कौन हैं नर्स पी निवेदा, जिन्होंने PM मोदी को कोरोना का टीका लगाया?

नर्स पी निवेदा को देश के प्रधानमंत्री को टीका देने के लिए चुना गया (Photo- twitter)

नर्स पी निवेदा को देश के प्रधानमंत्री को टीका देने के लिए चुना गया (Photo- twitter)

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 1, 2021, 11:57 AM IST
  • Share this:
आज 1 मार्च से कोरोना टीकाकरण का दूसरा चरण शुरू हो गया है. इस चरण में 60 साल के ऊपर के आयुवर्ग को वैक्सीन दी जाएगी. इसी कड़ी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोवैक्सीन की पहली डोज ली. उन्हें ये वैक्सीन एम्स में पुडुचेरी की नर्स पी निवेदा ने दी. टीका लगवाने के बाद से पीएम मोदी की वैक्सीन लेती हुई तस्वीरें वायरल हो चुकी हैं, जिसमें दो नर्सें दिख रही हैं. इनमें से एक नर्स पी निवेदा हैं, जबकि दूसरी केरल की नर्स हैं.

बीते दिनों छत्तीसगढ़ राज्य के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कोवैक्सीन पर अविश्वास जताते हुए टीके की खेप लेने से इनकार कर दिया. इसके बाद से विपक्षी दलों के कई नेता लगातार स्वदेशी टीके पर संदेह जताते दिखे. हालांकि अपनी बारी आने पर पीएम मोदी ने इसी वैक्सीन को चुना और टीका लिया. टीका लगवाने के बाद उन्होंने प्रोटोकॉल का पालन करते हुए एम्स में आधे घंटे इंतजार भी किया. टीका लेने के बाद मोदी ने तारीफ करते हुए कहा कि नर्स ने टीका लगा भी दिया और उन्हें पता भी नहीं चला.





इसके बाद से नर्स पी निवेदा चर्चा में हैं. वैसे उनके बारे में ज्यादा जानकारी सामने नहीं आ सकी लेकिन कुछ जानकारियां छिपते-छिपाते भी खुल गईं. पी निवेदा पुडुचेरी से हैं और पिछले तीन सालों से एम्स दिल्ली में काम कर रही हैं.
ये भी पढ़ें: जानें, भारत की उस भाषा के बारे में जो 7 देशों में बोली जाती है

एनडीटीवी की एक रिपोर्ट के मुताबिक नर्स आज भी आम दिनों की तरह वैक्सीन सेंटर में ड्यूटी पर थीं, जब उन्हें जानकारी मिली कि वे पीएम मोदी को टीका लगाने जा रही हैं. बता दें कि पीएम ने जान-बूझकर अलसुबह टीका ले लिया ताकि अस्पताल में आने वाले आम लोगों को कोई असुविधा न हो.

pm modi vaccine Sister P Niveda
पीएम मोदी ने टीकाकरण के दौरान नर्स से बातचीत भी की- सांकेतिक फोटो (pixabay)


पीएम मोदी ने टीकाकरण के दौरान नर्स से बातचीत भी की. खुद नर्स पी निवेदा के मुताबिक मोदी जी को टीका लगाना एक यादगार अनुभव रहा. टीकाकरण के दौरान उन्होंने नर्स से बात भी की और पूछा कि वे कहां से हैं. नर्स ने अपने बारे में बताते हुए ही पीएम को कोवैक्सीन की पहली डोज दे दी. इसके तुरंत बाद पीएम ने तारीफ करते हुए कहा- लगा भी दिया और पता भी नहीं चला. इसके बाद पीएम ने खुद ही वैक्सीन लगाती हुई तस्वीर ट्वीट की और वैज्ञानिकों की तारीफ करते हुए देशवासियों से अपील की वे बिना डरे कोरोना वैक्सीन लगवाएं.

ये भी पढ़ें: ISIS दुल्हन शमीमा, जिसे ब्रिटेन, नीदरलैंड और बांग्लादेश ने नागरिकता देने से मना कर दिया  

वैसे तस्वीर में नर्स पी निवेदा तो टीका दे रही हैं लेकिन पीछे एक और नर्स नजर आ रही हैं. वे रोसमम्मा अनिल हैं, जो केरल से हैं. वे भी वैक्सिनेशन ड्राइव का हिस्सा हैं. फिलहाल पीएम मोदी को कोवैक्सीन का पहला डोज दिया गया है और अगला डोज 28 दिन बाद दिया जाएगा.

दूसरे चरण में 60 से ऊपर के लोगों को टीका मिलेगा लेकिन 45 साल तक के बीमार लोगों को भी टीका मिलेगा- सांकेतिक फोटो (pixabay)


यहां कोरोना के टीके के बारे में ये जान लें कि दूसरे चरण में वैसे तो 60 से ऊपर के लोगों को टीका मिलेगा लेकिन 45 साल तक के कॉम्प्रोमाइज्ड सेहत वाले लोगों को भी टीका दिया जाएगा. यानी वे लोग जिन्हें सेहत से जुड़ी कोई क्रॉनिक समस्या हो, जैसे कैंसर, डायबिटीज, दिल की बीमारी या फिर किडनी प्रत्यारोपण आदि. सरकारी अस्पतालों में वैक्सीन मुफ्त दी जाएगी, वहीं निजी अस्पतालों में एक डोज की कीमत 250 रुपए होगी. यानी दोनों डोज मिलाकर 500 रुपए कीमत होगी, जिसके अलावा प्रति डोज 100 रुपए एडमिनिस्ट्रेशन फीस ली जाएगी.

ये भी पढ़ें: Explained: अमेरिका ने क्यों किया गृहयुद्ध में झुलस रहे सीरिया पर हमला?  

पहले चरण में केवल सरकारी अस्पतालों में कोरोना वैक्सीन दी जा रही थी लेकिन आबादी के लिहाज से इस रफ्तार को और बढ़ाने की जरूरत महसूस हुई. यही कारण है कि दूसरे फेज में सरकारी के अलावा प्राइवेट अस्पताल भी जोड़े गए. अब अभियान में तेजी लाने के लिए 10 हजार सरकारी केंद्रों, जबकि करीब 20 हजार प्राइवेट क्लिनिकों पर टीका लगाया जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज