Home /News /knowledge /

एक महीने पहले ही Paytm में वाइस प्रेसिडेंट बनी थीं सोनिया, फिर अचानक क्या हुआ?

एक महीने पहले ही Paytm में वाइस प्रेसिडेंट बनी थीं सोनिया, फिर अचानक क्या हुआ?

सोनिया धवन (तस्वीर- फेसबुक पेज)

सोनिया धवन (तस्वीर- फेसबुक पेज)

सोनिया धवन का कहना है कि उनके खिलाफ साजिश हुई है, जो विजय शेखर ने रची है. जबकि जांच का कहना है कि वो पिछले दो माह से कंपनी के फाउंडर को ब्लैकमेल कर रही थीं.

    पेटीएम  कंपनी के मालिक से 20 करोड़ रुपये की रंगदारी मांगने के मामले में फरार चौथे आरोपी का अब तक पता नहीं चल पाया है. पुलिस ने मामले के तीन आरोपियों को हिरासत में लेने के लिए अदालत में आवेदन दिया है. गिरफ्तार किए गए तीन लोगों में सोनिया धवन भी हैं, जो विजय शेखर की निजी सहायक के रूप में पेटीएम कंपनी में काम करती थी. सोनिया की फेसबुक प्रोफाइल पर जाएं तो वहां पेटीएम के मालिक विजय शेखर पर अखबारों में छपे तमाम आर्टिकल्स दिखेंगे, साथ में तस्वीरें भी. महज कुछ दिनों पहले तक सोनिया फेसबुक पेज के जरिए पेटीएम का प्रमोशन करती नजर आती हैं.

    उनके फेसबुक पेज में उन्होंने पेटीएम में खुद को कम्युनिकेशंस वाइस प्रेसिडेंट बताया है. साथ ही ये स्लोगन - 'कड़ी मेहनत ही सबकुछ है बाकि तो सबकुछ थ्योरी (Hard work is glory, everything else is theory).' वह दिल्ली यूनिवर्सिटी की पढ़ी हैं. सोनिया धवन एक महीने पहले ही पेटीएम में कम्युनिकेशंस वाइस प्रेसीडेंट के पद पर प्रोमोट की गईं थीं.

     ये भी पढ़ें - अमेजन के मालिक जैफ बेजोस ने गैराज से की थी Amazon.com की शुरुआत

    सोनिया को पेटीएम के मालिक विजय शेखर को ब्लैकमेल कर 10 करोड़ रुपए मांगने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है. आरोप है कि सोनिया ने पेटीएम फाउंडर को चेतावनी दी थी कि वो कंपनी की गोपनीय जानकारियां लीक कर देंगी. सोनिया के साथ दो साथी रूपक जैन और देवेंद्र कुमार को भी गिरफ्तार किया गया है. इसमें रूपक सोनिया के पति हैं.

    आठ साल पहले पेटीएम ज्वाइन किया था
    सोनिया का करियर रिकॉर्ड बहुत शानदार रहा है. उन्होंने जनवरी 2010 में पेटीएम ज्वाइन किया था. उन्होंने शुरुआत पेटीएम फाउंडर विजय शेखर की सेक्रेटरी के रूप में की थी. फिर वो कंपनी में लगातार तरक्की करती गईं. सोनिया इससे पहले टाइम्स इंटरनेट और केर्न इंडिया में बिजनेस आपरेशंस मैनेजर और कॉर्पोरेट आफिसर के रूप में काम कर चुकी थीं.

    पेटीएम में असरदार स्थिति में थीं सोनिया धवन (सौजन्यः फेसबुक पेज)


    कंपनी के 3.2 करोड़ रुपए के शेयर थे पास
    वो कंपनी की ओर से वो बड़े-बड़े प्रोग्राम्स में देश-विदेश में शिरकत करती थीं. कंपनी की कई महत्वपूर्ण पोजिशंस उनके पास थीं.

    ये भी पढ़ें - Valmiki Jayanti 2018 : रामचरितमानस में नहीं हैं, वाल्मीकि रामायण की ये 10 कहानियां

    पेटीएम कंपनी की पेरेंट कंपनी वन97 कम्युनिकेशंस लिमिटेड द्वारा भरी गईं जानकारियों के अनुसार, सोनिया के पास नवंबर 2017 में कंपनी के 1400 शेयर थे. इसकी मौजूदा कीमत 3.2 करोड़ रुपए है. वो पेटीएम से सालाना 85 लाख रुपए कमाती थीं.

    फेसबुक पेज क्या बताता है
    उन्होंने फेसबुक पर आखिरी पोस्ट 28 सितंबर को की थी. वह आमतौर पर फेसबुक पर विजयशेखर और पेटीएम से जुड़ी बातें ही पोस्ट करती रही हैं. कभी-कभार अपनी पारिवारिक तस्वीरें भी. इसे देखकर लगता है कि उनके संबंध पेटीएम के मालिक से ठीक थे. फिर अचानक क्या हो गया.

     ये भी पढ़ें - खतरे में 'भारतीय वियाग्रा', मर्दानगी बढ़ाने वाली जड़ी-बूटी को है इससे नुकसान

     

    सोनिया अपने फेसबुक और ट्विटर पेज पेटीएम और विजयशेखर शर्मा के बारे में पोस्ट करती थीं (सौजन्यः फेसबुक पेज)


    क्या कहना है सोनिया का
    सोनिया धवन का कहना है कि उनके खिलाफ साजिश हुई है, जो विजय शेखर ने रची है. जबकि जांच का कहना है कि वो पिछले दो माह से कंपनी के फाउंडर को ब्लैकमेल कर रही थीं. उनकी नाराजगी की वजह थी कि कंपनी चार करोड़ रुपए लोन देने के उनके अनुरोध को नहीं माना था.

    सोनिया के पास कंपनी के अंदर की जानकारियां हैं कि कंपनी पिछले कुछ सालों में कैसे आगे बढ़ी. उन्हें चुप रहने के लिए दो बार भुगतान भी हुआ. लेकिन सोनिया का फेसबुक और ट्विटर पेज देखकर लगता है कि इस पूरी कहानी में कई और बातें भी हैं, जो अभी सामने आनी हैं.

    ये भी पढ़ें - सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद ये पटाखे हो जाएंगे मार्केट से गायब!

    क्या ये टकराव का नतीजा है
    एक अंग्रेजी अखबार से बात के दौरान सोनिया ने कहा, "मैं नहीं जानती क्या हुआ. लेकिन मैं चाहती हूं कि विजय शेखर जवाब दें. इसमें बहुत कुछ है जो अभी सामने नहीं आया है." सोनिया की मां कहती हैं ये विवाद सोनिया और विजय के बीच व्यक्तिगत और प्रोफेशनल टकराव का नतीजा है.

    वो कहती हैं कि पिछले दो महीने से सोनिया और विजय के बीच टकराव चल रहा था. लेकिन सोनिया उसी तरह काम करती रही, जिस तरह वो करती है. अगर उसे किसी को ब्लैकमेल ही करना होता..तो वो अब भाग चुकी होती.

    सोनिया के वकील का दावा है कि उन पर पेटीएम हिस्सेदारी बेचने का दबाव था (सौजन्यः फेसबुक पेज)


    वकील का दावा - शेयर बेचने का था दबाव था
    सोनिया के वकील प्रशांत त्रिपाठी का कहना है कि पिछले कुछ समय से कंपनी के मालिक दबाव डाल रहे थे कि वो कंपनी के शेयर उन्हें बेच दे. सोनिया को फंसाया गया है.

    वकील ने मनी कंट्रोल वेबसाइट से कहा, "सोनिया और उसके पति रूपक को 22 सितंबर को एक कॉल आई. जिसमें उनसे पांच करोड़ रुपए की मांग की गई. दो दिन बाद ही विजय शेखऱ शर्मा को वैसी कॉल मिली. धवन के एक भाई कहते हैं कि उन्हें फंसाया गया है और उनकी छवि को खराब करने की कोशिश की गई है."

     ये भी पढ़ें - ये हैं सबसे कम प्रदूषण करने वाले पटाखे

    Tags: Paytm, Paytm founder, Paytm Mobile Wallet, Paytm’s Vijay Shekhar Sharma, Vijay Shekhar Sharma

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर