वैज्ञानिकों ने बनाया खास पदार्थ, सेकेंड में सुधारेगा मोबाइल की क्रैक स्क्रीन

मोबाइल फोन की स्क्रीन (Mobile Phone screen) में क्रैक होना मोबाइल उपभोगताओं की सबसे बड़ी समस्या है. (प्रतीकात्मक तस्वीर: shutterstock)

पदार्थ वैज्ञानिकों (Material Scientists) ने ऐसा अपने आप ठीक होने वाला पदार्थ तैयार किया है जो मोबाइल (Mobile) की क्रेक स्क्रीन (Cracked Screen) को एक सेकेंड के अंदर ही ठीक कर सकता है.

  • Share this:
    स्मार्ट फोन (Smart Phone) दिन ब दिन स्मार्ट होते जा रहे हैं. इनमें केवल सॉफ्टवेयर फीचर ही नहीं बल्कि हार्डवेयर भी इस तरह से अपडेट हो रहे हैं जिससे सेलफोन कंपनियां लोगों के लिए उनके मोबाइल और ज्यादा सुरक्षित, आरामदेह और नई सुविधाओं से युक्त बना रहे हैं. इनमें से कई सुविधाएं तो कुछ साल पहले तक कल्पनीय भी लगती थी जैसे कि फोल्डेबल स्क्रीन वाले फोन. इसी तरह का अनोखा फीचर भी कुछ ही समय में बाजार के मोबाइल फोन में दिखाई देने लगेगा क्यों वैज्ञानिकों ने ऐसा पदार्थ (Material) खोज लिया है जिससे फोन की क्रैक स्क्रीन कुछ ही सेकेंड में अपने आप ठीक (Self-Healing) हो जाएगी.

    एक बड़ी समस्या है ये
    स्क्रीन का क्रैक होना एक बहुत बड़ी समस्या है. मोबाइल में स्क्रीन ही है जिसके सबसे पहले क्रैक होने का खतरा सबसे ज्यादा होता है. लोग इसके लिए स्क्रीन गार्ड, मोबाइल कवर का सहारा लेते हैं और उन्हें इस बात का खास ख्याल रखना होता है कि उनका मोबाइल ना गिरे और उसकी स्क्रीन क्रैक ना होने पाए. क्रैक होने की स्थिति में उसे बदलना भी आसान नहीं हैं. इस दुकान पर ले जाकर ही बदवाना पड़ता है.

    भारतीय शोधकर्ताओं ने
    अब कोलकाता के भारतीय विज्ञान शिक्षा और अनुसंधान संस्थान के शोधकर्ताओं ने इस समस्या का हल निकाल लिया है. उन्होंने ऐसा पदार्थ पता करने में सफलता पाई जो स्मार्टफोन स्क्रीन के लिए आदर्श है. यह पारदर्शी पदार्थ बहुत मजबूत होने के साथ चटकने पर खुद ब खुद ठीक हो जाता है. इस पदार्थ से स्मार्ट फोन में बहुत ही अहम सुविधा देखने को मिल सकेगी.

    पहले भी हुए हैं ऐसे प्रयास
    वैज्ञानिक  दशकों से इस तरह का पदार्थ विकसित करने का प्रयास कर रहे थे जो खुद ब खुद ठीक हो सके यानि सेल्फ हीलिंग पदार्थ के रूप में काम कर सके. इस काम में पहले वैज्ञानिकों को सफलता भी मिल चुकी है. इससे पहले अमेरिकन कैमिकल सोसाइटी के शोधकर्ताओं ऐसे छोठे तैरने वाले रोबोट विकसित किए थे जो चुंबकीय तौर से खुद को सुधार सकते थे. वहीं सिंगापुर की नेशनल यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने स्मार्ट फोम पदार्थ बनाया जिससे रोबोट के हाथ खुद सुधर सकते हैं और वे चीजों को महसूस भी कर सकते हैं.

    Mobile, Mobile Repairing, Material Science, Self-Healing Material, Toughest Self-Healing Material, mobile cracked screen,
    मोबाइल फोन की स्क्रीन (Mobile Phone screen) क्रैक से निजात एक बहुत बड़ी सुविधा साबित होगी. (प्रतीकात्मक तस्वीर: shutterstock)


    लेकिन मोबाइल के लिए
    इन दोनों ही मामलों में समस्या यह थी कि यह पदार्थ नर्म और अपारदर्शी थे और स्मार्ट फोन स्क्रीन जैसे उपयोगों के लिए उपयुक्त नहीं थे. द टेलीग्राफ की रिपोर्ट के अनुसार ISER  के शोधकर्ताओं ने आईआईटी खड़गपुर के शोधकर्ताओं के साथ ऐसा पदार्थ विकसित करने पर ध्यान दिया जो परंपरागत स्वः उपचारक पदार्थों से अधिक ठोस और मजबूत हो.

    क्या घर में लगे स्मार्ट बिजली और गैस के मीटर करते हैं आपकी जासूसी

    किस तरह का पदार्थ खोजा
    साइंस जर्नल में प्रकाशित इस शोध में मिले प्रयोगात्मक नतीजों के मुताबिक शोधकर्ताओं ने एक पाइजोइलेक्ट्रिक जैविक पदार्थ का उपयोग किया जो यांत्रिक ऊर्जा को विद्युत ऊर्जा में और विद्युत ऊर्जा को यांत्रिक ऊर्जा में बदल देता है. इससे सुई के आकर के क्रिस्टल होते हैंजो 2 मिलीमीटर लंबाई और 0.2 मिलीमीटर चौड़ाई से बड़े नहीं होते हैं.

    Mobile Repairing, Material Science, Self-Healing Material, Toughest Self-Healing Material, mobile cracked screen,
    एक बार मोबाइल फोन की स्क्रीन (Mobile Phone screen) टूट जाए तो उसे बदलने में विशेषज्ञ की जरूरत होती है. (प्रतीकात्मक तस्वीर: shutterstock)


    कैसे जुड़ती है स्क्रीन
    इन विशेष रूप से डिजाइन किए गए क्रिस्टल में परमाणुओं के क्रम के कारण दो सतहों के बीच एक तीव्र आकर्षण बल लगता है. जब भी सतह पर कोई टूटन, जैसे की स्क्रीन में क्रैक होना, होती है, आकर्षण बल के कारण टुकड़े वापस पुरानी स्थिति आ जातो हैं. इसके लिए ऊष्मा जैसी किसी उत्प्रेरक की जरूरत नहीं होती है जैसा कि बहुत से स्वउपचारक पदार्थों के लिए जरूरी होते हैं.

    Atmospheric Dynamo: इस खास जनरेटर की गुत्थी सुलझाने के करीब पहुंचे वैज्ञानिक

    शोधकर्ताओं का कहना है कि उनका पदार्थ दूसरे स्वउपचारक पदार्थों की तुलना में 10 गुना अधिक ठोस है और अधिकांश इलेक्ट्रॉनिक और ऑप्टिकल उपयोगों के लिए उपयुक्त है. उनका मानना है कि यह जल्द ही सभी फोन में उपयोग में लाया जाने लगेगा. क्रैक हुई मोबाइल स्क्रीन का ठीक होना केवल एक उपयोग है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.