संदेश से पता चलता है कि उनके आसपास छिपे हुए ग्रह मौजूद हैं.

    वैज्ञानिकों ने इन सिग्नलों को दुनिया के सबसे ताकतवर रेडियो एंटेना के जरिए पकड़ा है. यह निम्न फ्रीक्वेंसी वाला एंटेना (Low-Frequency Array) नीदरलैंड में स्थापित है.

    धरती से परे जीवन संभव
    इस बारे में यूनिवर्सिटी ऑफ क्वीन्सलैंड के डॉ. बेंजामिन पोप और उनकी टीम का कहना है कि छिपे हुए ग्रहों को खोजने की इस नई तकनीक से ब्रह्माण्ड में कहीं और जीवन मौजूद होने की संभावना और मजबूत हो रही है. यही सवाल आज की तारीख में खगोल विज्ञान के लिए सबसे बड़ा सवाल है.

    अंतरिक्ष वैज्ञानिक Low-Frequency Array तकनीक के जरिए ही ब्रह्माण्ड में अन्य ग्रहों की खोज कर रहे हैं.

    रिपोर्ट के मुताबिक अंतरिक्ष वैज्ञानिकों ने 19 सुदूर रेड ड्वार्फ सिग्नलों को पकड़ा है. इनमें से चार सिग्नलों से यह स्पष्ट तौर पर पता चलता है कि उन तारों के आसपास ग्रह मौजूद हैं.

    शक्तिशाली रेडियो तरंगें
    अंतरिक्ष वैज्ञानिकों का कहना है कि हम काफी समय से जानते हैं कि हमारे अपने सौर मंडल के ग्रह शक्तिशाली रेडियो तरंगे भेजते हैं, क्योंकि इनका चुंबकीय क्षेत्र सौर हवा से मिलते हैं. लेकिन हमारे सौर मंडल से बाहर के ग्रहों से निकलने वाली रेडियो तरंगों को अभी तक नहीं पकड़ा गया था. इससे पहले अंतरिक्ष वैज्ञानिक केवल हमारे सौर मंडल के सबसे करीब तारों के बारे में ही खोज कर पाए थे.

    नेचर एस्ट्रोनॉमी पत्रिका में प्रकाशित एक अध्ययन में कहा गया है कि वैज्ञानिक इस बात को लेकर पूरी तरह आश्वस्त हैं कि ये चुबंकीय तरंगें तारों से आ रही हैं और वहां चक्कर लगाने वाले ग्रह मौजूद हैं.

    इस अध्ययन के प्रमुख और लेडेन यूनिवर्सिटी (Leiden University) के अंतरिक्ष वैज्ञानिक डॉ. जोसेफ कैलिंघम का कहना है कि हमारी अपनी धरती में दो अरुणोदय (auroras) बिंदु जिसे आम भाषा में उत्तरी और दक्षिणी प्रकाश कहा जाता है. इससे भी शक्तिशाली रेडियो तरंगें निकलती हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज