अंग्रेजी अख़बारों से: करणी सेना ने जावेद अख़्तर को दी आंखें निकाल लेने की धमकी

राजस्थान स्थित एक राजपूत संगठन करणी सेना की महाराष्ट्र शाखा ने गीतकार जावेद अख्तर को हिंसा की धमकी दी है.

News18Hindi
Updated: May 4, 2019, 8:34 AM IST
अंग्रेजी अख़बारों से: करणी सेना ने जावेद अख़्तर को दी आंखें निकाल लेने की धमकी
जावेद अख़्तर (फाइल फोटो)
News18Hindi
Updated: May 4, 2019, 8:34 AM IST
राजस्थान स्थित राजपूत संगठन करणी सेना की महाराष्ट्र शाखा ने गीतकार जावेद अख़्तर को हिंसा की धमकी दी है. जावेद अख्तर ने राजस्थान में घूंघट को, बुर्के की ही तरह (अगर बुर्का देश में बैन हो तो) बैन किए जाने की बात कही थी. जिसके बाद करणी सेना ने यह बयान दिया है. इसके अलावा और क्या हैं आज की राजनीतिक सुर्खियां, पढ़ें-

करणी सेना ने जावेद अख़्तर को दी आंखें निकाल लेने की धमकी

# टाइम्स ऑफ इंडिया की एक ख़बर के अनुसार राजस्थान स्थित एक राजपूत संगठन करणी सेना की महाराष्ट्र शाखा ने गीतकार जावेद अख्तर को हिंसा की धमकी दी है.

# जावेद अख़्तर ने कहा था कि अगर 'सामना' (शिवसेना का मुखपत्र) जैसी आवाजें एक तरफा बुर्के पर प्रतिबंध की मांग करती हैं तो राजस्थान में घूंघट की प्रथा पर भी रोक लगनी चाहिए.

# करणी सेना की महाराष्ट्र शाखा के अध्यक्ष जीवन सिंह सोलंकी ने इसपर कहा, 'बुर्का आतंकवाद से जुड़ा हुआ है और राष्ट्रीय सुरक्षा (का प्रश्न) है. हमने अख़्तर से तीन दिन में माफी मांगने को कहा है, वरना उन्हें इसके नतीज़े भुगतने होंगे.'

राहुल गांधी ने अमेठी के लोगों को खत लिखकर बताया, वायनाड से चुनाव लड़ने का कारण

# टाइम्स ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट के मुताबिक कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शुक्रवार को अमेठी के मतदाताओं से पत्र लिखकर भावुक अपील की है कि उन्हें फिर से चुनें.
# राहुल गांधी ने इस पत्र में विकास कार्यों को तेज करने का वादा किया है. उन्होंने इसमें यह भी लिखा की इस सीट पर विकास को बीजेपी ने रोक रखा है.

# अपने 'अमेठी परिवार' के लोगों को हिंदी में लिखे एक पत्र में राहुल गांधी ने कहा कि वे उनसे ताकत पाते हैं और मजबूती से खड़े होते हैं और उनकी परेशानियों को सुनते हैं. वे देश को एकजुट करने के लिए वायनाड से लड़ रहे हैं.

बीजेपी और कांग्रेस में चुनावी खर्च के मामले में कांटे की लड़ाई

# हिंदुस्तान टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक अभी भले ही सारी पार्टियों की खर्चे की रिपोर्ट सामने न हो लेकिन लोकसभा चुनावों के आखिरी चरणों तक आते-आते जानकार एक विशेष ट्रेंड की बात कर रहे हैं. यह बात है कि इन चुनावों में बीजेपी और कांग्रेस का खर्च लगभग बराबर ही रहा है.

# हालांकि गूगल और फेसबुक के जारी किए ऑनलाइन खर्चों के आंकड़ों की बात करें तो कांग्रेस का सोशल मीडिया पर चुनावी खर्च चौथे चरण के आखिरी तक बीजेपी से बहुत कम था.

# कुछ महीने पहले ही हुए राजस्थान, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और तेलंगाना के चुनावों में कांग्रेस ने 207 करोड़ रुपये खर्च किए थे. जो बीजेपी के 233.5 करोड़ से थोड़ा ही कम था.

असम में बीजेपी एमएलए बोले, 'मुस्लिम वो गाय जो दूध नहीं देती'

# इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के अनुसार असम के डिब्रूगढ़ से बीजेपी के एमएलए प्रशांता फूकन ने लोकसभा चुनावों में वोटों के बंटवारे पर बात करते हुए विवादित बयान दिया.

# फूकन ने कहा, "अल्पसंख्यक समुदाय ऐसी गाय की तरह जो दूध नहीं देती और पूछा कि ऐसे जानवर को भूसा खिलाने का क्या फायदा है?"

# विधानसभा में विपक्षी के नेता देबब्रत सैकिया ने स्पीकर से गुरुवार को इस मामले में कार्रवाई करने की सिफारिश की है.

जम्मू और कश्मीर में पार्टियों ने अनंतनाग में कम वोटर टर्नआउट पर जताई चिंता

# इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के मुताबिक अनंतनाग में हुए पहले दो चरणों के चुनाव में हुए बहुत कम मतदान पर जम्मू और कश्मीर की पार्टियों ने चिंता जाहिर की है.

# राज्य विधानसभा में इसने पीडीपी की हालत खराब की है, जिसकी नेता महबूबा मुफ्ती संसद और राज्य विधानसभा दोनों में ही इस सीट का प्रतिनिधित्व करती हैं.

# इस सीटपर तीन चरणों में चुनाव होना है. पहले चरण का चुनाव 23 अप्रैल को और दूसरे चरण का 26 अप्रैल को हो चुका है. अब तीसरे चरण का 6 मई को होना है.

यह भी पढ़ें: क्या नेहरू ने पटेल को देश का पहला पीएम बनने से रोका था

नॉलेज की खबरों को सोशल मीडिया पर भी पाने के लिए 'फेसबुक' पेज को लाइक करें
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...