यौन शोषण के आरोप में घिरे स्वामी चिन्मयानंद का पुराना रिकॉर्ड भी दागदार

News18Hindi
Updated: September 13, 2019, 12:56 PM IST
यौन शोषण के आरोप में घिरे स्वामी चिन्मयानंद का पुराना रिकॉर्ड भी दागदार
स्वामी चिन्मयानंद पर फिर लगे हैं सनसनीखेज आरोप

यौन शोषण (sexual harassment) मामले में पूर्व केंद्रीय गृहराज्य मंत्री स्‍वामी चिन्मयानंद (Swami Chinmayanand) पर एसआईटी (SIT) का शिकंजा कस चुका है. स्वामी चिन्मयानंद से करीब 7 घंटे की पूछताछ के बाद उन्हें नजरबंद किया गया है...

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 13, 2019, 12:56 PM IST
  • Share this:
पूर्व केंद्रीय गृहराज्य मंत्री स्‍वामी चिन्मयानंद (Swami Chinmayanand) पर एक लड़की के लगाए यौन शोषण (Sexual harassment) का मामला फिर सुर्खियों में है. इस मामले की जांच कर रही एसआईटी (SIT) ने स्वामी चिन्मयानंद से करीब 7 घंटे की पूछताछ की है. इसके बाद पुलिस ने स्वामी चिन्मयानंद को नजरबंद कर दिया है.

इसके पहले एसआईटी ने कॉलेज हॉस्‍टल की भी तलाशी ली थी. जहां से कुछ अहम सबूत बरामद हुए थे. स्वामी चिन्मयानंद के दिव्य धाम का बेडरूम भी सील कर दिया गया है. फॉरेंसिक टीम कमरे की जांच कर सकती है. उधर चिन्मयानंद पर यौन शोषण का आरोप लगाने वाली लॉ छात्रा (law student) का मेडिकल टेस्ट भी कराया गया है. पिछले दिनों स्वामी चिन्मयानंद और एक लड़की का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था. उसके बाद एसआईटी ने अपनी जांच में तेजी लाई है. स्वामी चिन्मयानंद पर एसआईटी का शिकंजा कस चुका है.

क्या है स्वामी चिन्मयानंद पर लगे यौन शोषण का मामला ?

उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर में एक लॉ स्टूडेंट के पिता ने स्वामी चिन्मयानंद के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई थी. शाहजहांपुर के एसएस लॉ कॉलेज (SS Law College) में एलएलएम की एक छात्रा (LLM Student) ने स्वामी चिन्मयानंद के ऊपर किडनैपिंग (Kidnapping) और शारीरिक शोषण (sexual harassment) का आरोप लगाया था.

पीड़ित लड़की ने फेसबुक पर वीडियो वायरल कर स्वामी चिन्मयानंद के ऊपर कई लड़कियों की जिंदगी बर्बाद करने का आरोप लगाया था. उसके बाद पीड़ित लड़की रहस्यमय तरीके से गायब हो गई थी. लड़की के पिता ने इस संबंध में स्वामी चिन्मयानंद के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई थी.

स्वामी चिन्मयानंद का कहना है कि उन्हें बेवजह फंसाया जा रहा है. उन्होंने न्यूज 18 से कहा था कि जिस तरह से बीजेपी विधायक कुलदीप सेंगर को फंसाया गया, उसी तरह से मुझे फंसाने की साजिश रची जा रही है.

who is bjp former mp and ex union minister swami chanmayanand a law student missing after accusing him of sexual harassment
एक लॉ स्टूडेंट ने स्वामी चिन्मयानंद पर शारीरिक शोषण के आरोप लगाए हैं

Loading...

स्वामी चिन्मयानंद के ऊपर पहले भी लगे हैं रेप के आरोप

इसके पहले भी एक लड़की ने स्वामी चिन्मयानंद के ऊपर किडनैपिंग और रेप का मामला दर्ज करवाया था. स्वामी चिन्मयानंद पर 2011 में उनके आश्रम में रहने वाली एक लड़की ने रेप का आरोप लगाया था. 30 नवंबर 2011 को शाहजहांपुर की कोतवाली में स्वामी चिन्मयानंद के ऊपर रेप की एफआईआर दर्ज की गई.

रेप का आरोप लगाने वाली लड़की ने चिन्मयानंद के आश्रम में कई साल गुजारे थे. उसने अपनी शिकायत में कहा था कि हरिद्वार में आश्रम में रहने के दौरान स्वामी चिन्मयानंद ने उसका रेप किया था. इस संबंध में पीड़ित लड़की के पिता ने शाहजहांपुर में एफआईआर दर्ज करवाई थी.

इस मुकदमे के खिलाफ स्वामी चिन्मयानंद ने हाईकोर्ट की शरण ली. हाईकोर्ट ने उनकी गिरफ्तारी पर रोक लगा दी थी. पिछले साल यूपी की योगी सरकार ने उनके खिलाफ दर्ज मुकदमा वापस लेने का फैसला लिया. इस संबंध में 6 मार्च 2018 को शाहजहांपुर प्रशासन को पत्र लिखा गया था. जिसके बाद 9 मार्च 2018 को शाहजहांपुर प्रशासन ने स्वामी चिन्मयानंद के खिलाफ दर्ज मुकदमा वापस लेने की सिफारिश कर दी थी.

इस बारे में योगी सरकार के मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा था कि सरकार ने स्वामी चिन्मयानंद के खिलाफ दर्ज मुकदमा वापस लेने का फैसला किया है. लेकिन कोर्ट में मामला चलता रहेगा. अगर कोई इस फैसले के खिलाफ जाना चाहता है तो वो इसे कोर्ट में चलैंज कर सकता है.

कहा जा रहा था कि पीड़ित लड़की ने एफिडेविट देकर मामले को खत्म करने की अपील की थी. जबकि बाद में पीड़ित लड़की ने मीडिया के सामने आकर कहा था कि इस बारे में उसके नाम पर झूठा एफिडेविट दिया गया था. उसने कभी एफिडेविट फाइल नहीं किया था.

who is bjp former mp and ex union minister swami chanmayanand a law student missing after accusing him of sexual harassment
पिछले साल योगी सरकार ने स्वामी चिन्मयानंद के ऊपर लगे रेप के एक मुकदमे को वापस ले लिया था


सरकार के इस फैसले के खिलाफ पीड़ित लड़की ने राष्ट्रपति, सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस, यूपी के राज्यपाल और यूपी के सीएम के साथ जिला जल को पत्र लिखकर इंसाफ की मांग की थी. उसने स्वामी चिन्मयानंद की तुरंत गिरफ्तारी की मांग रखी थी.

कौन हैं रेप के आरोपी स्वामी चिन्मयानंद
स्वामी चिन्मयानंद का जन्म 3 मार्च 1947 को यूपी के गोंडा जिले में हुआ था. उनका ताल्लुक अवध के राजघराने से है. ऐसा बताया जाता है कि युवावस्था में उन्होंने बुद्ध और महावीर से प्रभावित होकर राजघराने से अपना ताल्लुक तोड़ लिया. स्वामी चिन्मयानंद ने लखनऊ यूनिवर्सिटी से एमए किया है. वो अविवाहित हैं.

कहा जाता है कि स्वामी चिन्मयानंद ने तंत्र, फिलॉस्फी और योग की शिक्षा हासिल की है. 1991 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी के टिकट पर चिन्मयानंद बदायूं से जीत हासिल करके संसद पहुंचे. 1998 में इन्होंने मछलीशहर से जीत हासिल की. इसके बाद 1999 के चुनाव में इन्होंने जौनपुर सीट से जीत हासिल की. वाजपेयी सरकार में ये गृहराज्यमंत्री बनाए गए.

ये भी पढ़ें: चेक करें कि क्या आपके पास हैं ये डॉक्यूमेंट्स, तभी माने जाएंगे भारतीय नागरिक

कौन थे फिरोज शाह जिनकी जगह जेटली के नाम पर होगा दिल्ली का स्टेडियम

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नॉलेज से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 28, 2019, 2:00 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...