गाड़ी के नंबर प्लेट को लेकर ये कानून तोड़ा तो जाएंगे जेल

News18Hindi
Updated: September 5, 2019, 2:31 PM IST
गाड़ी के नंबर प्लेट को लेकर ये कानून तोड़ा तो जाएंगे जेल
कार या बाइक पर सही नंबर प्लेट का होना बहुत जरूरी है

नया मोटर व्हीकल एक्ट (Motor Vehicle Act) लागू होने के बाद ट्रैफिक के नियमों (traffic rules) का उल्लंघन करने पर भारी भरकम जुर्माना वसूला जा रहा है. गाड़ियों के नंबर प्लेट (number plate) को लेकर भी नियम कायदे हैं, जिन्हें जानना बेहद जरूरी है...

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 5, 2019, 2:31 PM IST
  • Share this:
नया मोटर व्हीकल एक्ट (Motor Vehicle Act) लागू होने के बाद ट्रैफिक के नियम (traffic rules) काफी सख्त हो गए हैं. नए एक्ट में ट्रैफिक के नियमों का उल्लंघन करने पर भारी भरकम जुर्माना (fine) लगाया जा रहा है. इसलिए आपको ट्रैफिक नियमों की पूरी जानकारी होना जरूरी है. नंबर प्लेट (number plate) को लेकर भी नियम कायदे हैं, जिनके बारे में जानना जरूरी है.

ट्रैफिक नियमों में बाइक, थ्री व्हीलर या कार के नंबर प्लेट को लेकर कई तरह के दिशानिर्देश हैं, जिनको फॉलो किया जाना जरूरी है. कई लोग नंबर प्लेट को लेकर लापरवाही दिखाते हैं, लेकिन ऐसा करना आपको मुश्किल में डाल सकता है.

ट्रैफिक रूल्स के मुताबिक नंबर प्लेट पर रोमन या अरेबिक फॉन्ट में ही नंबर लिखवा सकते हैं. नंबर साफ-साफ और स्पष्ट लिखा होना चाहिए ताकि वो दूर से ही नजर आए. किसी भी दूसरे फॉन्ट से आड़े-तिरछे नंबर लिखवाना गैरकानूनी है. स्टायलिश फॉन्ट का इस्तेमाल भी नहीं करना चाहिए. मोटर व्हीकल एक्ट के नियम नंबर 50 और 51 में इस बारे में जानकारी दी गई है.

गाड़ियों के नंबर प्लेट को लेकर ये हैं नियम

बाइक और कार के साथ दूसरी गाड़ियों के नंबर प्लेट को लेकर खास नियम हैं. इसमें 70 सीसी से नीचे की बाइक के नंबर प्लेट में फॉन्ट की लंबाई 15 एमएम, चौड़ाई 2.5 एमएम और नंबर या अक्षर के बीच में 2.5 एमएम की खाली जगह होनी चाहिए. अगर 70 सीसी से ज्यादा की बाइक या थ्री व्हीलर होता है तो नंबर वाले फॉन्ट की लंबाई 30 एमएम, चौड़ाई 5 एमएम और नंबर या अक्षर के बीच 5 एमएम का गैप होना चाहिए.

traffic rules for number plate of car and bike in new motor vehicle act to avoid challan and fines
नंबर प्लेट पर गाड़ी के रजिस्ट्रेशन के अलावा कुछ और लिखवाना गैरकानूनी है


500 सीसी के नीचे की बाइक या थ्री व्हीलर में नंबर के फॉन्ट की लंबाई 35 एमएम, चौड़ाई 7 एमएम और दो नंबर या अक्षर के बीच 5 एमएम का गैप होना चाहिए. 500 सीसी के ऊपर के सभी बाइक और कार की नंबर प्लेट में नंबर की लंबाई 65 एमएम, चौड़ाई 10 एमएम और नंबर या अक्षर के बीच 10 एमएम का गैप होना चाहिए.
Loading...

नंबर प्लेट के कलर को लेकर नियम
नंबर प्लेट के कलर को लेकर भी नियम हैं. इन नियमों से व्हीकल के प्राइवेट या कमर्शियल होने की जानकारी मिलती है. मसलन प्राइवेट व्हीकल के नंबर प्लेट का बैकग्राउंड सफेद और उस पर ब्लैक कलर से नंबर लिखे होने चाहिए. एक या दो लाइन में नंबर लिखवा सकते हैं.

उसी तरह से कमर्शियल वाहनों के लिए पीले बैकग्राउंड में ब्लैक कलर से नंबर लिखवाना चाहिए. अगर नंबर प्लेट का बैकग्राउंड पीला और उस पर लाल रंग से नंबर लिखे हों तो इसका मतलब है कि ये गाड़ी का टेम्पररी रजिस्ट्रेशन है. ट्रेड सर्टिफाइड वाहनों में लाल रंग के बैकग्राउंड में सफेद रंग से नंबर लिखे जाते हैं.

विदेशी राजनयिकों की गाड़ियों के नंबर प्लेट भी खास होते हैं. दिल्ली में रहने वाले विदेशी राजनयिकों की गाड़ी के नंबर प्लेट का बैकग्राउंड ब्लू कलर का होता है और उस पर सफेद कलर में नंबर लिखे होते हैं. उसी तरह से दिल्ली से बाहर रहने वाले विदेशी राजनयिकों की गाड़ी के नंबर प्लेट का बैकग्राउंड पीला होता है और उस पर ब्लैक कलर से नंबर लिखे होते हैं.

traffic rules for number plate of car and bike in new motor vehicle act to avoid challan and fines
गलत नंबर लिखवाने पर जेल की सजा हो सकती है


नंबर प्लेट पर गाड़ी का रजिस्ट्रेशन के अलावा कुछ और लिखवाना गैरकानूनी है. नंबर प्लेट मुड़ा-तुड़ा नहीं होना चाहिए. वो दूर से स्पष्ट तौर पर दिखना चाहिए. किसी भी तरह से गाड़ी के नंबर को छिपाना गैरकानूनी है.

नंबर प्लेट छिपाने पर हो सकती है जेल
अगर आप ट्रैफिक पुलिस के कैमरे से बचने के लिए गाड़ी का नंबर छिपाते हैं तो आपको जेल की सजा हो सकती है. ट्रैफिक पुलिस कैमरे से गाड़ी का नंबर रिकॉर्ड कर ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन करने पर चालान ओनर के घर भेज देती है. इससे बचने के लिए अक्सर बाइक वाले नंबर प्लेट को किसी कपड़े या किसी और तरीके से ढंक देते हैं. लेकिन ऐसा करने पर कानूनन जेल की सजा हो सकती है.

मोटर व्हीकर एक्ट के मुताबिक गाड़ी का नंबर गलत लिखना, गलत तरीके से नंबर बदलना या उसे छिपाना गैरकानूनी है. इसके आरोपी पर फर्जीवाड़े का मुकदमा दर्ज हो सकता है.

ये भी पढ़ें: ट्रैफिक पुलिस परेशान करे तो आपके पास हैं ये अधिकार
ट्रैफिक पुलिस के चालान से ऐसे बच सकते हैं आप

इस देश में है बर्बर ट्रैफिक नियम, तेज गाड़ी भगाई तो मिलती है कोड़े की सजा

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नॉलेज से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 5, 2019, 1:43 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...