• Home
  • »
  • News
  • »
  • knowledge
  • »
  • सोनभद्र के सोने से आएंगे भारतीय अर्थव्यवस्था के अच्छे दिन?

सोनभद्र के सोने से आएंगे भारतीय अर्थव्यवस्था के अच्छे दिन?

GSI ने सोनभद्र जिले में जमीन के नीचे पहले 3000 टन सोना दबे होने की बात कही थी

GSI ने सोनभद्र जिले में जमीन के नीचे पहले 3000 टन सोना दबे होने की बात कही थी

सोनभद्र (Sonbhadra) में सोने की खदानों से अगर 3 हजार टन सोना मिल जाता है तो गोल्ड रिजर्व (Gold reserve) में भारत दूसरे स्थान पर पहुंच जाएगा.

  • Share this:
    सोनभद्र (Sonbhadra) में सोने की खदान (Gold Mine) मिलने की चर्चा जोरों पर है. जियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया (GSI) ने इस बात की पुष्टि भी कर दी है कि सोनभद्र में सोने की खदान है. जीएसआई ने मोटे तौर पर अनुमान लगाया है कि उत्तर प्रदेश के सोनभद्र जिले के सोन पहाड़ियों और हरदी इलाके में करीब 3 हजार टन सोना मौजूद है. इस सोने की कीमत करीब 12 लाख करोड़ है. ये भारत के कुल गोल्ड रिजर्व का पांच गुना है.

    सोनभद्र में अब सोने की खदान से सोना निकालने की तैयारी शुरू होने वाली है. ई टेडरिंग के जरिए सोने के ब्लॉक की नीलामी होगी. इसके बाद सोन पहाड़ियों और हरदी इलाके से सोने की खुदाई शुरू हो जाएगी. यूपी का सोनभद्र जिला जल्दी ही भारत को मालामाल करने वाला है. अगर भारत को 3 हजार टन सोना मिल जाएगा तो भारतीय अर्थव्यवस्था की सूरत बदल जाएगी.

    खजाना मिल जाने के बाद भारत के पास होगा सोना ही सोना
    सोनभद्र में सोने की खदानों से अगर 3 हजार टन सोना मिल जाता है तो गोल्ड रिजर्व में भारत दूसरे स्थान पर पहुंच जाएगा. यानी भारत ऐसा दूसरा देश होगा, जिसके पास सबसे ज्यादा सोना होगा. अभी अमेरिका के पास सबसे ज्यादा सोना है.

    वर्ल्ड गोल्ड काउंसिल की रिपोर्ट के मुताबिक अभी अमेरिका के पास 8,133.5 टन सोना है. अमेरिका के बाद दूसरा नंबर जर्मनी का आता है, जिसके पास 3,366 टन सोना रखा है. इसके बाद इटली और फ्रांस का नंबर आता है. इटली के पास 2,451.8 टन और फ्रांस के पास 2,436 टन सोना मौजूद है.

    मोटे तौर पर बताया जा रहा है कि सोनभद्र की सोन पहाड़ी में करीब 2,943.26 टन सोना मौजूद है, इसके अलावा हरदी ब्लॉक में भी करीब 646.16 किलोग्राम सोने का पता चला है. इसके साथ ही फिलहाल भारत के पास 626 टन गोल्ड रिजर्व है. अगर सोनभद्र से मिले सोने को मिला दिया जाए तो भारत का कुल गोल्ड रिजर्व 3,569.86 टन हो जाएगा. इसके साथ ही गोल्ड रिजर्व में भारत का स्थान दूसरा हो जाएगा.

    इसके अलावा एक मोटे अनुमान के मुताबिक भारतीय घरों में कुल मिलाकर 23 हजार से लेकर 24 हजार टन सोना मौजूद है. लोग गहनों और सिक्कों के तौर पर इतना सोना जमा किए हुए हैं. 2015 में मोटे तौर पर अनुमान लगाया गया था कि भारतीय घरों में उस वक्त सोने की कीमतों के आधार पर करीब 800 बिलियन डॉलर का सोना रखा है.

    सोने से कैसे पूरा होगा अर्थव्यवस्था के अच्छे दिन का सपना
    भारत दुनियाभर में सोने के सबसे बड़े आयातक देशों में से एक है. अगर सोनभद्र में मिला सोने का भंडार निकल आता है तो भारत अपने सोने का आयात कम कर सकता है. इससे भारतीय अर्थव्यवस्था में मजबूती आएगी. एक मोटे अनुमान के मुताबिक भारत हर साल करीब 800 से 900 टन सोने का आयात करता है. सोने के आयात में भारत सरकार को हर साल करीब 33 अरब डॉलर खर्च करने पड़ते हैं.

    भारत में लोग गोल्ड की ज्यूलरी खूब पहनते हैं. गहनों की डिमांड की वजह से भारत को सोना आयात करना पड़ता है. गोल्ड रिजर्व में बढोत्तरी की वजह से भारत को सोने का आयात नहीं करना होगा. इसे भारत का व्यापार घाटा कम होगा.

    एक आंकड़े के मुताबिक भारत सरकार ने 2019-20 के अप्रैल नवंबर महीने में सोने का आयात कम किया है. इसकी वजह से व्यापार घाटा कम हुआ है. इस दौरान सरकार का व्यापार घाटा 106.84 अरब डॉलर रहा. जबकि इसी दौरान एक साल पहले व्यापार घाटा 133.74 अरब डॉलर था.

    व्यापार घाटे में कमी की वजह से भारत के खजाने में वृद्धि होगी. सरकार बचत के पैसों को विकास कार्यों में खर्च कर सकती है. इससे देश के निर्माण के साथ अर्थव्यवस्था में भी मजबूती आएगी. भारत लगातार अपने व्यापार घाटे का लक्ष्य पाने में नाकाम रहा है.

    इस वित्त वर्ष में राजकोषीय घाटा जीडीपी का 3.8 रहने का अनुमान है. जबकि सरकार का लक्ष्य था कि इसे 3.3 फीसदी तक रखा जाए. व्यापार घाटा ज्यादा होने का मतलब है कि सरकार आमदनी से ज्यादा खर्च कर रही है. अगर सोनभद्र में सोने का भंडार मिलने से राजकोषिय घाटा कम होता है तो ये सरकार की बड़ी सफलता होगी और इससे भारतीय अर्थव्यवस्था को मजबूती मिलेगी.

    ये भी पढ़ें:

    जब अपनी पत्नी कस्तूरबा गांधी की बांह पकड़कर घर से निकालने पर आमादा हो गए थे बापू
    CAA पर क्या है अमेरिका का नजरिया, क्या ट्रंप के भारत दौरे पर होगी इसकी चर्चा
    बंटवारे में पाकिस्तान के इन मुसलमानों ने हिंदुस्तान को चुना और हुए मशहूर
    दुनिया की सबसे बड़ी प्रयोगशाला में क्यों लगी है भगवान शिव की मूर्ति
    जानिए कितना बड़ा गुनाह है देशद्रोह, कितने साल की हो सकती है सजा

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज