Home /News /knowledge /

बायो-टॉयलेट से मुफ्त Wi-Fi तक, 2018 में भारतीय रेलवे ने यात्रियों को दिए ये 9 बड़े तोहफे

बायो-टॉयलेट से मुफ्त Wi-Fi तक, 2018 में भारतीय रेलवे ने यात्रियों को दिए ये 9 बड़े तोहफे

बहुत सी ट्रेनों की हालत में सुधार हुआ है, ट्रेनों की शक्लें ही बदली गई हैं. इस साल रेलवे ने ट्रेनों में एक लाख से अधिक बायो-टॉयलेट इनस्टॉल करवाए.

    भारतीय रेलवे के लिए साल 2018 बहुत सफलताओं से भरा रहा. इस साल में भारतीय रेलवे ने अपने यात्रियों के लिए कई बेहतरीन तोहफे दिए. बीते कुछ सालों में रेलवे ने बहुत तरक्की की है, चाहे सुविधाओं के मामले में हो या फिर तकनीकों के. ट्रेनों की हालत में सुधार हुआ है, रेलवे स्टेशन बेहतर हुए हैं और साथ ही ट्रेन के टिकट बुक करने में भी यात्रियों को पहले से बेहतर सुविधाएं मिली हैं.

    इन सभी बेहतरीन सुविधाओं में से ये हैं वो 9 बड़े और सुविधाजनक बदलाव तो बीते एक साल में रेलवे के जरिए आए हैं.

    1. ट्रेनों की हालत में सुधार: बहुत सी ट्रेनों की हालत में सुधार हुआ है, ट्रेनों की शक्लें ही बदली गई हैं. इस साल रेलवे ने ट्रेनों में एक लाख से अधिक बायो-टॉयलेट इनस्टॉल करवाए. इससे ट्रेनों के टॉयलेट पहले से कहीं अधिक हाइजीनिक हो गए हैं जिससे ट्रेनों को साफ रखने में मदद भी मिली है. बहुत सी ट्रेनों पर अलग-अलग पेंटिंग जैसे मधुबनी पेंटिंग की गई है जिससे ट्रेनों का सुन्दरीकरण भी हुआ है.

    2. रेलवे स्टेशनों का सुन्दरीकरण: ट्रेनों के अलावा रेलवे स्टेशन भी पहले से बेहतर बनानाने की कोशिश की गई है. इसके लिए देश के कई रेलवे स्टेशनों की दीवारों पर पेंटिंग बनाई गई है. सरकार द्वारा शुरू किए गए स्वच्छ भारत अभियान का काफी हाथ है. देशभर के करीब 65 रेलवे स्टेशनों का मेकओवर किया गया है.

    3. टीटी लोगों को अब रिजर्वेशन के लिए बेहतर टेक्नोलॉजी: अगर आपने पिछले एक साल में ट्रेन में यात्राएं की हैं, तो आपने टीटी के हाथों में टेबलेट जरूर देखे होंगे. रेलवे ने अब टीटी लोगों को सीटों के रीलोकेशन और खाली सीटों का हिसाब रखने के लिए अब टेबलेट देने शुरू कर दिए हैं. इससे अब पैसेंजर के सामने ही टीटी सीटों को कैंसल या रीलोकेट कर सकते हैं. यात्रियों और टीटी दोनों के लिए ही यह एक बेहतर और आसान तरीका है.

    4. पहला एरोडायनामिक इंजन: साल 2018 में भारतीय रेलवे ने पहला एरोडायनामिक और एर्गोनोमिक इंजन बनाया. यह इंजन चितरंजन लोकोमोटिव वर्क्स डरा बनाया गया था और यह 200 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार की गति से चलती है. यह इंजन राजधानी एक्सप्रेस, गतिमान एक्सप्रेस जैसी ट्रेनों में प्रयोग होगा.

    5. ई-केटरिंग सर्विस: बीते साल में ही रेलवे ने अपने ऑफिशियल ऐप से ई-केटरिंग की सुविधाएं शुरू कीं. इसमें आप अपने PNR नंबर के जरिए किसी भी स्टेशन पर अपने लिए खाना मंगवा सकते हैं. यात्री अपने लिए SMS के जरिए भी खाना मंगवा सकते हैं.

    6. मुफ्त वाई-फाई: रेलवे ने अपने यात्रियों के लिए मुफ्त का वाई-फाई देना शुरू कर दिया है. देश के सभी स्टेशनों पर अब आपको वाई-फाई की सेवा मिलेगी. इससे आप स्टेशन पर ही अपनी ट्रेन का रनिंग स्टेटस और अन्य जानकारिय रेलवे स्टेशन पर ही हासिल कर सकते हैं.

    7. UTS ऐप के जरिए जनरल टिकट: रेलवे के UTS ऐप के जरिए आप ऑनलाइन जनरल टिकट बुक कर सकते हैं. अब रेलवे स्टेशन पर लंबी लाइन लगाकर आपको टिकट बुक करने की जरूरत नहीं है.

    8. तेजस एक्सप्रेस का मेकओवर: रेलवे ने नवंबर में तेजस सुपरफ़ास्ट एक्सप्रेस में नए कोच लगाकर नया कीर्तिमान स्थापित किया है. यह कोच चेन्नई और मदुरै के बीच में चल रहा है. ये कोच पूरी तरह से एयरकंडीशन है और इसमें सभी आधुनिक सुविधाएं जैसे टच फ़्री टॉयलेट, स्मार्ट विंडो, जीपीएस-बेस्ड पैसेंजर इनफार्मेशन इत्यादि हैं.

    9. भारत की पहली इंजनलेस ट्रेन: भारत की पहले लंबी दूरी की ट्रेन-18 इंजनलेस है. यह बहुत हाई-टेक ट्रेन है जो 180 किलोमीटर प्रति घंटे की स्पीड से दौड़ती है.

    ये भी पढ़ें:
    आखिर इंडोनेशिया में ही क्यों आती है दुनियाभर की तबाही?

    LGBTQ: अगली फिल्म में गे व्यक्ति का रोल करेंगे राजकुमार राव, क्या है इसका मतलब?

    Tags: Bullet train, Indian railway

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर