• Home
  • »
  • News
  • »
  • knowledge
  • »
  • सीनेट के महाभियोग प्रस्ताव से क्या होगा अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पर असर

सीनेट के महाभियोग प्रस्ताव से क्या होगा अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पर असर

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि वो कोरोना वायरस के संक्रमण को लेकर इतने सतर्क हैं कि हफ्तों से चेहरा नहीं छुआ है.

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि वो कोरोना वायरस के संक्रमण को लेकर इतने सतर्क हैं कि हफ्तों से चेहरा नहीं छुआ है.

अमेरिका (America) के लिए ये ऐतिहासिक पल है. 230 साल के इतिहास में ये तीसरा मौका है, जब राष्ट्रपति (President) के खिलाफ महाभियोग प्रस्ताव (impeachment) पेश होने वाला है...

  • Share this:
    अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) पर सीनेट में महाभियोग (Impeachment) चलाने की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है. सीनेट में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ महाभियोग का ट्रायल होना है. अमेरिकी संसद के निचले सदन हाउस ऑफ रिप्रजेंटेटिव से डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ महाभियोग प्रस्ताव पास हो चुका है. अब सीनेट में इसका ट्रायल होना है. हाउस ऑफ रिप्रजेंटेटिव ने सीनेट में इसको लेकर दो आर्टिकल भेजे हैं. महाभियोग की प्रक्रिया चलाने के लिए 7 महाभियोग मैनेजर नियुक्त किए हैं. ये मैनेजर ही राष्ट्रपति के खिलाफ महाभियोग को चलाएंगे.

    अमेरिकी राष्ट्रपति पर महाभियोग चलाने को लेकर हाउस स्पीकर नैंसी पेलोसी ने कहा है कि अमेरिकी संविधान पर संकट खड़ा हो गया है. राष्ट्रपति ने अपने अधिकारों का गलत इस्तेमाल किया है और राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरे में डाला है. अब सीनेट में डोनाल्ड ट्रंप की किस्मत का फैसला होगा.

    230 साल के इतिहास में तीसरे अमेरिकी राष्ट्रपति के खिलाफ महाभियोग प्रस्ताव
    अमेरिका के लिए ये ऐतिहासिक पल है. 230 साल के इतिहास में ये तीसरा मौका है, जब राष्ट्रपति के खिलाफ महाभियोग प्रस्ताव पेश होने वाला है. सवाल उठ रहे हैं कि क्या सीनेट में डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ महाभियोग प्रस्ताव पास हो पाएगा? हाउस ऑफ रिप्रजेंटेटिव में विपक्षी डेमोक्रेट्स का बहुमत है, इसलिए दिसंबर में निचले सदन से डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ महाभियोग प्रस्ताव पास हो गया. लेकिन सीनेट में राष्ट्रपति की पार्टी रिपब्लिकन को बहुमत हासिल है. ट्रंप की पार्टी को ही अब तय करना है कि क्या वो दोषी हैं और उन्हें अपने पद से हटा दिया जाना चाहिए.

    ट्रंप के खिलाफ महाभियोग प्रस्ताव में आगे क्या होगा
    सीनेट के नेता मिच मैककोनेल ने महाभियोग प्रस्ताव के आर्टिकल को मंजूर कर लिया है. ट्रंप के खिलाफ लगाए गए आरोपों को सीनेट में पढ़ा जाएगा. अमेरिकी संविधान के मुताबिक राष्ट्रपति पर महाभियोग प्रस्ताव सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस की निगरानी में चलता है. चीफ जस्टिस जॉन जी रॉबर्ट प्रिसाइडिंग ऑफिसर की भूमिका में होंगे.

    trump impeachment what will effect of senate impeachment motion on us President
    सीनेट में रिपब्लिकन का बहुमत है


    चीफ जस्टिस सीनेट में सभी 100 सीनेटर्स को शपथ दिलवाएंगे कि वो इस मामले में निष्पक्ष होकर इंसाफ में अपनी भूमिका अदा करेंगे. इसके बाद चीफ जस्टिस का ऑफिस राष्ट्रपति ट्रंप को उनपर लगाए आरोपों पर जवाब देने के लिए तलब करेगा. इस पूरी प्रक्रिया में दो हफ्ते या उससे ज्यादा का वक्त भी लग सकता है.

    क्या डोनाल्ड ट्रंप को इस्तीफा देना पड़ेगा?
    राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के इस्तीफा देने की नौबत आने की संभावना बहुत कम है. सीनेट में रिपब्लिकन को बहुमत हासिल है. सीनेट में 53 रिपब्लिकन और 47 डेमोक्रेट सीनेटर्स हैं. अमेरिकी संविधान के मुताबिक किसी भी राष्ट्रपति पर महाभियोग लगाकर उसे हटाने के लिए कम से कम तो तिहाई सीनेटर्स की सहमति जरूरी है. रिपब्लिकन सीनेटर अपने राष्ट्रपति के पक्ष में वोट करेंगे. ट्रंप अपनी जीत को लेकर आश्वस्त हैं.

    एक बात कही जा रही है कि महाभियोग प्रस्ताव की वजह से ट्रंप की छवि पर असर पड़ेगा और हो सकता है कि आने वाले राष्ट्रपति चुनाव में उन्हें नुकसान उठाना पड़े. ट्रंप महाभियोग प्रस्ताव का मजाक बनाते आए हैं. वो महाभियोग की प्रक्रिया को अवैध बताने की कोशिश कर चुके हैं. जबकि उनके खिलाफ लाए प्रस्ताव पर कुछ नई जानकारियां भी सामने आ रही हैं. अब ये देखना होगा कि उन नई जानकारियों और गवाहों के जरिए इस मामले में क्या निकलकर सामने आता है.

    ये भी पढ़ें:

    तेलंगाना में बीजेपी-कांग्रेस के ‘करीब’ आने का दावा, पहले भी हुए हैं बेमेल गठबंधन

    जानिए क्यों 2000 के ही बन रहे हैं सबसे ज्यादा नकली नोट, कैसे करें पहचान

    कौन था करीम लाला, जिससे इंदिरा गांधी के मिलने का दावा कर संजय राउत ने मचा दी है सनसनी

    धरना-प्रदर्शन पर क्या कहता है संविधान, क्या इस पर लगाई जा सकती है पाबंदी

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज