लाइव टीवी

कौन है वो लड़की उरूज, जिसके तेवरों पर मचा है पाकिस्तान में बवाल

News18Hindi
Updated: December 9, 2019, 2:34 PM IST
कौन है वो लड़की उरूज, जिसके तेवरों पर मचा है पाकिस्तान में बवाल
उरूज को उनके जोशीले नारे, अंदाज और लेदर जैकेट की वजह से एलीट क्लास स्टूडेंट होने की तोहमत दी गई

जेएनयू (JNU) की तर्ज पर पाकिस्तानी स्टूडेंट (Pakistani students) भी सड़कों पर उतर गए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 9, 2019, 2:34 PM IST
  • Share this:
इन दिनों एशिया के कई देशों में स्टूडेंट प्रोटेस्ट (student protest) का दौर चल रहा है. हॉन्‍ग कॉन्‍ग (Hong Kong) में छात्र सड़क पर उतरकर सत्‍ता का विरोध कर रहे हैं. हाल ही में जेएनयू (JNU) में फीस बढ़ने को लेकर बवाल हुआ और अब पाकिस्तान (Pakistan) के स्टूडेंट भी इस बवाल की चपेट में आ चुके हैं. बता दें कि बीते माह 29 नवंबर को पाकिस्तान की 50 यूनिवर्सिटीज के स्टूडेंट्स अपनी मांगों को लेकर सड़क पर आए और आंदोलन (Student Solidarity March) किया. इन्हीं आंदोलनकर्ताओं में एक थी पंजाब यूनिवर्सिटी की उरूज औरंगजेब (Arooj Aurangzeb). जोशो-खरोश से सरफरोशी की तमन्ना गाते हुए उनका वीडियो दुनियाभर में वायरल हो चुका है. जानिए, कौन हैं उरूज औरंगजेब.

पाकिस्तान में हर साल शायर फैज अहमद फैज की याद में मेला ( Faiz Festival) लगता है. लाहौर में लगने वाले इस मेले में फैज की नज्में गाई-सुनाई जाती हैं. हालांकि इस साल कुछ नया हुआ. फैज के मेले में शायर बिस्मिल अजीमाबादी की नज्म सबसे ज्यादा गाई गई. गानेवाले थे पाकिस्तान की यूनिवर्सिटीज के छात्र-छात्राएं. हजारों की तादात में इकट्ठा इन स्टूडेंट्स की मांग पाकिस्तान की शिक्षा व्यवस्था के सुधार से जुड़ी थी.

यूनिवर्सिटीज के स्टूडेंट्स अपनी मांगों को लेकर सड़क पर आए


फीस बढ़ोतरी, छात्र संगठन बहाली और लैंगिक समानता पर जोर जैसी मांगों को लेकर प्रदर्शन के दौरान शायर बिस्मिल अजीमाबादी की सरफरोशी की तमन्ना नज्म को नारे की तरह गाया जा रहा था. हजारों आवाजों में एक आवाज और चेहरा भीड़ में सबसे अलग दिख रहा था, वो था उरूज औरंगजेब का. चमड़े की जैकेट पहने सबसे ऊंची आवाज में नारे लगाती उरूज कट्टरपंथियों के देश में प्रतीक की तरह देखी जा रही हैं.

उरूज को उनके जोशीले नारे, अंदाज और लेदर जैकेट की वजह से एलीट क्लास स्टूडेंट होने की तोहमत दी गई. Capital TV Pakistan पर दिए एक इंटरव्यू में उरूज इन बातों का जवाब देते हुए कहती हैं कि हमें इतने काम होते हैं कि रोज नए कपड़े पहनने की फुर्सत नहीं इसलिए हम वो कपड़े डाल लेते हैं जो आराम दें और लंबा टिकें. मीडिया में ग्रेजुएशन कर चुकी उरूज पर ये भी इलजाम लगाया जा रहा है कि वेऔर बाकी स्टूडेंट किसी खास एनजीओ से जुड़े हुए हैं जिन्हें प्रोटेस्ट के लिए फंडिंग मिल रही है. इसपर भी उरूज जवाब देती हुई कहती हैं कि फैज मेले में इकट्ठा हुए लोगों, प्रोफेसरों से चंदा मांगा गया था ताकि वे बदइंतजामी के खिलाफ बाकायदा मुहिम चला सकें.

सोशल मीडिया पर वायरल हुए वीडियो में उरूज स्टूडेंट यूनियन की बहाली की मांग को सबसे ऊपर रखती दिखीं. उनका कहना है कि पहले यूनियन बनेगी, तभी तो दूसरे मांगें सामने आएंगी. पाकिस्तानी स्टूडेंट का आइकन बन चुकी उरूज इससे पहले भी मुद्दों से जुड़ी रही हैं. वे मजदूर बस्तियों में जाकर शिक्षा, सफाई जैसी बातें करती रही हैं.



दूसरी ओर पाक पीएम इमरान खान ने प्रदर्शन कर रहे छात्र-छात्राओं पर निशाना साधा है. इमरान खान का कहना है कि पाकिस्तान के यूनिवर्सिटी में छात्र संगठन हिंसक होते जा रहे हैं जो कि कैंपस के माहौल को खराब कर रहे हैं. इस बारे में प्रोटेस्ट के एक दिन बाद इमरान खान ने एक के बाद एक दो ट्वीट किए, जिसमें उन्होंने स्टूडेंट्स को हिंसक प्रदर्शनों के लिए लताड़ा.

यहां बता दें कि बीते दिनों सिंध यूनिवर्सिटी में कथित रूप से पानी की मांग पर 17 स्टूडेंट्स पर राजद्रोह का मुकदमा दायर कर दिया गया. इस बात को उठाते हुए स्डूडेंट्स ने डॉन को दिए एक इंटरव्यू में कहा कि स्टूडेंट्स को एडमिशन से पहले एक शपथपत्र भरने को कहा जा रहा है, जिसके तहत उनके राजनीति में हिस्सा लेने के अधिकार या प्रदर्शन के अधिकार नहीं रहते हैं. लाहौर हाईकोर्ट में इसके खिलाफ याचिका भी दायर की गई है.

ये भी पढ़ें: 

एनकाउंटर के बाद हैदराबाद पुलिस को फॉलो करने होंगे सुप्रीम कोर्ट के ये गाइडलाइन

क्या पुलिस के पास किसी आरोपी की जान लेने का अधिकार है?

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नॉलेज से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 9, 2019, 1:45 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर