Home /News /knowledge /

तब पहली बार SPG ने की थी चंद्रशेखर के लिए फायरिंग, गई थी एक की जान

तब पहली बार SPG ने की थी चंद्रशेखर के लिए फायरिंग, गई थी एक की जान

चंद्रशेखर (फाइल फोटो)

चंद्रशेखर (फाइल फोटो)

SPG Protection For Prime Minister : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के फिरोजपुर रैली में जाने के दौरान बड़ी सुरक्षा चूक का मामला सामने आया है. हालांकि ऐसी घटनाएं एकाध बार पहले भी हो चुकी हैं. लेकिन तब प्रधानमंत्री की सुरक्षा में रहने वाले स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप यानि एसजीपी को चंद्रशेखर को बचाने के लिए फायरिंग करनी पड़ी थी. इसमें एक स्टूडेंट की जान चली गई थी.

अधिक पढ़ें ...

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पंजाब के फिरोजपुर दौरे में सुरक्षा चूक की खबर सुर्खियों में है. ये गंभीर बात है. वैसे अब तक एक ही बार ऐसा हुआ है कि जबकि गंभीर हालात में प्रधानमंत्री की सुरक्षा करने वाले स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप यानि एसपीजी को फायरिंग करनी पड़ी थी. इसमें एक की जान चली गई थी.

    ये हादसा 25 जनवरी 2000 में हुआ था. उसके निशाने पर थे पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर. तब स्टूडेंट्स का एक ग्रुप जबरदस्ती उस ट्रेन कंपार्टमेंट में घुसने की कोशिश करने लगा, जिसमें पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर यात्रा कर रहे थे. उस समय पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर को एसपीजी सुरक्षा मिली हुई थी. तब पूर्व प्रधानमंत्रियों को भी ये सुरक्षा हासिल होती थी. बाद में इस कानून में संशोधन किया गया. अब पूर्व प्रधानमंत्रियों को पद से हटने के एक साल बाद तक ही ये सुरक्षा मिलती है.

    गाजीपुर के सादत स्टेशन पर हुई ये घटना
    ट्रेन सादत स्टेशन पर रुकी हुई थी. ये स्टेशन उत्तर प्रदेश के गाजीपुर जिले में है. सुरक्षा कर्मियों ने उन्हें हटाने की कोशिश की लेकिन इसमें अफरातफरी फैल गई. स्टूडेंट्स की भीड़ और बेकाबू हो गई. तब एसपीजी को फायरिंग करनी पड़ी. इसमें एक छात्र मारा गया जबकि एक अन्य घायल हो गया.

    चंद्रशेखर जब प्रधानमंत्री थे और बिहार जा रहे थे, तब उनके काफिले पर ना केवल पथराव हुआ बल्कि जमकर नारेबाजी भी.

    हालांकि चंद्रशेखर की एसपीजी सुरक्षा तब हटा ली गई थी जब अटलबिहारी वाजपेयी की एनडीए सरकार केंद्र में थी. इसकी उन्होंने आलोचना भी की थी.

    चंद्रशेखर तब भी बचे थे बाल-बाल
    बाद में पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर के साथ एक और हादसा हुआ. साहिबाबाद में मगध एक्सप्रेस से वो जब नई दिल्ली से बलिया जा रहे थे. तभी उनकी विंडो खिड़की में तेज आवाज हुई.ये हादसा वर्ष 2003 में हुआ था.
    बाद में चंद्रशेखर ने बताया कि उन्हें इस हादसे के बाद एक पुलिस अफसर ने बताया कि उनके कंपार्टमेंट की खिड़की पर भी गोली चली थी.जो एसी विंडो में फंस गई.

    तब पीएम के काफिले पर हुआ था पथराव
    सीनियर जर्नलिस्ट रमेश परिडा ने अपने फेसबुक पेज पर उस घटना का जिक्र किया है जबकि 1991 के लोकसभा चुनाव के समय तत्कालीन पीएम चन्द्रशेखर के काफिले पर बिहार में बीजेपी के लोगों ने पथराव किया था. तब बिहार में लालू प्रसाद यादव मुख्यमंत्री थे. उस वक्त कोई हाय तौबा नहीं मचा. पीएम का काफिला फुर्र से आगे निकल गया.

    तब मनमोहन के काफिले में हुई सुरक्षा चूक
    वर्ष 2006 में मनमोहन सिंह के प्रधानमंत्री रहते भी त्रिवेंद्रम में सुरक्षा चूक हुई थी. एक बार पीएम की मीटिंग के दौरान 25 जनवरी 2000 को एसपीजी एजेंट को गोली चलानी पड़ी थी.

    Tags: High security, Prime minister, Prime Minister Narendra Modi

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर