कुछ ग्रह जीवन के लिए पृथ्वी से बेहतर हो सकते हैं, क्या कहता है इस पर यह शोध

शोधकर्ताओं ने ऐसे बाह्यग्रह (Exoplanets) खोजे हैं जिनमें जीवन की अनुकूलता (Habitability) पृथ्वी (Earth) से बेहतर है. (प्रतीकात्मक तस्वीर: Pixabay)
शोधकर्ताओं ने ऐसे बाह्यग्रह (Exoplanets) खोजे हैं जिनमें जीवन की अनुकूलता (Habitability) पृथ्वी (Earth) से बेहतर है. (प्रतीकात्मक तस्वीर: Pixabay)

पृथ्वी ( Earth) के बाहर जीवनयोग्य (Habitable) ग्रहों की खोज संबंधी शोध में पाया गया है कि कई बाह्यग्रह (Exoplanet) ऐसे हैं जहां के हालात इस मामले में पृथ्वी से बेहतर हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 7, 2020, 1:00 PM IST
  • Share this:
अभी तक जितने भी ग्रह (Planets) खोजे गए हैं उनमें जीवन के स्पष्ट संकेत (Clear Signs of life) नहीं मिल सके हैं. इस ग्रहों में वे बाह्यग्रह (Exoplanets) भी शामिल हैं जो हमारे सौरमंडल से दूर किसी दूसरे सौरमंडल का हिस्सा हैं. लेकिन ताजा शोध के नतीजों ने शोधकर्ताओं का यह सोचने पर विवश कर दिया है कि क्या कुछ ऐसे ग्रह भी हो सकते हैं जहां जीवन के अनुकूल परिस्थितियां (Habitability) पृथ्वी (Earth) से बेहतर हों. इस शोध ने इस तरह का एक नहीं बल्कि दो दर्जन ऐसे बाह्यग्रहों को खोजा जहां के हालात पृथ्वी से बेहतर हो सकते हैं.

एक नहीं कई ग्रह हैं ऐसे
वैज्ञानिकों के खोजे गए ग्रहों में से तो कई के सूर्य भी हमारे सौरमंडल के सूर्य से बेहतर स्थिति में हैं. हाल ही में एस्ट्रोबायोलॉजी जर्नल में प्रकाशित वॉशिंगटन स्टेट यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिक शुल्ज-माकुच की अगुआई वाले अध्ययन में उन ग्रहों के विस्तार से गुण बताए हैं जो सुपरहैबिटेबल यानि अतिआवासयोग्य ग्रह हो सकते हैं. इस श्रेणी में शामिल ग्रहों में कुछ पृथ्वी के मुकाबले थोड़े बड़े हैं, कुछ पुराने, थोड़े गर्म और गीले हैं.

कितने ग्रह हैं ऐसे
ऐसे ग्रहों पर जीवन आसानी से पनप सकता है जो उन तारों का चक्कर लगा रहे हैं जो धीरे-धीरे बदल रहे हैं और उनका जीवन हमारे सूर्य से ज्यादा लंबा है. इन सुपरहैबिटेबल ग्रहों में से शीर्ष 24 ग्रह हमसे करीब 100 प्रकाशवर्ष दूर स्थित स्थित हैं.



Earth, , Habitability, Life
इस ग्रहों (Planets) के बारे में शोधकर्ताओं का कहना है कि यहां जीवन का समर्थन करने वाले हालात पृथ्वी (Earth) से अच्छे हैं. (प्रतीकात्मक तस्वीर: Pixabay)


भविष्य में मिल सकेगी और जानकारी
शुल्ज-माकुच का कहना है कि ये ग्रह भविष्य के अवलोकन प्रयासों के लिए मददगार हो सकते हैं. खास तौर पर जब नासा के जेम्स वेब स्पेस टेलीस्कोप, लूवियर स्पेस ऑबजर्वेटरी या यूरोपीय स्पेस एजेंसी का प्लैटो स्पेस टेलीस्कोप अंतरिक्ष में प्रतिस्थापित होंगे.

लक्ष्य तय करना होगा
वॉशिंगटन स्टेट यूनिवर्सिटी और बर्लिन के टेक्निकल यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर शुल्ज-माकुच ने बताया, “आने वाले टेलीस्कोप से हमें ज्यादा जानाकारी मिलेगी इसलिए कुछ लक्ष्यों का तय करना बहुत अहम है. हमें कुछ ग्रहों पर ध्यान केंद्रित करना होगा जिसमें जटिल जीवन के लिए आशांवित संभावनाएं हैं. लेकिन हमें दूसरी पृथ्वी तक सीमित होने से बचने का प्रयास करना होगा. क्योंकि इस तरह के और भी ग्रहे हो सकते हैं जहां जीवन की अनुकूलता संभव है.

चांद और मंगल पर निर्माण के लिए किस खास तकनीक का उपयोग करेगा नासा

कब होता है कोई ग्रह सुपरहैबिटेबल
शोधकर्ताओं ने सुपरहैबिटेबिल्टी के लिए जरूरी स्थितियों की पहचान की और करीब 4,500 बाह्यग्रहों वाले अच्छे उम्मीदवारों की पड़ताल की. यहां यह जानना जरूरी है कि आवासयोग्यता का मतलब यह नहीं है कि ग्रह पर जीवन की उपस्थिति ही हो. केवल जीवन का समर्थन करने वाले हालातों का होना ही इसके लिए पर्याप्त है.

एक समस्या यह भी
हमारे सौरमंडल के सूर्य की उम्र 10 अरब साल से भी कम है जबकि उसके पैदा होने के 4 अरब साल बात पृथ्वी पर जीवन का कोई रूप सामने आ सका. हमारे सूर्य  की तरह बहुत से तारे हैं जिन्हें G तारे कहा जाता है लेकिन उनके सौरमंडल में जीवन पनपने से पहले ही उनका ईंधन खत्म हो सकता है.

Exoplanet, Habitability, Sun,
इन ग्रहों (Planet) की जीवन अनुकूलता (Habitability) का संबंध इनके सूर्य (Sun) की उम्र से भी है. (प्रतीकात्मक तस्वीर: Pixabay)


इन सिस्टम पर भी ध्यान
ठंडे होते G तारों के साथ ही शोधकर्ताओं ने K ड्वार्फ तारों के सिस्टम पर भी ध्यान दिया जो हमारे सूर्य से ठंडे, कम वजन के और कम चमकीले थे. K तारों का साथ अच्छी बात यह होती है कि उनका जीवन काल 2 अरब साल से लेकर 7 अरब साल तक का होता है. इससे उनके ग्रहों की जीवन लंबा हो जाता है और जीवन के हालात पनपने के लिए समय भी मिल सकता है.

क्या कह रही हैं शनि के चंद्रमा टाइटन पर हो रही गतिविधियां

आवासयोग्य होने के लिए ग्रहों का इतना पुराना होना भी सही नहीं है क्योंकि वे इतने पुराने होने पर अपनी भूगर्भीय ऊष्मा और मैग्नेटिक फील्ड खो चुके होंगे. शोधकर्ताओं का कहना है कि जीवन के अनुकूल होने के लिए ग्रह की उम्र 5 अरब साल से 8 अरब साल तक सही है. इसके अलावा पृथ्वी से 10 प्रतिशत अधिक आकार, 1.5 गुना अधिक वजन, 5 डिग्री सेल्सियस ज्यादा गर्म ग्रह के हालात पृथ्वी से बेहतर बना सकते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज