US Election 2020: क्या जो बाइडेन का समर्थन कर रहे हैं वैज्ञानिक

फिलहाल जो बाइडेन (Joe Biden) को सर्वे में राष्ट्रपति ट्रम्प से बढ़त मिली है जिसमें वैज्ञानिक (Scientists) उनका समर्थन करते दिख रहे हैं.
फिलहाल जो बाइडेन (Joe Biden) को सर्वे में राष्ट्रपति ट्रम्प से बढ़त मिली है जिसमें वैज्ञानिक (Scientists) उनका समर्थन करते दिख रहे हैं.

केवल वैज्ञानिकों के लिए हुए एक सर्वे में उनसे पूछा गया कि अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव (US Presidential Election) में वे डोनाल्ड ट्रम्प (Donald Trump) का समर्थन करते हैं या जो बाइडेन (Jeo Biden) का.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 25, 2020, 5:07 PM IST
  • Share this:
अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव (US Presidential Election) को अब केवल 10 दिन रह गए हैं. रिपब्लिकन उम्मीदवार और राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प  (Donald Trump)का मुकाबला डेमोक्रेट उम्मीदवार जो बाइडेन (Joe Biden) से है. दोनों के बीच औपचारिक बहस का सिलसिला पूरा हो चुका है. अब लोगों की निगाहें मतदान और उसके बाद नतीजों पर है. इसी बीच एक सर्वेक्षण में केवल वैज्ञानिकों (Scientists) का शामिल करते हुए उनसे पूछा गया कि वे किसी उम्मीदवार का के पक्ष में हैं.

अमेरिका में सर्व होते हैं अहम
अमेरिका की राजनीति और चुनाव में जनमत सर्वेक्षण को बहुत अहमियत दी जाती है. यहां चुनाव के पूर्व, उसके दौरान और बाद में कई तरह से सर्वेक्षण किए जाते हैं और उम्मीदवारों की हार-जीत का अनुमान लगाया जाता है. अभी तक के हुए सर्वेक्षणों से पता चला है कि इस समय डेमोक्रेटिक उम्मीदवार राष्ट्रपति से आगे चल रहे हैं.

फिलहाल बाइडेन आगे
इस बार के चुनाव में मतदान पर कोविड-19 महामारी की वजह से हुए लॉकडाउन और उसके बाद लगे सोशल डिस्टेंसिंग जैसे नियमों का खासा असर देखने को मिलने वाला है. अभी कई अमेरिकियों ने मेल के जरिए अपने वोट पोलिंग जगहो पर भेज भी दिया है. नेशनल पोल्स में तो बाइडेन आगे दिख रहे हैं, लेकिन वैज्ञानिकों ने उन्हें भारी समर्थन दिया है.



वैज्ञानिकों ने माना कि
यह नतीजा सर्वे नेचर ने करीब 900 वैज्ञानिक पाठकों के सर्वक्षण में निकला है. इन पाठकों ने कोविड-19 महामारी, जलवायु परिवर्तन जैसे मुद्दों का बहुत अहम माना है. उनका मानना है कि ये मुद्दे इस बार के चुनाव को बहुत हद तक प्रभावित करेंगे. इस सर्वे के अलावा बहुत से पाठकों ने भी इस विषय पर अपनी राय दी जो अमेरिका के वैज्ञानिक समुदाय का समर्थन नहीं करते हैं. इनका मानना था कि डोनाल्ड ट्रम्प ने वैज्ञानिक अखंडता का नुकसान पहुंचाया है जिससे वे निराश हुए हैं, लेकिन इन लोगों ने डोनाल्ड ट्रम्प के फिर से चुने जाने की आशंका व्यक्त की.

Donald Trump, Joe Biden,
ट्रम्प बाइडेन (Trump-Biden) के बीच हुई बहस (debate) में बहुत से लोगों को मानना है कि बाइडेन भारी पड़े. (फोटो सौ. AP)


कैसे किया गया सर्वेक्षण
नेचर की वेबसाइट पर हुए इस पोल में नेचर के ईमेल न्यूजलैटर और सोशल मीडिया पर राय ली गई. इस सर्वे में भाग लेने वाले वैज्ञानिकों ने उनकी वोट देने की योग्यता और अपनी राय देने की मंशा पूछी थी. इस बार का चुनाव बहुत गंभीर स्थिति में आ गया है. औपचारिक बहस में भी काफी गहामा गहमी रही. इसमें जलवायु परिवर्तन, रंगभेद असमानता, जन स्वास्थ्य जैसे मुद्दे छाए रहे.

डोनाल्ड ट्रंप को विष्णु का अवतार क्यों मानते हैं कुछ अमेरिकी भारतीय

ट्रम्प से नाराजगी
इस सर्वे को लेकर प्रकाशित खबर में नेचर का कहना है कि ट्रम्प की नीतियां वैज्ञानिक जगत के लिए इतनी नुकसानदायक रहीं कि नेचर जैसे वैज्ञानिक जर्नल तक को बाइडेन का समर्थन करना पड़ा. ट्रम्प के बारे में यह कहा जा रहा है कि उन्होंने अपने काम करने के तरीके और कई फैसलों से बहुत से लोगों में अपनी छवि ज्यादा खराब कर दी है.

Donald Trump, US ELECTION 2020
अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने अपनी कार्यशैली और कुछ फैसलों से बहुत से विरोधी पैदा कर लिए हैं (PHOTO:AP)


कितना अंतर है राष्ट्रीय और इस सर्वेक्षण में
जहां राष्ट्रीय और राज्यीय स्तर पर बाइडेन ट्रम्प से केवल दस प्रतिशत आगे दिख रहे हैं वहीं नेचर के पोल में 892 प्रतिभागियों में से 86 प्रतिशत डेमोक्रेट उम्मीदवार बाइडेन का समर्थन कर रहे हैं और ट्रम्प के साथकेवल 8 प्रतिशत लोग हैं. इसी तरह के समर्थन वोट न देने वालों ने बाइडेन को दिया है.

कैसी है भारत, चीन और रूस की हवा जिसे अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा है खराब

किन वैज्ञानिकों ने कैसे किया समर्थन
इस सर्वे ने प्रतिभागियों से यह भी पूछा कि वे सोशल, बायोलॉजिकल, फिजिकल या कम्प्यूटर साइंस में से किस क्षेत्र के नुमाइंदे हैं. सोशल साइंसिस्ट्स ने सबसे ज्यादा 90 प्रतिशत की तादात में बाइडेन  का समर्थन किया. वहीं 83 प्रतिशत फिजिकल और कम्प्यूटर साइंस के वैज्ञानिकों ने बाइडेन का पक्ष लिया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज