US Election : तीसरी बार दौड़ में बाइडन, हर 'सेटबैक' के बाद करते रहे 'कमबैक'

अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में डेमोक्रेट उम्मीदवार जो बाइडेन.
अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में डेमोक्रेट उम्मीदवार जो बाइडेन.

US President Election 2020: 78 साल के होने जा रहे जो बाइडन (Joe Biden) पिछली बार राष्ट्रपति पद की होड़ में क्यों नहीं थे? त्रासदियों को झेल चुके बाइडन कैसे विवादों में भी रहे तारीफों में भी? ये भी जानें कि कैसे मौत के दरवाज़े से लौटे थे बाइडन.

  • News18India
  • Last Updated: November 5, 2020, 10:29 AM IST
  • Share this:
'चैंप, जब तुम्हें बड़ा झटका लगता है, तभी बड़ा सहारा भी मिलता है.' अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव 2020 में डेमोक्रेटिक पार्टी (Democrat Candidate) की तरफ से राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार और मौजूदा राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (President Donald Trump) के सामने सबसे कड़े प्रतिद्वंद्वी जो बाइडन की ज़िंदगी (Joe Biden Biography) इतनी उतार-चढ़ाव भरी रही कि अपने पिता की यह बात बाइडन को हमेशा याद रही. अपने ज़माने में सबसे युवा सीनेटर (Youngest Senator) बनने वाले बाइडन के सियासी और निजी जीवन (Personal Life) के बारे में आप कितना जानते हैं?

अमेरिका के पैनसिलवेनिया में 20 नवंबर 1942 को पैदा हुए जोसेफ रॉबिनेट बाइडन की परवरिश एक तरह से लोअर मिडिल क्लास माहौल में हुई. नौकरी के संघर्ष में उनके पिता डेलावेयर शिफ्ट हुए थे, जब ​बाइडेन 10 साल के थे. यही इलाका बाद में बाइडन की राजनीति का गढ़ बना और बाइडन के मुताबिक यहां अश्वेतों की बहुसंख्यक आबादी के बीच रहने के उनके अनुभव, असमानता के खिलाफ संघर्ष जैसी बातों ने उनकी विचारधारा तैयार की. बाइडन के जीवन को सिलसिलेवार ढंग से जानिए.

ये भी पढ़ें :- US Election : क्या कोर्ट में जीती जाएगी अमेरिकी चुनाव की जंग?



बचपन में हकलाते थे बाइडन
डेलावेयर और सायराक्यूज़ यूनिवर्सिटी से शिक्षित बाइडेन को गर्व रहा कि वो संभ्रांत आइवी लीग के पासआउट रहे, लेकिन उन्हें अपने बचपन और किशोरावस्था की एक विपरीत परिस्थिति भी याद रही. बाइडन बचपन में इस तरह हकलाते थे कि उनके आसपास के लोग मज़ाक उड़ाकर उन्हें 'डैश' नाम से पुकारते थे. 2020 के राष्ट्रपति चुनाव कैंपेन के दौरान बाइडन ने बताया भी कि वो अब भी हकलाने वाले बच्चों की काउंसिलिंग करते हैं.

US presidential election 2020, US election 2020, US election update, US president election news, अमेरिका राष्ट्रपति चुनाव, अमेरिका चुनाव 2020, जो बाइडेन कौन है, जो बाइडेन बायोग्राफी
ट्रंप बनाम बाइडन, अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव के लिए न्यूज़18 दे रहा है हर ज़रूरी अपडेट.


परिवार की पीड़ा और मूवऑन
साल 1972 की बात है, जब एक कार एक्सीडेंट में बाइडन की पहली पत्नी नेलिया और उनकी एक साल की बेटी की मौत हो गई थी. इस दुखद घटना के बाद बाइडेन पर कम उम्र के दोनों बेटों की परवरिश की ज़िम्मेदारी आ गई थी. इनमें से एक बेटा ब्यू बाइडन का सियासी उत्तराधिकारी बना था और डेलावेयर का अटॉर्नी जनरल नियुक्त होने के बाद 46 साल की उम्र में 2015 में ब्रेन कैंसर से ब्यू की भी मौत हो गई. इसी झटके के कारण 2016 में बाइडन राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव की रेस में नहीं थे.

ये भी पढ़ें :- US Election: कितनी अनलिमिटेड पावर होती है अमेरिकी प्रेसीडेंट के पास?

साल 1975 में बाइडन की मुलाकात एक टीचर जिल जैकब्स से हुई थी और जिल के तलाक लेने के बाद बाइडेन और जिल की शादी 1977 में हुई थी. ब्यू, हंटर दो बेटे और एशले दोनों की बेटी है.

बड़े बेटे को लेकर हुए विवाद
बाइडन के बड़े बेटे हंटर शराब और ड्रग्स एडिक्शन के कारण तब चर्चा में आए थे जब 2014 में उन्हें अमेरिकी नेवी रिज़र्व से बाहर किया गया था क्योंकि वो कोकीन पॉज़िटिव पाए गए थे. इस बात को हाल में डोनाल्ड ट्रंप ने मुद्दा बनाने की कोशिश भी की थी. इसके अलावा, हंटर यूक्रेन की गैस कंपनी में बोर्ड मेंबर रह चुके हैं. इस नियुक्ति को भी मुद्दा बनाकर ट्रंप ने बाइडन पर यूक्रेन की मदद से हंटर को भ्रष्टाचार की जांच से बचाने के आरोप लगाए थे.

