कुल कितना पदार्थ है ब्रह्माण्ड में, जानिए वैज्ञानिकों ने कैसे लगाया अनुमान

ब्रह्माण्ड (Universe) में पदार्थ-ऊर्जा (Matter-energy) के घनत्व (Density) का अनुपात सटीकाता से लगाने का दावा किया गया है. (प्रतीकात्मक तस्वीर: Pixabay)
ब्रह्माण्ड (Universe) में पदार्थ-ऊर्जा (Matter-energy) के घनत्व (Density) का अनुपात सटीकाता से लगाने का दावा किया गया है. (प्रतीकात्मक तस्वीर: Pixabay)

ब्रह्माण्ड (Universe) में पदार्थ (Matter) की मात्रा का अनुमान लगाने के लिए शोधकर्ताओं ने गैलवेट (GalWeight) तकनीक का उपयोग किया. यह अब तक का सबसे सटीक मापन (Measurement) है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 30, 2020, 1:02 PM IST
  • Share this:
हम सबने बहुत बार सुना है कि ब्रह्माण्ड (Universe) अनंत है. वैज्ञानिक भी आज तक इसके ओर छोर का पता लगा पाने की स्थिति में नहीं पहुंच सकें हैं. फिर भी कई अप्रत्यक्ष तरीकों से ब्रह्माण्ड में उर्जा (Energy) और पदार्थ (Matter) की मात्रा के अनुमान लगाए गए हैं. वैज्ञानिकों के अनुमानों के अनुसार ब्रह्माण्ड का पदार्थ और उर्जा का ज्यादातर घनत्व डार्क उर्जा (Dark Energy) के रूप में है जिसकी मौजूदगी तक का परीक्षण वैज्ञानिक नहीं कर सके हैं. लेकिन अब शोधकर्ताओं ने ब्रह्माण्ड के कुल पदार्थ की मात्रा (Amount of matter) सटीक अनुमान लगा लिया है.

मापन की समस्या
ब्रह्माण्ड में पदार्थ का मापन करना आसान काम नहीं है. हम अभी तक यह जानते हैं कि डार्क ऊर्जा ही वह बल है जो ब्रह्माण्ड के विस्तार के लिए जिम्मेदार है. समान्य पदार्थ, डार्क मैटर और डार्क ऊर्जा के अनुपात का सही आंकलन करना एक बहुत ही बड़ी चुनौती है, लेकिन शोधकर्ताओं का कहना है कि उन्होंने  पदार्थों के अनुपात का अब तक का सबसे सटीक मापन कर लिया है.

कितना अनुपात निकला
शोधकर्ताओं की गणनाओं के मुताबिक सामान्य पदार्थ और डार्क मैटर मिलकर ब्रह्माण्ड के पदार्थ-ऊर्जा धनत्व का 31.5 प्रतिशत हिस्सा है, बाकी 68.5 प्रतिशत हिस्सा डार्क ऊर्जा का है. यह शोध एस्ट्रोफिजिकल जर्नल में प्रकाशित हुआ है. मिस्र में नेशनल रिसर्च इंस्टीट्यूट ऑफ एस्ट्रोनॉमी  एंड जियोफिजिक्स और रिवरसाइड की यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निय के शोधकर्ताओं ने यह अध्ययन किया.



कितना घनत्व
शोधकर्ताओं का कहना है कि अगर पूरा पदार्थ ब्रह्माण्ड में समान रूप से फैला होगा तो उसका औसत भार घनत्व छङ हाइड्रोजन परमाणु प्रति घन मीटर आएगा. लेकिन 80 प्रतिशत पदार्थ वास्तव में डार्क मैटर है यानि अधिकतर पदार्थ हाइड्रोजन परमाणु से नहीं बल्कि ऐसे पदार्थ से बना है जिसे वैज्ञानिक अभी तक समझ नहीं सके हैं.

Universe, Matter, energy, Galaxy Cluster, Galaxies,
शोधकर्ताओं ने गैलेक्सी समूह (Galaxy Cluster) को गणना कर ब्रह्माण्ड में पदार्थ (Matter) की मात्रा का अनुमान लगाया. (प्रतीकात्मक तस्वीर: M81@chandraxray)


डार्क ऊर्जा को समझना
ब्रह्माण्ड को समझने के लिए डार्क ऊर्जा को समझना जरूरी है जो अभी तक समझा नहीं जा सका है क्योंकि इसी की वजह से हम ब्रह्माण्ड के इतिहास के बारे में भी सटीकता से नहीं जान सके हैं. एक बार हमें ब्रह्माण्ड के विस्तार की दर को बेहतर तौर से समझ लें तो हमें उसके विकास के बारे में भी पता चल जाएगा. इसी लिए डार्क ऊर्जा के गुणों का समझना बहुत जरूरी है. इस अध्ययन के प्रमुख शोधकर्ता मोहम्मद अब्दुल्ला और उनकी टीम ने एक नया तरीका निकाला. यह गैलेक्सी क्लस्टर्स, जो हजारों गैलेक्सी का समूह जो गुरुत्व से जुड़ा होता है, के आसपास की गतिविधियों पर आधारित है.

चीन इस साल नवंबर में भेजेगा दुनिया का पहला Asteroid Mining Robot

गैलेक्सी समूह का उपकरण
ब्रह्माण्ड में पदार्थ की मात्रा मापने के लिए गैलेक्सी समूह एक अच्छा उपकरण है क्योंकि वहां ब्रह्माण्ड का बहुत सारा पदार्थ ब्रह्माण्ड की उम्र भर से गुरुत्व से जमा होता रहा है. एक निश्चित आयतन में गैलेक्सी समूहों की संख्या पदार्थ की मात्रा के प्रति संवेदनशील होता है इसलिए गैलेक्सी समूहों की संख्या पता करने से पदार्थ की मात्रा का अच्छा मापन हो सकता है. लेकिन यह आसान नहीं होता.

यह नई तकनीक
इसके लिए शोधकर्ताओं ने गालवेट (GalWeight) तकनीक का उपयोग किया जिसमें समूहों के अंदर और बाहर गैलेक्सियो की कक्षा से पता लगाया गया कि कौन सी गैलेक्सी किस समूह में है. इससे वे गैलेक्सियों की गणना करने में 98 प्रतिशत तक सफल रहे जिसका मतलब था कि उनकी पदार्थ मात्रा की गणना भी उतनी ही सटीक होने वाली थी.

GalWeight, Universe, Matter, energy, Galaxy Cluster, Galaxies,
गैलेक्सी समूह (Galaxy Cluster) की गणना करना आसान काम नहीं था पर गैलवेट (GalWeight) तकनीक से शोधकर्ताओं को रास्ता मिला. (प्रतीकात्मक तस्वीर)


और फिर सिम्यूलेशन
शोधकर्ताओं ने स्लोगन डिजिटल स्काई सर्वे से अवलोकित आंकड़ों पर यह तकनीक लागू की और गैलेक्सी समूहों का कैटलॉग बना दिया. इसके बाद न्यूमेरिकल सिम्यूलेशन का उपयोग कर उन्होंने ब्रह्माण्ड में पदार्थ की मात्रा की गणना की.

कैसे इतनी सपाट दिखने वाली बन जाती हैं गैलेक्सियों की Disk- शोध ने बताया

शोधकर्ताओं का दावा है कि उनकी पद्धति ब्रह्माण्ड में पदार्थ की मात्रा की गणना करने की अब तक की सबसे सटीक पद्धति है. उनका मानना है कि गालवेट तकनीक ब्रह्माण्ड की अन्य विशेषताओं को पता लगाने में भी मददगार साबित हो सकती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज