• Home
  • »
  • News
  • »
  • knowledge
  • »
  • अब मंगल पर भी रहना होगा मुमकिन! वैज्ञानिकों ने ढूंढ ली है वहां सुरक्षित जगह

अब मंगल पर भी रहना होगा मुमकिन! वैज्ञानिकों ने ढूंढ ली है वहां सुरक्षित जगह

अभी तक मंगल पर  केवल कुछ अंतरिक्ष यान ही उतरे हैं लेकिन वहां कोई इंसान नहीं गया है. . (प्रतीकात्मक तस्वीर)

अभी तक मंगल पर केवल कुछ अंतरिक्ष यान ही उतरे हैं लेकिन वहां कोई इंसान नहीं गया है. . (प्रतीकात्मक तस्वीर)

वैज्ञानिकों ने मंगल (Mars) पर ऐसी जगह ढूंढ निकाली है जहां वहां जाने वाले शोधकर्ताओं के रहने के साथ एक स्थायी मानवीय कैम्प बनाना संभव हो सकता है.

  • Share this:
नई दिल्ली: ज्यादा नहीं कुछ साल पहले ही लोगों को चांद (Moon) पर रहना नामुमकिन लगता था. लेकिन अब अमेरिका चांद पर बस्ती बसाने की तैयारी कर रहा है. वह इसके लिए अरबों रुपये खर्च भी कर रहा है. कुछ ही सालों में मंगल ग्रह (Mars) पर भी इंसान पैर रखता दिखाई दे सकता है. वैज्ञानिकों ने तो वह इलाका भी ढूंढ लिया है जो इंसानों के रहने लिए मंगल ग्रह की सबसे सुरक्षित जगह है.

अंतरिक्ष अभियानों में आ रही है गति
दुनिया भर के वैज्ञानिक अंतरिक्ष में अपने अभियानों में तेजी ला रहे हैं. नासा के अपने अभियान हैं तो चीन भी मंगल पर यान भेजने की  तैयारी कर रहा है. वह चांद पर अपने महत्वाकांक्षी अभियानों में लगा है. भारत ने भी चंद्रमा पर अपने अंतरिक्ष यात्री भेजने की तैयारी जारी रखी है. इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन से यात्रियों का आना जाना आम सी बात हो गई है.

मंगल पर होना है बहुत अध्ययन
इस समय वैज्ञानिकों का फोकस चांद के साथ ही मंगल पर है. नासा के कई अभियान मंगल पर पहले ही काम कर रहे हैं. जुलाई में नासा का पर्सिवियरेंस रोवर प्रक्षेपित होने वाला है जो वहां से मिट्टी के नमूने लाने की तैयारी करेगा. इन तमाम शोध के साथ वैज्ञानिक इस बात की भी पड़ताल कर रहे हैं कि मंगल ग्रह में किस जगह पर वैज्ञानिक सुरक्षित रह सकते हैं जिससे वे कुछ समय के लिए वहां शोध कर सकें.

MARS
मंगल पर अधिकतम तापमान -48 डिग्री होता है.


अभी तो कई खतरें हैं लेकिन एक जगह है
फिलहाल मंगल की सतह पर ऐसी कोई जगह नहीं हैं जहां कैम्प लगाया जा सके. लेकिन शोधकर्ता पिछले कुछ समय से वहां ऐसे जगह तलाश रहे हैं जो मंगल पर जाने वाले वैज्ञानिकों के लिए सबसे सुरक्षित हो. उन्होंने इसकी खोज भी कर ली है. यह हेलास प्लैनिटिया नाम के बेसिन के निचले इलाके में स्थित है जो उल्का पिंड के टकराने से बना है.

क्यों मुश्किल हैं वहां रहना
मंगल पर कहीं भी रहना आसान नहीं है क्योंकि सतह सूखी है. वहां ऑक्सीजन नहीं है और सूर्य कि किरणें सीधी (अल्ट्रावॉयलेट किरणों सहित) वहां पहुंचती हैं. ऐसे में मंगल पर पहुंचकर जिंदा बने रहना बहुत ही खतरनाक साबित होगा. नासा इस पर भी लंबे समय से शोधरत है कि ऐसे हालात में कैसे शोधकर्ता वहां टिक सकते हैं.

ये हैं बड़े खतरे
नासा को पृथ्वी के बाहर ऑक्सीजन, खाना-पानी ले जाने का अनुभव है, लेकिन विकिरणों से बचना के लिए अनुभव नहीं है. दरअसल पृथ्वी का एक मैग्नेटिक आवरण, मैग्नेटोस्फियर अंतरिक्ष से आने वाले खतरनाक विकिरणों से हमारी रक्षा करता है. इसके बिना इलेक्ट्रोमैग्नेटिक किरणें हमारी कोशिकाएं और डीएनए को नष्ट कर देंगीं. इसमें आयनित कम, सौर पवनें और अन्य किरणें हमारी मुश्किलें बढ़ाएंगी. इसके अलावा सौर तूफान एक ही झटके में मंगल पर हमारे आवास को समूल नष्ट कर सकते हैं.

Mars
मंगल पर खतरनाक किरणें रोकने का कोई साधन नहीं हैं.


ट्यूब या सुरंगें
शोध के मुताबिक हेलास के मैदान पर लावा के ट्यूब या सुरंगे हैं जो हमारे लिए मददगार हो सकती हैं. यह सुरंगें उल्कापिंडों के खतरे, मंगल की सतह पर मौजूद खतराक पदार्थ और सतह के बहुत कम तापमान से भी बचाव कर सकती हैं. ये सुरंगे या टयूब कई साल पहले फूटे ज्वालामुखियों के लावा से बनी थीं. अब लावा उनसे नहीं बहता तो अब ये ट्यूब या सुरंगों के आकार में हैं.

उम्मीद से ज्यादा काम आ सकती हैं ये सुरंगे
शोधकर्ताओं का कहना है कि इस बात पर कोई हैरानी नहीं होनी चाहिए कि इन सुरंगों में लंबे समय तक स्थायी कैम्प बनाए जा सके. अगर इन सुरंगों को सील कर मजबूत किया जा सका, तो सामान्य मानव जीवन का वातावरण भी यहां निर्मित किया जा सकता है.

जिस तरह चांद पर कैम्प बनाना किसी सपने से कम नहीं लगता था. हैरानी की बात नहीं होनी चाहिए कि जल्द ही हम मंगल पर भी कैम्प बनाने की तैयारी कर रहे हों. स्पेस टूरिज्म अंतरिक्ष की तरह अनंत होने जा रहा है.

यह भी पढ़ें:

जल्द ही इंटरनेट की स्पीड 5G से भी होगी तेज, इस आविष्कार ने जगाई उम्मीद

जानिए क्या है डार्क मैटर और क्यों अपने नाम की तरह है ये रहस्यमय

चीनी रॉकेट के अवशेष अटलांटिक महासागर में गिरे, जानिए क्या थी इसमें खास बात

मंगल पर है पानी, फिर जीवन होने की संभावना है कम, जानिए क्यों है ऐसा

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज