अगर ये नियम जान लेंगे तो ट्रैफिक पुलिस वाले नहीं कर पाएंगे बदसलूकी

नया मोटर व्हीकल एक्ट (New Motor Vehicle Act) लागू हो जाने के बाद ट्रैफिक नियमों (New Traffic Rules) को तोड़ने पर भारीभरकम जुर्माना वसूला जा रहा है. इस एक्ट के लागू हो जाने के बाद सख्त हुए नियमों के बीच आपको भी अपने कुछ अधिकार जानने चाहिए...

Vivek Anand | News18Hindi
Updated: September 7, 2019, 8:22 PM IST
अगर ये नियम जान लेंगे तो ट्रैफिक पुलिस वाले नहीं कर पाएंगे बदसलूकी
ट्रैफिक पुलिस के जवान आपके साथ गलत व्यवहार नहीं कर सकते
Vivek Anand | News18Hindi
Updated: September 7, 2019, 8:22 PM IST
नया मोटर व्हीकल एक्ट (New Motor Vehicle Act) लागू हो जाने के बाद ट्रैफिक नियमों (New Traffic Rules) को तोड़ना भारी पड़ने लगा है. नए एक्ट में ट्रैफिक रुल्स तोड़ने पर भारी भरकम जुर्माना (Fine) वसूला जा रहा है. ट्रैफिक पुलिस (Traffic Police) नए एक्ट के हिसाब से मुस्तैदी से नियमों का पालन करवा रही है. नियमों का उल्लंघन करने पर हजारों-हजार के चालान (Traffic Challan) कट रहे हैं.

ट्रैफिक नियमों को फॉलो करना जरूरी है लेकिन आपको नियमों का हवाला देकर ट्रैफिक पुलिस परेशान नहीं कर सकती है. ट्रैफिक पुलिस के जवान आपसे गलत व्यवहार नहीं कर सकते हैं. साथ ही आपको अपने अधिकार भी पता होने चाहिए.

ट्रैफिक पुलिस आपके साथ ये नहीं कर सकती
ट्रैफिक पुलिस आपको रोक सकती है. लेकिन आपके पास भी कुछ अधिकार हैं. जिस तरह से आप नियमों से बंधे हैं, वैसे ही ट्रैफिक पुलिस के जवानों को भी नियम फॉलो करने हैं. मसलन हर ट्रैफिक जवान को यूनिफॉर्म में रहना जरूरी है. यूनिफॉर्म पर बकल नंबर और उसका नाम होना चाहिए. अगर ये दोनों ट्रैफिक पुलिस के पास नहीं हैं तो आप उससे पहचान पत्र दिखाने को कह सकते हैं. अगर ट्रैफिक पुलिस अपना पहचान पत्र दिखाने से मना करता है तो आप अपनी गाड़ी के दस्तावेज उसे न दें.

दूसरी अहम बात है कि जिस ट्रैफिक पुलिस ने आपको रोका है, उसके पास चालान बुक या ई-चालान होना चाहिए. इसके बिना वो नियमानुसान चालान नहीं कर सकते.

traffic police can not do this even if you break the new motor vehicle act rule
आप ट्रैफिक पुलिस के गलत व्यवहार की शिकायत कर सकते हैं


जब भी आपको कोई ट्रैफिक पुलिस का जवान रोकता है तो आप गाड़ी आराम से किनारे लगाएं. अपनी गाड़ी के दस्तावेज उसे दिखाएं. ये ध्यान रखें कि आपको गाड़ी के दस्तावेज दिखाने हैं, उन्हें ट्रैफिक पुलिस को सौंपना नहीं है. इस दौरान आपको ट्रैफिक पुलिस से सहयोग करना है. लेकिन जवान का भी आपके साथ शालीनता से पेश आना जरूरी है.
Loading...

ट्रैफिक पुलिस के जवान जबरदस्ती आपकी गाड़ी की चाबी नहीं निकाल सकते. आपके साथ किसी भी तरह की बदतमीजी नहीं कर सकते. आपको भी ट्रैफिक पुलिस के साथ बहस से बचना चाहिए. परेशानी की हालत में ट्रैफिक पुलिस भी आपकी समस्या को समझते हुए नरमी से पेश आ सकते हैं.

आपको इन अधिकारों के बारे में पता होना चाहिए
ट्रैफिक पुलिस आपकी गाड़ी की चाबी नहीं छीन सकती. अगर आपकी गाड़ी सड़क के किनारे खड़ी है तो क्रेन उसे तब तक नहीं उठा सकती, जब तक आप गाड़ी के अंदर बैठे हों. आपकी गाड़ी गलत तरीके और गलत जगह पर पार्क है, तभी गाड़ी उठाई जा सकती है.

अगर ट्रैफिक नियमों को तोड़ने पर ट्रैफिक पुलिस आपको हिरासत में लेती है तो हिरासत में लेने के 24 घंटों के भीतर मजिस्ट्रेट के सामने पेश करना जरूरी है. अगर आपको ट्रैफिक पुलिस परेशान या प्रताड़ित कर रही है तो संबंधित पुलिस थाने में इसकी शिकायत की जा सकती है.

traffic police can not do this even if you break the new motor vehicle act rule
आपको भी ट्रैफिक पुलिस के साथ शालीनता से पेश आना होगा


ट्रैफिक पुलिस गलत व्यवहार करे तो आप ये कर सकते हैं
आप ट्रैफिक पुलिस के गलत व्यवहार की लिखित शिकायत कर सकते हैं. शिकायत पत्र आप ट्रैफिक पुलिस अधीक्षक (एसपी) या जिले के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) को दे सकते हैं. हरियाणा और चंडीगढ़ में ऐसे भी नियम हैं कि चालान पर हस्ताक्षर करने से पहले ड्राइवर अपने कमेंट्स लिख सकता है.

चालान कटने का ये मतलब कतई नहीं है कि आपने ट्रैफिक पुलिस के गलत व्यवहार की शिकायत करने का अधिकार खो दिया. चालान कटवाने के बावजूद आप ट्रैफिक पुलिस की शिकायत कर सकते हैं. साथ ही आपको भी ट्रैफिक पुलिस के साथ सम्मानजनक व्यवहार करना चाहिए. अगर आप बदतमीजी से पेश आते हैं तो ट्रैफिक पुलिस चालान में एक और ऑफेंस जोड़ सकता है.



ये भी पढ़ें: 

ट्रैफिक पुलिस के चालान से ऐसे बच सकते हैं आप
कांग्रेस के सबसे अमीर नेताओं में एक हैं शिवकुमार, 6 साल में 600 करोड़ रुपये बढ़ी संपत्ति
ऐसे होंगे चंद्रयान-2 के आखिरी सबसे मुश्किल 15 मिनट

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नॉलेज से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 4, 2019, 1:33 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...