ये भी पढ़ें :- कौन सी भारतीय डिशेज़ दुनिया में सबसे ज़्यादा पसंद की जाती हैं?

50 वर्षीय हंटर ने खुद माना था कि उनसे व्यावसायिक लेन देन में कुछ 'जजमेंटल' गलतियां हुईं लेकिन उन्होंने इरादतन और नैतिक रूप से भ्रष्ट गतिविधियों के आरोपों को नकारा था.

US presidential election 2020, US election 2020, US election update, US president election news, अमेरिका राष्ट्रपति चुनाव, अमेरिका चुनाव 2020, जो बाइडेन कौन है, जो बाइडेन बायोग्राफी
बाइडन ने भारत मूल की कमला हैरिस को उप राष्ट्रपति पद के लिए साथ उम्मीदवार चुना.


कितने अमीर हैं बाइडन?
लंबे समय तक 'मिडिल क्लास जो' कहलाते रहे बाइडन असल में करोड़पति हैं. बराक ओबामा के कार्यकाल में उप राष्ट्रपति रह चुके बाइडन और उनकी पत्नी के नाम 2019 में वित्तीय दस्तावेजों के मुताबिक डेढ़ करोड़ डॉलर से ज़्यादा की संपत्ति थी. सितंबर 2020 में बाइडन के 2019 के टैक्स रिटर्न के डिटेल्स सामने आए, जिनके मुताबिक बाइडन कपल ने 3,46,000 डॉलर की रकम टैक्सों व अन्य भुगतान में अदा की.

ये भी पढ़ें :- 2050 तक भारत के कौन से शहर एक-एक बूंद के लिए तरसेंगे?

जब होने को था बाइडन का अंतिम संस्कार!
80 साल की उम्र की तरफ बढ़ रहे बाइडन अगर इस बार राष्ट्रपति बने, तो अमेरिका के सबसे उम्रदराज़ राष्ट्रपति होंगे. डॉक्टरों के मुताबिक बाइडन हफ्ते में पांच दिन वर्कआउट अभी भी करते हैं. उनके डॉक्टर ने कहा था कि बाइडन अमेरिकी राष्ट्रपति पद की ज़िम्मेदारी निभाने के लिए फिट हैं. इसके बावजूद, उनके स्वास्थ्य संबंधी डिटेल्स बताते हैं कि पहले इंट्राक्रैनियल हैमरेज से पीड़ित रह चुके हैं.

साल 1988 में उनकी हालत इतनी खराब हो गई थी कि उनके अंतिम संस्कार के लिए पादरी तक को बुला लिया गया था. ट्रंप की ही तरह, बाइडन भी शराब या सिगरेट नहीं पीते.

राष्ट्रपति बनने से दो बार चूके बाइडेन
डेलावेयर से अप्रत्याशित तौर पर सिर्फ 29 साल की उम्र में 1972 में बाइडन सीनेटर चुने गए थे और यहां से उनका सियासी करियर सही मायनों में शुरू हुआ था. तीन दशकों तक उच्च सदन में अनुभव रखने वाले बाइडन ओबामा के ​साथी के तौर पर अमेरिका के दूसरे नागरिक की हैसियत तक पहुंचे थे. अपने बर्ताव, व्यक्तित्व और राजनीतिक कौशल के लिए बाइडन को बेजोड़ समझा जाता रहा है.

ट्रंप की तरह ही उनकी विश्वसनीयता भी समय समय पर सवालों के घेरे में रही है और बाइडन विवादों में फंसे हैं. 1994 में क्राइम बिल के समय अश्वेतों के प्रति असमानता वाले कानून के लिए बाइडन की भूमिका संदिग्ध मानी गई थी. हाल में, अपने कैंपेन के दौरान बाइडन ने उसे 'भूल' माना था. इसके अलावा, पिछले ही साल बाइडन 'महिलाओं के प्रति असंवेदनशील' होने के आरोपों में घिरे थे और उन्हें कहना पड़ा था कि वो आगे से ज़्यादा सोच समझकर बर्ताव करेंगे.


US presidential election 2020, US election 2020, US election update, US president election news, अमेरिका राष्ट्रपति चुनाव, अमेरिका चुनाव 2020, जो बाइडेन कौन है, जो बाइडेन बायोग्राफी
ओबामा प्रशासन में उप राष्ट्रपति थे जो बाइडेन.


साल 1987 में भी राष्ट्रपति पद की रेस में नाकाम ज़ोर आज़माइश कर चुके बाइडन को 'चोरी के भाषण' संबंधी आरोपों के कारण मुंह की खानी पड़ी थी. मुस्कान के कारण 'अमेरिका के हैपी वॉरियर' कहे गए बाइडन 2008 में राष्ट्रपति बनते बनते रह गए थे. सिर्फ एक प्रतिशत वोटों के फेर के कारण वह उप राष्ट्रपति पद के लिए ओबामा के सहयोगी बने थे. ओबामा ने युद्ध, विदेश मामलों, घरेलू मुद्दों और वित्तीय नीतियों के विषय पर कई बार बाइडन की तारीफ की.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज