लाइव टीवी

उन्नाव रेप केस: क्या जाति आड़े नहीं आती तो नहीं जाती पीड़िता की जान?

News18Hindi
Updated: December 7, 2019, 6:20 PM IST
उन्नाव रेप केस: क्या जाति आड़े नहीं आती तो नहीं जाती पीड़िता की जान?
उन्नाव गैंगरेप केस को लेकर पूरे देश में गुस्सा है

उन्नाव गैंगरेप (Unnao Gangrape) पीड़िता (victim) की जलने के बाद हुई मौत पर पूरे देश में उबाल है. गैंगरेप के आरोपी लड़कों पर पीड़िता को जलाने के आरोप लगाए जा रहे हैं. लेकिन गांव वाले कुछ अलग कहानी भी कहते हैं...

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 7, 2019, 6:20 PM IST
  • Share this:
उन्नाव गैंगरेप (Unnao gangrape) पीड़िता (victim) की मौत पर पूरा देश सन्न है. डॉक्टरों की तमाम कोशिशों के बावजूद वो बचाई नहीं जा सकीं. इलाज के लिए लखनऊ से उसे दिल्ली एयरलिफ्ट कर लाया गया. दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल ने डॉक्टरों ने उसे बचाने की हरसंभव कोशिश की लेकिन जलने के बाद शरीर में संक्रमण इतना फैल गया था कि वो बचाई जा नहीं सकी.

गैंगरेप के आरोपियों द्वारा पीड़िता को जला दिए जाने की घटना से पूरे देश में आक्रोश है. लोग आरोपियों के लिए कड़ी सजा की मांग कर रहे हैं. हैदराबाद गैंगरेप के आरोपियों के पुलिस एनकाउंटर की तरह उन्नाव के आरोपियों को उसी तरह की सजा दिए जाने की मांग उठ रही है. कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी ने पीड़िता के परिवार से मुलाकात कर संवेदना जताई है. समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने मामले को लेकर योगी सरकार पर हमला बोला है.

क्या जाति की उलझन की वजह से मामला बिगड़ा

पूरे देश में उबाल है, लेकिन उन्नाव के जिस गांव हिंदूपुर में ये घटना हुई है, वहां के लोग अलग-अलग कहानी बताते हैं. उन्नाव के मामले में प्यार, शादी का झांसा के साथ जातिवाद की उलझन भी है. बताया जाता है कि पीड़िता और आरोपी शिवम के बीच पहले से दोस्ती थी. दोनों परिवारों के बीच भी बढ़िया मेलजोल था. दोनों एकदूसरे के साथ शादी करना चाहते थे, लेकिन जाति का बंधन आड़े आ गया.

पीड़िता का परिवार लोहार जाति से आता है. जबकि आरोपी के परिवार वाले ब्राह्मण हैं. हिंदूपुर गांव में पीड़िता का परिवार लोहार जाति से आने वाला एकलौता परिवार है. परिवार की स्थिति दयनीय है. पीड़िता के पिता अपनी झोपड़ी के आगे ही लोहे का छोटा-मोटा काम करते हैं, जिससे मामूली आमदनी ही हो पाती है.

unnao gangrape inside story love marriage caste and pradhan family factor in the case
उन्नाव में गैंगरेप पीड़िता के परिवार से मिलने पहुंचीं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी


पीड़ित और आरोपी की शादी को लेकर हुई थी पंचायतस्थानीय लोग बताते हैं कि हिंदूपुर गांव में 2 हजार वोट हैं. ये ब्राह्मण बहुल क्षेत्र है. आसपास के 4 गांवों में 2 हजार वोट ब्राह्मणों के हैं. गांववाले बताते हैं की पीड़ित लड़की और एक आरोपी शिवम की शादी को लेकर पहले पंचायत भी हुई थी. लेकिन पंचायत में शिवम के परिवारवालों ने शादी को मंजूरी देने से मना कर दिया था. एक पिछड़ी जाति की लड़की के साथ शिवम का परिवार अपने बेटे की शादी के लिए तैयार नहीं हुआ. इसके बाद ही दोनों परिवारों के संबंध खराब हुए.

इस मामले के एक आरोपी शिवम के चचेरे भाई शुभम त्रिवेदी की मां गांव की प्रधान है. वो तीन बार से प्रधान बनती आ रही हैं. परिवार का गांव में दबदबा रहा है. गांव के लोग भी इस परिवार के खिलाफ ज्यादा नहीं बोलते. पीड़ित लड़की और आरोपी के परिवारों की न जाति एक थी और न आर्थिक हैसियत. इसलिए दोनों की शादी मुमकिन नहीं हो पाई. इसके बाद दोनों परिवारों के बीच विवाद बढ़ता गया.

unnao gangrape inside story love marriage caste and pradhan family factor in the case
उन्नाव रेप पीड़िता की शुक्रवार रात 11: 40 पर अस्पताल में मौत हो गई है.


उन्नाव का जातीय समीकरण

जाति इस पूरे मसले में एक बड़ा रोड़ा साबित हुई. उन्नाव की बात करें तो उन्नाव में कुल 22 लाख वोट हैं. यहां की आबादी 30 लाख के करीब हैं. उन्नाव जिले में करीब 5 लाख लोध वोटर्स हैं. इनकी आबादी ज्यादा है. करीब 3.5 मुस्लिम वोटर्स हैं. ब्राह्मणों के वोट करीब 2.5 लाख हैं. जबकि ओबीसी और एससीएसटी के कुल 29 परसेंट वोट हैं.

ब्राह्मणों का इलाके में असर है. हालांकि कुछ मीडिया रिपोर्ट्स के हवाले से कहा जा रहा है कि गांव वाले कहते हैं कि आरोपी लड़के प्रधान के परिवार से ताल्लुक रखते हैं, ब्राह्मण जाति से आते हैं, लेकिन लड़के इतना बड़ा अपराध नहीं कर सकते. हिंदूपुर गांव में इसके पहले इतनी बड़ी वारदात नहीं हुई है. गांव वाले भी इसपर हैरानी जताते हैं.

ये भी पढ़ें: रेप के इन वीभत्स मामलों से दहल गया था देश
एनकाउंटर के बाद हैदराबाद पुलिस को फॉलो करने होंगे सुप्रीम कोर्ट के ये गाइडलाइन
क्या पुलिस के पास किसी आरोपी की जान लेने का अधिकार है?
तेलंगाना और आंध्र प्रदेश में एनकाउंटर स्पेशलिस्ट के रूप में मशहूर हैं पुलिस कमिश्नर सज्जनार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए उन्नाव से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 7, 2019, 4:39 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर