अमेरिका में क्या है ‘समोसा कॉकस’, किन भारतीयों को चुनाव के बाद मिली इसमें जगह

अमेरिकी चुनाव (US Election) में समोसा कॉकस (Samosa Caucus) में डेमोक्रेट्स का दबदबा दिख रहा है.
अमेरिकी चुनाव (US Election) में समोसा कॉकस (Samosa Caucus) में डेमोक्रेट्स का दबदबा दिख रहा है.

अमेरिकी (US) में समोसा कॉकस (Samosa Caucus) एक खास समूह है. इस बार के चुनावी (Elections) नतीजों की वजह से इसमें कुछ बदलाव आया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 5, 2020, 3:28 PM IST
  • Share this:
अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव (US Presidential Election) में कांटे की टक्कर हो रही है. इसके साथ ही अमेरिका के निचले सदन (Lower House) में सदस्यों का चुनाव भी हो रहा है. इसमें से कई नतीजे घोषित हो चुके हैं. अमेरिका में भारतीय मूल के अमेरिका राजनेताओं को अनौपचारिक तौर पर समोसा कॉकस (Samosa Caucus) कहा जाता है. इस बार इस दल में कितना बदलाव आ रहा है कि इसकी भी सरगर्मी कम नहीं है. इस बार भी इस दल में डेमेक्रेट्स का पलड़ा भारी दिख रहा है.

चार डेमोक्रेट्स की वापसी
पिछले चार साल में हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव्स के सदस्य रहे भारतीय अमेरिकी राजनेताओं में चार डेमोक्रेट्स की वापसी हुई है. बुधवार को प्रमिला जयपाल, रो खन्ना, डॉ एमी बेरा और राजा कृष्णमूर्ति निचले सदन के लिए फिर से चुन लिए गए हैं. इस सूची में उपराष्ट्रपति पद के लिए डेमोक्रेट उम्मीदवार कमला हैरिस का नाम भी जुड़ सकता है. जिसकी काफी उम्मीद भी की जा रही है.

इन चार को मिली निराशा
इसके अलावा हाउस ऑफ रिप्रजेंटेटविस में डेमोक्रेट श्री प्रेस्टन कुलकर्णी और हीरल तिपिरनेनी के साथ रिपब्लिकन मेन्गा अनंततमूला और निशा शर्मा को निराशा हाथ लगी है. वहीं सीनेट यानि उच्च सदन के लिए दो उम्मीदवार मैदान में हैं. एक हैं डेमोक्रेट सारा गिडेऑन और रिपब्लिक रिक मेहता.



कुल 10 उम्मीदवार
इस तरह इस बार कुल 10 भारतीय अमेरिकी उम्मदीवार अमेरिकी कॉन्ग्रेस के लिए चुनाव लड़ रहे हैं  जिसमें से सात डेमोक्रेट हैं और तीन रिपब्लिकन्स हैं. अभी तक चार भारतीय अमेरिकी ने जीत हासिल कर ली है. चार को हार का सामना करना पड़ा. जबकि दो फैसला होना बाकी है.

Pramila jayapal, Samosa Caucus, US elections 2020
प्रमिला जयपाल अमेरिकी कॉन्ग्रेस में चुनी जानी वाली पहली भारतीय अमेरिकी हैं.


पहली भारतीय अमेरिकी महिला
इस बारे समोसा कॉकस में प्रमिला जयपाल अमेरिकी कॉन्ग्रेस में चुनी जानी वाली पहली भारतीय अमेरिकी हैं. उन्हें वॉशिंग्टन के 7वें डिस्ट्रिक्ट बड़े बहुमत से जीत हासिल हुई और इस सीट से वे दोबारा चुने जाने में सफल हुई. उन्होंने रिपब्लिकन उम्मदीवार क्रेग केलर को 69.7 प्वाइंट्स यानि 282601 वोटों से हराया.

अमेरिकी चुनाव में कितना खर्च होता है पैसा और कहां से आता है ये

एक भारतीय मूल उम्मीदवार ने दूसरे को हराया
एक अन्य भारतीय अमेरिकी डेमोक्रेट उम्मीदवार रो खन्ना एक शिक्षाविद और वकील हैं. उन्होंने कैलीफोर्निया के 17वें कॉन्ग्रेसी डिस्ट्रिक्ट में अपने रिपब्लिकन विरोधी और साथी भारतीय अमेरिकी उम्मदीवार रितेश टंडन को 48.2 परसेंटेज प्वाइंट्स से हराया.

एमी भी चुने गे दोबारा
डॉ अमरेश बाबुलाल ‘एमी’ बेरा पेशे से फिजिशियन हैं. वे कैलीपोर्निया के 7वें कॉन्ग्रेसी डिस्ट्रिक्ट से दोबारा चुने गए  हैं. उन्होंने अपने विरोधी रिपब्लिकन उम्मीदवार विरोधी बज पैटरसन में 22 प्रतिशत प्वाइंट्स पाए हैं.

कृष्णमूर्ति का लिबर्टेरियन पार्टी से था मुकाबला
राजा कृष्णमूर्ति ने इलिनोइस के 8वें कॉन्ग्रेसी डिस्ट्रिक्ट में जीत हासिल की और रिबर्टेरियन पार्टी के प्रिस्टन नेल्सन को हराया. लिबर्टेरियन पार्टी अमेरिकी की तीसरी सबसे बड़ी पार्टी है. कृष्णमूर्ति ने 42.2 प्रतिशत प्वाइंट्स से जीत हासिल की.

Ro khanna, Somasa Caucus, Us election,
रो खन्ना (Ro Khanna) ने रिपब्लिकन विरोधी और साथी भारतीय अमेरिकी उम्मदीवार रितेश टंडन (Ritesh Tandon) को हराया.


कुलकर्णी और अनंतमूला को नाकामी
हारने वालों की सूची में भी कुछ भारतीय अमेरिकी नाम है समोसा कॉकस में जगह बनाने में नाकाम रहे. पूर्व कूटनितिज्ञ श्री प्रेस्टन कुलकर्णी टेक्सास के 22वें कॉन्ग्रेसी डिस्ट्रिक्ट में रिपब्लिकन उम्मीदवार शेरिफ ट्रॉय हेल्स से केवल 7 प्रतिशत प्वाइंट्स से हार का सामना करना पड़ा. जबकि वर्जीनिया के 11वें कॉन्ग्रेसी डिस्ट्रिक्ट में मेन्गा अनंततमूला को डेमोक्रेटिक उम्मीदवार से उम्मीदवार से 43.4 प्रतिशत प्वाइंट्स से हार का समाना करना.

अगर जो बाइडेन राष्ट्रपति बने तो कैसे होंगे व्हाइट हाउस में उनके पहले 100 दिन

दो अन्य भारतीय अमेरिकी रिपब्लिकन उम्मीदार निशा शर्मा को निचले सदन और रिक मेहता को सीनेट में जगह हासिल करने के लिए निराशा हाथ लगा. निशा कैलीफेर्निया के 11वें कॉन्ग्रेसी डिस्ट्रिक्ट में डैमोक्रट मार्क डि शोल्नियर से 50.6 प्रतिशत प्वाइंट्स हार का सामना करना पड़ा. रिक महेता डेमोक्रेट उम्मदीवार कोरी ब्रूकर से न्यू जर्सी में 22.7 प्रतिशत प्वाइंट्स से हारे
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज