कोरोना के दौर में जानिए कौन से देश हैं सबसे ज्यादा शाकाहारी

कोरोना के दौर में जानिए कौन से देश हैं सबसे ज्यादा शाकाहारी
दुनियाभर के शाकाहारी देशों में भारत 38% के साथ सबसे ऊपर है (Photo-pixabay)

दुनियाभर के शाकाहारी देशों (vegetarian nations in world) में भारत 38% के साथ सबसे ऊपर है. हालांकि माना जाता है कि आज से ढाई हजार साल पहले यहां मांसाहार का चलन ज्यादा था.

  • Share this:
अपनी और पर्यावरण की सेहत के लिए लोग लगातार वेजिटेरियन और वेगन डाइट की तरफ बढ़ रहे हैं. इसमें खासतौर पर मीट-ईटर देशों के लोग शामिल हैं. यहां तक कि इंटरनेट पर भी इसे देखा जा सकता है. जैसे गूगल ट्रेंड्स का सर्च डाटा कहता है कि साल 2014 से 2018 के बीच दुनियाभर में असरदार तरीके से शाकाहार की ओर लोगों का रुझान बढ़ा. इसके बाद भी ट्रेंड लगातार बढ़ रहा था, जिसे कोरोना से चमगादड़ के ताल्लुक की वजह से और बल मिला. जानिए, कौन से देश शाकाहार के मामले में सबसे आगे हैं.

भारत की 38% से ज्यादा आबादी शाकाहारी है. माना जाता है कि ईसापूर्व छठवीं शताब्दी में बौद्ध और जैन धर्म के प्रसार के बाद से शाकाहार को मानने वाले बढ़े. यहां पर शाकाहारी में Lacto-vegetarianism को मानने वालों की बहुतायत है यानी वे लोग जो प्लांट-बेस्ड डाइट और दूध के उत्पाद तो खाते हैं लेकिन अंडे नहीं लेते. कुल मिलाकर पूरी दुनिया में भारत में ही मांस की खपत सबसे कम है.

अब लोग पर्यावरण की सुरक्षा के लिए भी अपनी मर्जी से शाकाहारी डायट अपना रहे हैं (Photo-pixabay)




अब नंबर आता है इजरायल का. यहां की 13% आबादी शाकाहार पर निर्भर है. यहूदी धर्म के लोगों की यहां बहुतायत है जो मांसाहार को बुरा मानते हैं. इसी वजह से इस देश में शाकाहार पसंद करने वाले लोग रहे. अब लोग पर्यावरण की सुरक्षा के लिए भी अपनी मर्जी से शाकाहारी डायट अपना रहे हैं. साल 2014 में यहां पर दुनिया का सबसे बड़ा वेगन फेस्टिवल मनाया गया, जिसमें 15,000 लोग शामिल हुए.



ताइवान तीसरे नंबर का शाकाहारी देश है, जहां 12% लोग वेज डायट लेते हैं. शाकाहार की लोकप्रियता का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि छोटे से देश में लगभग 6,000 रेस्त्रां और ईट-आउट हैं जो शाकाहारी खाना परोसते हैं. बुद्ध और हक्का समुदाय की वजह से देश में इसे बढ़ावा मिला. ताइवान में खाने की चीजों के लिए सख्त नियम है कि वे शाकाहारी और मांसाहारी की अलग लेबलिंग करें और उन्हें अलग रखें.

इटली भी 10% के साथ शाकाहार में आगे हो चला है. यहीं पूरे यूरोप की सबसे बड़ा आबादी सिर्फ शाकाहार लेती है. हालांकि इटली में वेज डायट की सबकी अलग-अलग वजहें हैं. जैसे कोई नैतिक वजहों से, कोई पशुप्रेम के चलते तो कोई मांसाहार के कारण होने वाली बीमारियों से बचाव के लिए शाकाहार अपना रहा है. साल 2016 में यहां के तूरिन शहर में शाकाहार को लेकर एक एजेंडा भी बना लेकिन उसे कोई खास प्रमोशन नहीं मिल सका.

इटली भी 10% के साथ शाकाहार में आगे हो चला है (Photo-pixabay)


ऑस्ट्रिया की 9% आबादी मांस से परहेज करती है. यहां लगातार शाकाहार की लोकप्रियता बढ़ती ही जा रही है. यहां की राजधानी विएना में शाकाहारी रेस्त्रां खुले हैं, जहां रोज लोगों की भीड़ इंतजार करती नजर आती है. यहां के लोग एक कदम आगे निकलते हुए वेगन डायट की ओर बढ़ चुके हैं और Austrian Vegan Society भी बनी हुई है, जो वेगन खाने को बढ़ावा देती है.

इन देशों के अलावा शाकाहारी डायट लेने वाले देशों में जर्मनी (9%), यूनाइटेड किंगडम (9%), ब्राजील (8%), आयरलैंड (6%) और ऑस्ट्रेलिया 5% के साथ सबसे ऊपर है. ऑस्ट्रेलिया में शाकाहार को प्रमोट करने के लिए हर साल के अक्टूबर में वेजिटेरियन वीक भी मनाया जाता है.

यहां की राजधानी विएना में शाकाहारी रेस्त्रां खुले हैं, जहां रोज लोगों की भीड़ इंतजार करती नजर आती है (Photo-pixabay)


पिछले ही साल यूरोमॉनिटर इंटरनेशनल की रिपोर्ट आई थी, जिसमें हमारे पड़ोसी देश पाकिस्तान के बारे में बताया गया कि वहां भी लोग तेजी से शाकाहार अपना रहे हैं. ट्रिब्यून की एक रिपोर्ट के हवाले से दानिश दहराज कहते हैं कि शाकाहारी होना कोई समस्या नहीं. बड़ी मुश्किल ये है कि पाकिस्तानी समाज में इसे वैध कैसे बनाया जाए. दानिश Pakistan Initiative for Veganism के सक्रिय सदस्य भी हैं. वे कहते हैं कि पाकिस्तान में वेजिटेरियन या वेगन होना एकदम नई बात है इसलिए लोग इसे अजीब ढंग से लेते हैं.

मांसाहारी देशों में सबसे ऊपर रहे नाइजीरिया में साल 2019 में ही पहला पूरी तरह से वेजिटेरियन रेस्त्रां खुला है जिसका नाम है वेजी विक्टरी. इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि इस देश में शाकाहार का कंसेप्ट कितना नया है. यहां तक कि पहले शाकाहार को "White people food" माना जाता रहा. ऐसे में एकदम से पूरा का पूरा देश शाकाहार की तरफ क्यों बढ़ने लगा! इसके पीछे पर्यावरण और खासकर क्लाइमेट चेंज पर लगातार हो रही चर्चाओं को देखा जा रहा है. कई ब्लॉगर्स इसपर लिख, बोल रहे हैं और नई पीढ़ी तेजी से इस तरफ बढ़ी है.

ये भी पढ़ें:

कौन हैं काले कपड़ों में वे लोग, जिनसे डरकर डोनाल्ड ट्रंप को बंकर में छिपना पड़ा

कैसा है व्हाइट हाउस का खुफिया बंकर, जिसमें राष्ट्रपति ट्रंप को छिपाया गया

क्या है ट्रंप का वो नारा, जिसने अमेरिका में आग लगा दी

वो राजा, जिसे हिटलर ने तोहफे में दी उस दौर की सबसे आलीशान कार

दुनिया का सबसे रहस्यमयी संगठन, जो खुदकुशी को देता था बढ़ावा
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading