लाइव टीवी

ट्रंप ने सचिन को कहा चैंपियन, मास्टर ब्लास्टर ने किया था आज ही ये बड़ा काम

Sanjay Srivastava | News18Hindi
Updated: February 24, 2020, 6:22 PM IST
ट्रंप ने सचिन को कहा चैंपियन, मास्टर ब्लास्टर ने किया था आज ही ये बड़ा काम
सचिन तेंदुलकर, जिन्हें अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने अपने भाषण में चैंपियन बताया

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने आज के दिन अहमदाबाद के मोटेरा स्टेडियम में सचिन तेंदुलकर को चैंपियन कहते हुए उनकी तारीफ की तो उन्होंने आज ही के दिन सचिन से जुड़ी एक ऐतिहासिक घटना की याद भी ताजा कर दी

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 24, 2020, 6:22 PM IST
  • Share this:

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने आज के दिन अहमदाबाद के मोटेरा स्टेडियम में सचिन तेंदुलकर को चैंपियन कहते हुए उनकी तारीफ की. क्या आपको मालूम है कि आज के दिन मास्टर ब्लास्टर सचिन ने एक ऐसा काम किया था, जो तब तक कोई नहीं कर सका था.



24 फरवरी 2010 में सचिन तेंदुलकर ग्वालियर के कैप्टन रूप सिंह स्टेडियम में जब बैटिंग करने उतरे तो उन्हें खुद नहीं मालूम था कि वो ऐसा इतिहास रचने जा रहे हैं, जो किसी ने सोचा भी नहीं होगा. जहां अब तक वन-डे क्रिकेट में कोई क्रिकेट पहुंच भी नहीं सका है.


ये वन-डे मैच ग्वालियर में भारत और दक्षिण अफ्रीका की टीमों के बीच खेला जा रहा था. सचिन उस समय 36 साल के हो चुके थे. ये ऐसी उम्र थी, जिसे खेलजगत में ऐसी उम्र माना जाता है जहां खिलाड़ी ढलने लगता है. उससे बहुत अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद नहीं की जा सकती.




सचिन ने उस दिन ग्वालियर में जो कुछ किया. उससे पूरा देश वाह-वाह कर उठा. उन्होंने नया इतिहास रचा था और ये क्रिकेट की दुनिया का वर्ल्ड रिकार्ड था.


लय में आने लगे मास्टर ब्लास्टर

सचिन के साथ पारी शुरू करने उतर विध्वसंक बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग सिर्फ 09 रन बना कर चलते बने. सचिन ने लगातार एक छोर संभाले रखा. जल्दी वो लय में आ गए. वो जिस तरह से बैटिंग कर रहे थे, उसके सामने साउथ अफ्रीका टीम के दिग्गज गेंदबाज पानी मांगने लगे.



उस दिन सचिन ने ना केवल भारतीय बैटिंग को सहारा दिया बल्कि ऐतिहासिक वर्ल्ड रेकॉर्ड भी रच दिया



 गजब के शाट, बाउंड्री छोटी लगने लगी

सचिन शाट गजब के थे. रिफ्लेक्शन सटीक. बाउंड्री लाइन इतनी छोटी हो गई कि गेंद दो दर्जन बार से भी ज्यादा उस पार लुढ़क चुकी थी. क्रिकेट के भगवान की बल्लेबाजी किसी जादू की तरह लग रही थी. क्रिकेट को जिस दिन का इंतजार था, वह एक जादूगर पूरा करता दिख रहा था.


49 ओवर खत्म और सचिन का स्कोर 199 रन 

पारी के आखिरी लम्हों में खेल का रोमांच जरा तेज हो गया. क्रीज की दूसरी तरफ कप्तान महेंद्र सिंह धोनी थे. सचिन के 190 का आंकड़ा पार करने के बाद उन्हें स्ट्राइक ही नहीं मिल रही थी. धोनी या तो लंबे शॉट लगा रहे थे या ओवर के आखिरी गेंद पर एक रन ले रहे थे. यहां तक कि 49वें ओवर की आखिरी गेंद पर भी उन्होंने एक रन चुरा लिया. उस वक्त सचिन 199 पर खेल रहे थे.



sachin tendulkar world cup 2003, sachin tendulkar interview, sachin tendulkar 2003 world cup, sachin tendulkar 98 against pakistan, सचिन तेंदुलकर इंटरव्‍यू, सचिन तेंदुलकर वर्ल्‍ड कप 2003, सचिन तेंदुलकर पाकिस्‍तान 98 रन
जब 49वां ओवर खत्म हुआ तब सचिन 199 रनों पर खेल रहे थे और स्ट्राइक धोनी के पास था



 टेनिस एल्बो वाला हाथ, पसीने से तर नीली जर्सी 




आखिरी ओवर में भी स्ट्राइक धोनी के पास थी. दो गेंदें खेलकर वो नान स्ट्राइकर एंड पर आ गए. अब तीसरी गेंद सचिन को खेलनी थी. चार्ल लंगेवेल्ट गेंदबाज थे. सचिन की नीली जर्सी पसीने से तरबतर हो चुकी थी. टेनिस एल्बो वाला हाथ पट्टियों से भरा था. दस्ताने के अंदर भी पता नहीं कितनी पट्टियां छिपी थीं.

..और सचिन का ऐतिहासिक दोहरा शतक 
इसके बाद सचिन की आंखें सीधी गेंद पर. पिन ड्रॉप साइलेंस में तीसरी गेंद फेंकी गई. गेंद जब बल्ले से टकराई, तो गूंज पूरे स्टेडियम में गूंजी. बॉल प्वाइंट की तरफ गई, दोनों बल्लेबाज भागे. उन्होंने एक दूसरे को क्रॉस किया. ...और इसके साथ ही सचिन ने वनडे का पहला दोहरा शतक पूरा कर लिया. ये ऐतिहासिक पारी थी और ऐतिहासिक दोहरा शतक.

sachin tendulkar world cup 2003, sachin tendulkar interview, sachin tendulkar 2003 world cup, sachin tendulkar 98 against pakistan, सचिन तेंदुलकर इंटरव्‍यू, सचिन तेंदुलकर वर्ल्‍ड कप 2003, सचिन तेंदुलकर पाकिस्‍तान 98 रन
सचिन तेंदुलकर ने वन-डे क्रिकेट का पहला दोहरा शतक जैसे ही पूरा किया, तब पूरा देश उनकी इस उपलब्धि पर झूमने लगा


पूरा देश झूम रहा था
क्रीज पर पहुंचने से पहले ही सचिन हेल्मेट उतार चुके थे. जमाना पहले ही उनकी कदमों पर था. पूरा देश खुशी में झूम उठा. स्टेडियम से लेकर ड्रेसिंग रूम में दर्शक और खिलाड़ी दीवानों की तरह उछल पड़े. सचिन की आंखें फिर बंद हुईं. इस बार चेहरा थोड़ा ऊपर उठा. दोनों हाथ आसमान की तरफ उठा दिए.

इस घटना के ठीक दस साल बाद आज जब अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने उनका नाम लिया और उन्हें चैंपियन बताया तो शायद किसी को अंदाज नहीं था कि एक महान घटना भी आज सचिन तेंदुलकर के जीवन से जुड़ी हुई है.

ये भी पढ़ें
आगरा की वो 5 जगहें जहांं घूमना चाहेगा हर टूरिस्ट
ट्रंप कर रहे ताज का दीदार, जानें कैसी है अमेरिकी प्रेसिडेंट की लव स्टोरी
राष्ट्रपति ट्रंप की वो खास टीम, जो भारत दौरे के लिए अमेरिका से आई
ट्रंप से शादी के पहले सक्सेसफुल मॉडल थीं मेलानिया, किए हैं कई बोल्ड फोटो शूट


News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 24, 2020, 6:10 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर