• Home
  • »
  • News
  • »
  • knowledge
  • »
  • वैज्ञानिकों ने दिया चांद पर लाखों शुक्राणु-प्रजनन कोशिकाएं सहेजने का प्रस्ताव

वैज्ञानिकों ने दिया चांद पर लाखों शुक्राणु-प्रजनन कोशिकाएं सहेजने का प्रस्ताव

वैज्ञानिकों का कहना है कि चंद्रमा (Moon) पर सुरक्षित जगहों पर पृथ्वी की जैवविविधता को संरक्षित रखा जा सकता है.  (फाइल फोटो)

वैज्ञानिकों का कहना है कि चंद्रमा (Moon) पर सुरक्षित जगहों पर पृथ्वी की जैवविविधता को संरक्षित रखा जा सकता है. (फाइल फोटो)

वैज्ञानिकों ने प्रस्ताव दिया है कि चंद्रमा (Moon) पर पृथ्वी (Earth) के लाखों प्रजातियों (Species) के प्रजनन कोशिकाएं, शुक्राणु, अंडाणु आदी के नमूने संरक्षित किए जाने चाहिए.

  • Share this:
    पृथ्वी (Earth) के बाहर इंसानी बस्ती बसाने के प्रयास नजर आने लगे हैं. इतना ही नहीं कुछ समय में इसमें प्रतिस्पर्धा भी दिखाई देने वाले है, ऐसा भी लगने लगा है. अंतरिक्ष अन्वेषण (Space Exploration) को लेकर वैज्ञानिकों का लंबे समय से यह प्रयास है कि वे पृथ्वी से बाहर मानवों का और ठिकाने बन सकें. इस दिशा में आजकल वैज्ञानिकों के द्वारा बहुत सारे प्रयोग हो रहे हैं. इन्हीं में से एक के तहत वैज्ञानिक अब चंद्रमा (Moon) पर लाखों शुक्राणु और अंडाणु सहित प्रजनन कोशिकाएं (Reporductive Cells) भेजना चाहते हैं.

     एक जीन बैंक
    चंद्रमा बेशक अभी मानव के रहने के लिए आदर्श जगहों में से नहीं हैं लेकिन वैज्ञानिकों का कहना है कि यह हमारे बहुमूल्य स्रोतों के भंडार करने की एक आदर्श जगह हो सकता है. न्यूयॉर्क पोस्ट कि रिपोर्ट के मुताबिक वैज्ञानिकों ने यह प्रस्ताव दिया है कि चंद्रमा पर एक लूनार जीन बैंक की स्थापना की जाए.

    बीमा पॉलिसी
    इस बैंक के बारे मे प्रस्ताव देते हुए वैज्ञानिकों ने कहा कि इसमें पृथ्वी की 67 लाख प्रजातियों की  प्रजनन कोशिकाएं, शुक्राणु, अंडाणु, आदि के नमूने रखे जाएं जिसमें इंसान भी शामिल होंगे. इस बैंग को चंद्रमा पर बनाने बनाने की वकालत करते हुए वैज्ञानिकों का कहना है कि इसे आधुनिक वैश्विक बीमा पॉलिसी की तरह देखा जाना चाहिए.

    Moon, Earth, Space Exploration, Lunar Gene Bank, Sperms, Egg Samples, Reproductive cells, IEEE, Biodiversity,
    पृथ्वी की 67 लाख प्रजातियों की प्रजनन कोशिकाओं (Reproductive cells) को संरक्षित रखने की प्रस्ताव है. (प्रतीकात्मक तस्वीर: shutterstock)


    क्यों करना होगा ऐसा
    हाल ही में एक ऐरोस्पेस कॉन्फ्रेंस में एरिजोना यूनिवर्सिटी की टीम ने यह प्रस्ताव दिया है जिसके प्रमुख और मैकेनिकल एवं एसरोस्पेस इंजीन जीकन थांगा हैं. थांगा की टीम ने रिपोर्ट में कहा है कि इस लूनार जीन बैंक में लोगों शुक्राणु और अंडाणुओं के नमूनों का सुरक्षित रखा जाए. थांगा ने शनिवारको इस इंस्टीट्यूट ऑफ इलेक्ट्रिकल एंड इलेक्ट्रॉनिक इंजीनियर्स के इस कॉन्फ्रेंस में कहा कि पृथ्वी पर अस्थिरता  बढ़ रही है. ऐसे में पृथ्वी से बाहर इन नमूनों को सुरक्षित रखने की जरूरत है.

    बड़े जानवरों का विनाश जिम्मेदार था इंसानों के विकसित होने के लिए

    आपदा के समय संरक्षण
    अपने प्रस्तुति में थांगा ने इस कोष या बैंक के बारे में कहा कि वैश्विक आपदा के समय यह क्रायोजनिक तरीके से  बहुत सारी प्रजातियों को संरक्षित कर सकेगा. उन्होंने कहा, “हम अब भी उन्हें बचा सकते हैं जब तक कि तकनीकी विकास उन प्रजातियों को फिर से पैदा करने में सक्षम ना हो जाए.  यानि दूसरे शब्दों में उन्हें किसी और दिन के लिए बचाना है.

    Earth, Magnetic Field, Polarity, Climate, Geomagnetic Event, Adams Event, Laschamp Event, geomagnetic reversal, Carbon, Carbon Emission
    वैज्ञानिकों के मुताबिक पृथ्वी (Earth) के हालात हमें ऐसे कदम उठाने को मजबूर कर रहे हैं. (प्रतीकात्मक तस्वीर: shutterstock)


    चंद्रमा पर कहां रखा जा सकता इन्हें
    थांगा इस अध्ययन के पांच अन्य वैज्ञानिकों के साथ सहलेखक है. इसके मुताबिक ये लाखों की संख्याके नमूने चंद्रमा पर गड्ढों में रखे जाएंगे. यहे गड्ढे हाल ही में खोजा गए हैं, जिनके बारे में वैज्ञानिक मानते हैं कि वहां कभी अरबों साल पहले लावा बहा करता था. वैज्ञानिकों को लगता है कि ये गड्ढे कोशिका संग्रहण के लिहाज से आदर्श स्थिति में हैं. ये गड्ढे जमीन के नीचे 80 से 100 मीटर गहरे हैं और चंद्रमा की सतह से एक तैयार सुरक्षा प्रदान करते हैं. यहां तापमान में बदलाव के अलावा उल्कापिंडों और अंतरिक्ष विकिरणों से भी सुरक्षा मिलती है.

    जानिए गर्म महासागरों में क्या हाल हो रहा है बेबी शार्क की अस्तित्व की लड़ाई का

    अपनी प्रस्तुति में थांगा ने कहा कि 75 हजार साल पहले बहुत से पौधे और जानवर विलुप्त होने की स्थिति में आ गए थे. इससे एक हजार साल का कूलिंग पीरियड चला था. उन्होंने कहा कि इसी तरह की खतरनाक स्थिति मानवीय कारणों से भी पैदा हो सकती है जिसका हमें शायद पता तक नहीं हो. थांगा का जीन बैंक बनाने का प्रस्ताव नया नहीं है, लेकिन इसे चंद्रमा पर बनाना नया विचार है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज