• Home
  • »
  • News
  • »
  • knowledge
  • »
  • क्या कृष्ण सिर्फ भारतीय भगवान हैं?

क्या कृष्ण सिर्फ भारतीय भगवान हैं?

image source- pixel

image source- pixel

भारतीय राजनीति से अगर हट कर बात करें तो ये चर्चा लम्बे वक्त से चली आ रही है कि क्या हिंदू मिथक मिथ्या भर हैं

  • News18India
  • Last Updated :
  • Share this:
    भारतीय राजनीति से अगर हट कर बात करें तो ये चर्चा लम्बे वक्त से चली आ रही है कि क्या हिंदू मिथक मिथ्या भर हैं. क्या ये सच हैं या क्या ऐतिहासिक व्यक्तियों औऱ घटनाओं से प्रेरणा लेकर ये कालांतर में आज जैसे नज़र आने लगे हैं. तीन विषयों की तरफ देखा जाए तो ऐसा इशारा होता है कि प्राचीन ग्रंथ अगर पूरी तरह सटीक नहीं थे तो पूरी तरह काल्पनिक भी नहीं थे. इस बात से पूरी तरह इनकार नहीं किया जा सकता कि जिन चरित्रों का वर्णन हिंदू धर्म में किया गया है वो या उनसे मिलते जुलते कुछ अंश भारत की भौगोलिक सीमा से परे मिलते हैं. मसलन कृष्ण हिंदू धर्म के सबसे जटिल चरित्र के बारे में कई मान्यताएं हैं.

    क्या हरे कृष्ण और ग्रीक मिथक हरक्यूलिस की बीच सामांतर रेखा है ?

    उत्तर प्रदेश के मथुरा और आसपास के इलाकों में भी कृष्ण के जीवन से जुड़ी चीज़ों की मान्यता है लेकिन क्या हरे कृष्ण और ग्रीक मिथक हरक्यूलिस की बीच भी सामांतर रेखा है. ग्रीक दार्शनिक और यात्री मैगस्थनीज़ करीब 300 ईसा पूर्व भारत में आया. उसने यहां का वर्णन किया है. माना जाता है कि मैगस्थनीज़ भारत से हरेकृष्ण (कृष्ण) की कथा से प्रभावित हुआ और इसीलिए हरक्यूलिस और हरेकृष्ण एक जैसे ही लगते हैं. कृष्ण ने कालिया नाग को मौत के घाट उतारा था तो हरक्यूलिस ने हाइड्रा नाग को और हरक्यूलिस ने पृथ्वी अपने कंधे पर उठाई तो कृष्ण ने गोवर्धन पर्वत.

    हो सकता है ये महज़ इत्तेफ़ाक़ हो लेकिन हज़ारों मील दूर दो अलग सभ्यातओं के नायकों में समानता दिलचस्प ज़रूर है.

    क्या कहते हैं इतिहासकार ?

    कृष्ण ही नहीं कंस के राज्य के बारे में दिलचस्प समानता मिलती है. हालांकि कंस के राज्य के बारे में ज़्यादा जानकारी नहीं मिलती है. लेकिन ये बात तो तय है कि कंस की राजधानी मथुरा थी लेकिन ब्रिटिश इतिहासकार माइकल वुड ने कुषाण वंश और कंस की कहानी में समानता तलाशने की कोशिश की है. वुड के मुताबिक कुषाण और कंस दोनों ही भारतीय इतिहास से अचानक गायब हो गए. कंस भले ही मिथक हो लेकिन क्या कुषाण वंश की कहानी को आधार बना कर भारतीय समाज ने उसे अपना लिया. मथुरा नगरी कंस और कुषाण दोनों ही कहानियों में राजधानी के तौर पर स्थापित है.

    कुछ इतिहासकारों का मानना है कि कृष्ण असल में इंसान के जटिल चरित्र का प्रतिनिधित्व करते हैं. वो विडंबनाओं से भरे देवतां हैं. कई इतिहासकारों का ये भी मानना है कि महाभारत की कहानी में भारत की विविधताओं ने अपने अपने पात्र जोड़ दिए फिर भी हरक्यूलिस औऱ हरे कृष्ण के बीच की समानता दिलचस्पी ज़रूर पैदा करती है.

    हिंदू ईश्वर और ग्रीक मान्यता में है समानता ?

    हिंदू और ग्रीक पौराणिक कथाएं तीन देवताओं के ईद-गिर्द है. ये देवतां एक मार्ग दर्शक के रूप में रचे गए हैं. जैसे हिंदू धर्म में ब्रह्मा विष्णु और महेश हैं उसी तरह ग्रीक की पौराणिक कथाओं में ज़ीअस, हेडीज़ और पोसिडोन मुख्य चरित्र हैं. ग्रीक पौराणिक कथाओं के मुताबिक, ये तीनों ही देवता स्वर्ग का प्रतिनिधित्व करते हैं.

    (मोहित मिश्रा- लेखक वरिष्ठ टीवी पत्रकार हैं और न्यूज़18 इंडिया में कार्यरत हैं )

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज