Home /News /knowledge /

भारत से कौन सी दवाएं मंगाना चाहता है पाकिस्तान, जिस पर वहां मचा हंगामा

भारत से कौन सी दवाएं मंगाना चाहता है पाकिस्तान, जिस पर वहां मचा हंगामा

भारत से दवाएं मंगाने को लेकर इमरान खान सरकार पर आरोप लग रहे हैं.

भारत से दवाएं मंगाने को लेकर इमरान खान सरकार पर आरोप लग रहे हैं.

पाकिस्तान (Pakistan) की फार्मा इंडस्ट्री (Pharma Industry) बड़े स्तर पर भारत पर निर्भर है. भारत से बड़ी संख्या में लाइफ सेविंग ड्रग्स (Life Saving Drugs) पाकिस्तान में आयात की जाती हैं. लेकिन अब दवाओं के आयात को लेकर पाकिस्तान में राजनीतिक बवाल मच गया है.

अधिक पढ़ें ...
    पाकिस्तान में कोरोना वायरस के बढ़ते कहर के बीच भारत से दवाएं मांगने का मामला तूल पकड़ने लगा है. दरअसल भारत से दवा आयात करने के इमरान सरकार के फैसले को वहां की विपक्षी पार्टियों ने स्कैंडल करार दिया है. पाकिस्तानी विपक्ष का आरोप है कि जरूरी दवाओं (Life Saving Drugs) की आड़ में सरकार ने मामूली दवाएं भी आयात करने का फैसला किया है. विपक्ष का आरोप है कि इसमें करोड़ों रुपए का भ्रष्टाचार है. दरअसल, पाकिस्तान ने भारत से लाइफ सेविंग ड्रग्स मंगाने का फैसला किया है जिस पर ये बवाल उठ खड़ा हुआ है.

    लंबे समय से भारत से दवाएं मंगा रहा है पाकिस्तान
    दरअसल पाकिस्तान भारत से लाइफ सेविंग ड्रग्स लंबे समय से मंगाता रहा है. पाकिस्तान की भारत से मंगाई गई दवाओं पर बड़े स्तर पर निर्भरता है. लेकिन इस वक्त इमरान खान कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों की वजह से चौतरफा घिरे हुए हैं. इसी बीच विपक्ष के आरोपों ने उनकी मुश्किलें और बड़ी कर दी हैं. मुस्लिम लीग (नून) के अध्यक्ष और संसद में नेता प्रतिपक्ष नवाज शरीफ ने इस कथित घोटाले की संसदीय समिति से जांच कराने की मांग की है.

    नवाज शरीफ को पिछले साल लौहार हाई कोर्ट ने चिकित्सीय आधार पर विदेश जाने की अनुमति दी थी
    नवाज शरीफ


    आरोपों में घिरे इमरान
    इस तरह के आरोप इमरान सरकार को तब भी झेलने पड़े थे जब उसने सितंबर 2019 में लाइफ सेविंग ड्रग्स का आयात खोला था. दरअसल, अगस्त में भारत सरकार द्वारा जम्मू-कश्मीर पर लिए गए बड़े फैसले के बाद पाकिस्तान ने इन दवाओं पर प्रतिबंध लगा दिया था. लेकिन पाकिस्तान सरकार अपने फैसले पर टिकी नहीं रह सकी और एक महीने से भी कम समय के भीतर दोबारा दवाओं का आयात खोलना पड़ा.

    दवाओं के लिए भारत पर डिपेंड है पाकिस्तान
    पाकिस्तानी अखबार द एक्सप्रेस ट्रिब्यून में मेडिकल मार्केटिंग के एक्सपर्ट डॉ. सोहैल खान द्वारा लिखे गए एक ब्लॉग में कहा गया है कि पाकिस्तान का फार्मा सेक्टर भारत की मदद के बिना सर्वाइव ही नहीं कर सकता. पाकिस्तान की फार्मा कंपनी जो दवाएं बनाती भी हैं उसका आधे से ज्यादा रॉ मैटेरियल भारत से आयात किया जाता है. लाइफ सेविंग ड्रग्स मुख्य रूप से गंभीर रोगों और सर्जिकल प्रोसीजर के दौरान इस्तेमाल की जाती हैं. साथ इसे देशों की ज्यादा होने वाली बीमारियों के आधार पर भी तैयार किया जाता है.

    प्रतीकात्मक तस्वीर


    कौन सी दवाएं आयात करता है पाकिस्तान
    इन दवाओं की लंबी फेहरिस्त है. तकरीब 450 तरह की दवाएं और रॉ मैटरियल पाकिस्तान भारत से मंगाता है. इनमें एनेस्थिसिया, सिडेटिव दवाएं, एंटी एलर्जिक दवाएं, एंटी इंफेक्टिव दवाओं के अलावा एंटी रेबीज और एंटी वेनम दवाएं शामिल हैं. बड़ी संख्या में रॉ मेटेरियल मंगवाकर पाकिस्तान अपने यहां भी दवाएं तैयार करता है. गौरतलब है कि भारत दवाओं के आयात के मामले में दुनिया के अग्रणी देशों में शामिल है.

    इमरान ही हैं स्वास्थ्य मंत्री
    नवाज शरीफ के भाई शहबाज शरीफ का कहना है कि इमरान खान खुद देश के हेल्थ मिनिस्टर भी हैं. दवाएं मंगाने का ये फैसला कैबिनेट ने लिया था इसलिए इमरान इस जिम्मेदारी से बच नहीं सकते. माना जा रहा है कि इस मामले में पाकिस्तान की राजनीति अगले कुछ दिनों में गर्मा सकती है.

    ये भी देखें:

    औषधीय भांग से बनी दवा हो सकती है कोरोना वायरस का कारगर इलाज!

    1857 की क्रांति के बाद भारत में ये बड़े बदलाव करने को मजबूर हो गई थी ब्रिटिश हुकूमत

    जानें हांगकांग ने कोरोना वायरस की सेकेंड वेव को कैसे कर लिया काबू

    इस बीमारी के मरीजों में कोरोना संक्रमित होने पर तीन गुना बढ़ जाती है मौत की आशंका

    तो इसलिए चमगादड़ कोरोना वायरस शरीर में होते हुए भी नहीं पड़ते हैं बीमार

    Tags: Generic medicines, Imran khan, India pakistan, Medicine

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर