जानें पांच साल में केवल एक बार ही क्यों कपड़े खरीदता था नीरव मोदी

हीरा व्यापारी के शानशौकत की कहानी के साथ ये भी जानिए कि किस तरह उसने दुनियाभर की सबसे महंगी लोकेशंस पर डॉयमंड ज्वैलरी के हिट ब्रांड बन चुके नीरव मोदी स्टोर्स खोले. हॉलीवुड से लेकर बॉलीवुड तक के स्टार्स उसे जानते थे.

News18Hindi
Updated: June 12, 2019, 7:17 PM IST
जानें पांच साल में केवल एक बार ही क्यों कपड़े खरीदता था नीरव मोदी
नीरव मोदी अपनी तड़क-भड़क भरी जीवनशैली के कारण भी चर्चा में रहे हैं
News18Hindi
Updated: June 12, 2019, 7:17 PM IST
लंदन की एक कोर्ट ने गिरफ्तारी के बाद हीरा व्यापारी नीरव मोदी को जमानत देने से इनकार कर दिया.  अभी वो लंदन की जेल में ही रहेगा. वैसे अपनी निजी जिंदगी में नीरव शानोशौकत से रहने के लिए जाना जाता रहा है. लाखों की जैकेट पहनता है. मुंबई ही नहीं दुनियाभर में कई जगहों पर उसके आलीशान घर हैं. आस्कर अवार्ड में वो केट विंसलेट के साथ रेड कारपेट पर नजर आ चुका है. वो बॉलीवुड से लेकर हॉलीवुड के बड़े बड़े सितारों तड़कीली-भड़कीली पार्टियां देने का शौकीन था. नीरव में एक खास बात है वो अपने कपड़े पांच साल में एक बार ही खरीदता है. ऐसा क्यों है ये आप आगे पढ़ेंगे

गुजरात-राजस्थान के सीमाई जिले पालनपुर में जैन परिवार में 1970 में वो पैदा हुआ. हालांकि उसके बाद पेरेंट्स उसे बेल्जियम के एंटवर्प में ले गए. जहां उसकी स्कूलिंग हुई और लालन-पालन भी. नीरव ऐसे परिवार में पैदा हुआ था जो हीरा तराशने में मास्टर थे. हीरों के बड़े व्यापारी था ये परिवार.



30-40 के दशक में बाबा दक्षिण भारत से करते थे हीरों का व्यापार
उसके बाबा केशवलाल मोदी 1930 और 40 के दशक में दक्षिणी भारत से हीरों का व्यापार करते थे. इसके बाद उन्होंने सिंगापुर की ओर रुख किया. पिता दीपक मोदी बिजनेस को दुनिया में ड़ॉयमंड की राजधानी कहे जाने वाले शहर बेल्जियम के एंटवर्प ले गए. मोदी की मां इंजीरियर डिजाइनर थीं. उनकी ख्वाहिश रहती थी कि वो लोग जिस भी शहर में जाएं, वहां के म्युजियम में उनका बेटा जरूर जाए.

लंदन की जेल में ही रहेगा नीरव मोदी, अदालत ने चौथी बार ठुकराई जमानत याचिका

बीच में ही पढाई छोड़ दी
दुनिया के तमाम एंटरप्रेन्योर लोगों की तरह वो भी पढने के लिए एक नामी यूनिवर्सिटी में गया, जिसके वार्टटन स्कूल में वो पढाई कर रहा था लेकिन उसने बीच में ही पारिवारिक बिजनेस के लिए पढाई छोड़ दी. उस समय उसकी उम्र 19 साल थी. यहीं उसकी मुलाकात भविष्य की पत्नी एमी से हुई. प्यार हुआ और फिर शादी. उसकी पत्नी एमी अमेरिकी नागरिक है. एमी के पिता भी डायमंड बिजनेसमैन हैं.
Loading...

नीरव अपने एक डॉयमंड स्टोर खोलने के दौरान


गीतांजलि जेम्स में अंकल के साथ कारोबार
कॉलेज छोड़ने के बाद मोदी अपने अंकल मेहुल चौकसी के साथ मुंबई में परिवारिक बिजनेस गीतांजलि जेम्स में हाथ बंटाने लगा. 47 की उम्र में, जब तक उसका नाम बैंक घोटाले में नहीं आया था. तब तक पूरी दुनिया में उसे लोग हीरे के बड़े बिजनेसमैन के तौर पर जानते थे. उसके डॉयमंड का ब्रांड विश्व प्रसिद्ध था. उसकी फायरस्टार डॉयमंड फर्म 2.4 बिलियन डॉलर की कंपनी थी.

लंदन से लेकर मकाऊ तक फैला था कारोबार
उसका व्यापार देश महाद्वीपों में मुंबई से लेकर लंदन, लासवेगास, हवाई, न्यूयार्क, हवाई, सिंगापुर और मकाऊ तक फैला हुआ था. नीरव का नाम वर्ष 2013 की दुनियाभर के सबसे धनी भारतीयों की फोर्ब्स लिस्ट में भी आया.
नीरव मोदी का सपना वर्ष 2025 तक दुनियाभर में 100 नीरव मोदी स्टोर खोलने की थी. वर्ष 2009 में नीरव ने अपने एक नजदीकी दोस्त के लिए ईयर रिंग्स डिजाइन की थीं.
एक साल बाद उनके द्वारा डिजाइन किया हुआ गले का हार, जिसमें 12.29 कैरेट का गोलकुंडा डायमंड लगा हुआ था, वो हांगकांग में क्रिस्टी की नीलामी में 5.56 मिलियन डॉलर का बिका-ये ज्वैलरी की दुनिया में उसकी धमाकेदार इंट्री थी.

नीरव पहले भारतीय भी हैं, जिनका फोटो क्रिस्टी के नीलामी कैटेलॉग के कवर पर आया


क्रिस्टी के कैटेलॉग कवर पर आई फोटो
वर्ष 2012 में सोथबी नीलामी में उसका रिवएरा डॉयमंड नेकलैस 5.1 मिलियन डॉलर का बिका. मोदी पहले भारतीय बने, जिसका फोटो क्रिस्टी के कैटेलॉग के कवर पर आया.2014 में उसने नई दिल्ली में अपना बहुत बड़ा स्टोर खोला, इसके एक साल बाद मुंबई की बारी थी.
वो पहला इंडियन लग्जरी ब्रांड था, जिसका स्टोर 90 स्क्वेयर मीटर (1000 स्क्वेयर फीट) में न्यूयार्क के उस शानदार मेडिसन एवेन्यू में खोला गया, जहां गुची, प्रादा, चानेल और हेर्म्ज जैसे ब्रांड के शोरूम अलग बगल थे.

तब पाकिस्तान टीम भी वर्ल्ड कप में हिंदू कवि का लिखा राष्ट्रगान गा रही होती
केट विंसलेट थी नीरव की ज्वैलरी की दीवानी
इसी साल मोदी केट विंसलेट के साथ आस्कर अवार्ड्स में रेड कारपेट पर चलता हुआ नजर आया, जो बाद में नीरव मोदी के ज्वैलरी की दीवानी हो गई. इसके बाद उसने दुनियाभर में कई लग्जरी जगहों पर अपने शोरूम खोले. वो रूस, सिएरा लियोन और आर्मीनिया की खानों से निकला अनगढ़ हीरा मंगाता था और उन्हें तराशने का काम करता था. ये सभी बेल्जियम से लेकर दुनियाभर में बेचे जाते थे.
जैसा कि हम पहले ही बता चुके हैं कि उसकी अपनी जीवन संगिनि एमी से पेनसिल्वेनिया यूनिवर्सिटी में मुलाकात हुई थी, जो बाद उसके कॉलेज छोड़ने के बाद भी शादी में बदल गई. इस दंपति के एक बेटा और दो बेटियां हैं, जो भारत से बाहर रहते हैं.

नीरव जब लंदन में सड़कों पर घुमता दिखा तो उसका हुलिया बदल चुका था. मूंछें बड़ी हो गईं थीं तो उसने करीब दस लाख रुपए का शुतुरमुर्ग के चमड़े का जैकेट पहना हुआ था


पांच साल में एक बार क्यों खरीदता है कपड़े
अब हम आपको बताने जा रहे हैं कि वो पांच साल में एक बार ही कपड़े क्यों खरीदता है. उसके बारे में कहा जाता था कि वो हर पांच साल में केवल एक बार बड़े पैमाने पर शर्ट-ट्राउजर और सूट खरीदता है. क्योंकि उसके पास इतना समय नहीं होता था कि वो हमेशा कपड़े खरीदने बाजार जाए. पांच साल में जब एक बार वो इन कपड़ों की खरीदारी करता था तो उसके लिए खासतौर पर एक से दो दिन तय रहते थे.

पार्टियों और सोशलाइजिंग के लिए मशहूर
वो जिस तरह अपनी शानदार ज्वैलरी के लिए फेमस था, उसी तरह अपनी तड़क-भड़क भरी पार्टियों और सोशलाइजिंग के लिए भी. वो कहता था अगर वो ज्वैलर नहीं होता तो हॉलीवुड या बॉलीवुड में म्युजिक डायरेक्टर होता.

नीरव मोदी के बारे में कुछ और फैक्ट्स
- अक्टूबर 2017 में फोर्ब्स ने नीरव मोदी की संपत्ति 1.8 बिलियन डॉलर आंकी
- मोदी के ज्वैलरी केट विंसलेट, ऐश्वर्या राय, रोजी हटिंगटन-व्हिटले, नेओमी वाट्स, प्रियंका चोपड़ा, कोको रोचा और लीजा हेडन जैसी स्टार्स पहनती थीं.
- मोदी पर कैलिफोर्निया में दो कस्टम डॉयमंड बेचने का आरोप है. लैब में जांच के दौरान पता लगा कि ये असली हीरा नहीं. इस पर कैलिफोर्निया की अदालत में फ्राड का केस चल रहा है. ये मामला कैलिफोर्निया के उद्यमी पाल अलफांसो ने उस पर ठोका है.
- मोदी के अलावा उसके भाई नीशाल दीपक मोदी और मैनेजर व करीबी सहयोगी परब सुभाष शंकर की इंटरपोल तलाश कर रही है
- पंजाब नेशनल बैंक में उसके खिलाफ 02 बिलियन डॉलर के फ्राड का मामला चल रहा है.
- नीरव मोदी ने ब्रिटेन में राजनीतिक शरण मांगी है
- लंदन की एक कोर्ट में उस पर भारत के प्रवर्तन निदेशालय के प्रत्यर्पण के अनुरोध पर सुनवाई चल रही है. इस समय वो लंदन में गिरफ्तार है.
- मोदी के पास कई रेजिडेंसी कार्ड है. इनमें से कुछ की समय सीमा खत्म हो चुकी है. लेकिन, संयुक्त अरब अमीरात, सिंगापुर और हांगकांग के अभी वैलिड हैं.

दुनिया के इन 10 मुल्कों को सबसे ज्यादा सामान बेचता है भारत
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...